एक-दूसरे के आगे पीछे मोदी और ओवैसी!

ऑल इंडिया एमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी हेलीकॉप्टर लेकर झारखंड में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यू भी झारखंड में लड़ रही है और दूसरी कई क्षेत्रीय पार्टियां, जो राज्य या केंद्र की सरकार में रही हैं वे भी चुनाव में है। पर किसी का प्रचार वैसा सघन नहीं है, जैसा ओवैसी का है। राज्य की हर उस सीट पर उनका उम्मीदवार है, जहां दस हजार से ज्यादा मुस्लिम मतदाता हैं। उनकी लड़ाई सीधे तौर पर भाजपा को फायदा पहुंचा रही है। कांग्रेस और जेएमएम दोनों के लिए मुस्लिम वोट लेना मुश्किल हो रहा है।

उन्होंने पिछले दिनों बोकारो में चुनाव प्रचार किया तो दावा किया कि वे जहां भी जाते हैं वहां पीछे पीछे नरेंद्र मोदी पहुंच जा रहे हैं। यह हकीकत है कि जहां ओवैसी की सभा हुई वहां मोदी की भी हुई। पर यह भी तथ्य है कि बहुत सी जगहें हैं, जहां ओवैसी की सभा हुई पर मोदी वहां नहीं गए। तभी ऐसा लग रहा है कि ओवैसी बात को उलट कर कह रहे हैं। असलियत यह है कि जहां भी मोदी का कार्यक्रम तय हुआ वहां एक दिन पहले ओवैसी प्रचार के लिए पहुंच गए।

प्रधानमंत्री मोदी की सभा जमशेदपुर में होनी थी तो वे एक-दो दिन पहले वहां सभा करने पहुंच गए। इसी तरह बोकारो में पीएम की सभा तय हुई तो वे पहले वहां प्रचार के लिए पहुंच गए। वे अपनी सभाओं में मुस्लिम ध्रुवीकरण की बात करते हैं और उसके बाद मोदी की सभा होती है, जिससे भाजपा को बहुसंख्यक हिंदू वोट का ध्रुवीकरण कराना आसान हो जाता है। ओवैसी का भाषण मोदी और शाह पर हमले से शुरू हो रहा है और कांग्रेस को मुसलमानों का दुश्मन बताने पर खत्म हो रहा है। सो, उनका मकसद समझना मुश्किल नहीं दिख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares