महाराष्ट्र जैसा क्या मप्र में चमत्कार?

कांग्रेस पार्टी के नेता मध्य प्रदेश में भी महाराष्ट्र जैसे चमत्कार की उम्मीद कर रहे हैं। दिग्विजय सिंह दावा कर रहे हैं कि कमलनाथ सरकार सदन में बहुमत साबित करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि सदन के पटल पर कुछ ऐसा होगा कि सब हैरान रह जाएंगे। ध्यान रहे कोई साढ़े तीन महीने पहले एक चमत्कार महाराष्ट्र में हुआ था। भाजपा ने शरद पवार के भतीजे अजित पवार को अपनी तरफ करके सरकार बना ली थी। देवेंद्र फड़नवीस ने मुख्यमंत्री की और अजित पवार ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली थी। पर तीन दिन में सारा खेल पलट गया। एनसीपी के सारे विधायक वापस शरद पवार के पास लौट आए और अंत में अजित पवार भी अपनी पार्टी में लौटे।

क्या इस तरह का कोई चमत्कार मध्य प्रदेश में संभव है? कांग्रेस पार्टी के नेता बागी हुए विधायकों से संपर्क साधने का प्रयास कर रहे हैं। सिंधिया समर्थक 22 विधायकों को बेंगलुरू में रखा गया है। वहां कांग्रेस की सारी उम्मीदें डीके शिवकुमार पर निर्भर हैं। उनको मध्य प्रदेश का संकट शुरू होने के बाद बुधवार को आनन-फानन में प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया। अगर वे कांग्रेस विधायकों से संपर्क नहीं साध पाए तो खेल खत्म है। दूसरी संभावना यह है कि भाजपा के विधायकों में सेंध लगाई जाए। भाजपा ने अपने विधायकों को गुरुग्राम के मानेसर में रखा है। अगर भाजपा के विधायकों को कांग्रेस तोड़ सकती तो पहले ही यह काम किया गया होता। अब इसकी भी संभावना कम है। भाजपा के जो दो विधायक पहले से कांग्रेस के संपर्क में थे वे भी अंत में क्या करेंगे, यह तय नहीं है।

चमत्कार होने की कांग्रेस नेताओं की उम्मीद इस साजिश थ्योर पर निर्भर है कि अंत में सिंधिया खुद ही कांग्रेस में लौट आएंगे। ऐसा मानने वाले बहुत दूर की कौड़ी ले आए हैं। उनका कहना है कि जिस तरह से अजित पवार ने अपने चाचा के पास वापसी की थी उसी तरह ज्योतिरादित्य सिंधिया भी वापसी करेंगे। पर इसका भी बहुत ठोस आधार नहीं है। ध्यान रहे 26 मार्च को राज्यसभा का चुनाव होना है। उस समय तक तो सिंधिया इधर-उधर नहीं होने वाले हैं और तब तक सरकार की किस्मत का फैसला भी हो जाएगा। यह भी कहा जा रहा है कि सिंधिया को भाजपा के अंदर वह महत्व नहीं मिलने वाला है, जिसके वे कांग्रेस में आदी थे इसलिए वे ज्यादा समय तक भाजपा में टिक नहीं पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares