nayaindia morbi bridge collapse BJP मोरबी की मार भारी पड़ सकती है
kishori-yojna
राजरंग| नया इंडिया| morbi bridge collapse BJP मोरबी की मार भारी पड़ सकती है

मोरबी की मार भारी पड़ सकती है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गुजरात में पहली सभा मोरबी में हुई। मोरबी वह जगह है, जहां मच्छू नदी पर बना अंग्रेजों के जमाने का एक पुल पिछले दिनों टूट कर गिर गया, जिसमें आधिकारिक रूप से 140 लोगों के मरने की खबर है। भाजपा ने इस सीट पर अपने उस पूर्व विधायक को टिकट दी है, जिसने नदी में कूद कर लोगों की जान बचाई थी। भाजपा के उम्मीदवार चुनाव प्रचार में नदी में कूद कर लोगों को बचाने के वीडियो दिखा कर वोट मांग रहे हैं। इसके बावजूद योगी की पहली सभा मोरबी में कराई गई और वहां उत्तर प्रदेश का बुलडोजर मॉडल दिखाया गया। योगी ने स्थानीय उम्मीदवार या राज्य सरकार के कामकाज को छोड़ कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट मांगा।

जानकार सूत्रों का कहना है कि मोरबी की घटना का असर ज्यादा हो सकता है और वहां से बाहर भी हो सकता है। असल में मोरबी टाइल्स निर्माण का हब है इसलिए काफी लोग बाहर के रहते हैं। दूसरे, उस पुल पर घूमने या फोटो खिंचवाने के लिए सिर्फ मोरबी के लोग नहीं आते थे, बल्कि राजकोट और दूसरे इलाकों के लोग भी पहुंचते। इसलिए मरने वालों में राजकोट व दूसरे शहरों के लोग भी हैं। यह भी कहा जा रहा है कि मरने वालों की संख्या जितनी बताई जा रही है उससे ज्यादा लोग मरे हैं। इसे लेकर आसपास के इलाकों में बड़ी नाराजगी है और लोग चुपचाप विरोध की तैयारी कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि जिस मोहल्ले या गांव में किसी की मौत हुई है वहां भाजपा का विरोध हो रहा है। पार्टी के नेता चुपचाप वहां जाकर लोगों को समझा रहे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + 16 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बवाना में प्लास्टिक कारखाने में लगी आग
बवाना में प्लास्टिक कारखाने में लगी आग