nayaindia Mayfair Resorts record is not good मेफेयर रिसॉर्ट का रिकॉर्ड अच्छा नहीं
देश | झारखंड | राजरंग| नया इंडिया| Mayfair Resorts record is not good मेफेयर रिसॉर्ट का रिकॉर्ड अच्छा नहीं

मेफेयर रिसॉर्ट का रिकॉर्ड अच्छा नहीं

झारखंड के जेएमएम और कांग्रेस विधायकों को छत्तीसगढ़ के नवा रायपुर के मेफेयर रिसॉर्ट में रखा गया है। दोनों पार्टियां पूरी सावधानी बरत रही हैं और राज्य सरकार भी पूरा ध्यान दे रही है। कांग्रेस के चार मंत्रियों को कैबिनेट की बैठक के लिए बुलाना था तो मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खुद विशेष विमान से गए और उनको लेकर आए। इतनी सावधानी के बावजूद जेएमएम के नेता भरोसे में नहीं हैं कि यह अभियान कामयाब हो जाएगा। इसके कई कारणों में से एक कारण यह है कि विधायकों को जिस मेफेयर रिसॉर्ट में रखा गया है वह भले कितना भी लक्जरी रिसॉर्ट हो लेकिन उसका रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। उस रिसॉर्ट में विधायकों को जिस मकसद से रखा जाता है वह पूरा नहीं होता है।

इस साल अप्रैल में राज्यसभा चुनाव से पहले हरियाणा कांग्रेस के विधायकों को इस रिसॉर्ट में रखा गया था। कांग्रेस की ओर से अजय माकन चुनाव लड़ रहे थे और उनसे मुकाबले के लिए भाजपा ने निर्दलीय कार्तिकेय शर्मा को समर्थन दिया था। तब विधायकों को टूटने से बचाने के लिए मेफेयर रिसॉर्ट ले जाया गया था। चुनाव के दिन विधायक लौटे और उन्होंने मतदान किया। लेकिन अजय माकन जीत नहीं सके। वे एक वोट से हार गए। यह अलग बात है कि जो दो-तीन विधायक छत्तीसगढ़ नहीं गए थे उन्हीं में से एक ने क्रॉस वोटिंग की और दूसरे ने वोट अवैध करा लिया। हालांकि इसमें प्रभारी विवेक बंसल की भूमिका संदिग्ध बताई जाती है। उससे पहले पिछले साल असम में विधानसभा चुनाव से पहले जब कांग्रेस विधायकों के टूटने का सिलसिला शुरू हुआ था तब कई विधायकों को मेफेयर रिसॉर्ट में रखा गया था लेकिन वह ऑपरेशन भी कामयाब नहीं हुआ और कांग्रेस के कई विधायक भाजपा में चले गए।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 1 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
दिल्ली पुलिस से बदसलूकी कांग्रेस के पूर्व विधायक को भारी, किए गए गिरफ्तार
दिल्ली पुलिस से बदसलूकी कांग्रेस के पूर्व विधायक को भारी, किए गए गिरफ्तार