nayaindia New political twist in agency action एजेंसी की कार्रवाई में नया राजनीतिक ट्विस्ट
kishori-yojna
राजरंग| नया इंडिया| New political twist in agency action एजेंसी की कार्रवाई में नया राजनीतिक ट्विस्ट

एजेंसी की कार्रवाई में नया राजनीतिक ट्विस्ट

केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई को लेकर विपक्षी पार्टियां आरोप लगाती रही हैं कि केंद्र सरकार बदले की भावने से कार्रवाई कर रही है। यह भी कहा जाता रहा है कि विपक्ष को कमजोर करने, उसकी साख खराब करने और उसके कार्यकर्ताओं का मनोबल गिराने के लिए केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई हो रही है। अब इसमें नया ट्विस्ट आ गया है। अब जिसके यहां कार्रवाई हो रही है वह कह रहा है कि भाजपा ने उसे पार्टी तोड़ने का प्रस्ताव दिया था। मनीष सिसोदिया ने कहा है कि भाजपा ने प्रस्ताव दिया था कि वे आम आदमी पार्टी तोड़ दें तो उनको भाजपा मुख्यमंत्री बनाएगी और उनके सारे केस खत्म हो जाएंगे। उनसे पहले यहीं आरोप महाराष्ट्र में शिव सेना के नेता संजय राउत ने लगाए थे। सिसोदिया और संजय राउत दोनों ने आरोप लगाने के बाद यह भी कहा कि वे टूट जाएंगे पर झुकेंगे नहीं।

अभी कई और जगह से ऐसी बातें सुनने को मिल सकती हैं। जैसे अगर झारखंड में हेमंत सोरेन और उनके परिवार के ऊपर कार्रवाई होती है तो वे या उनके समर्थक कह सकते हैं कि भाजपा उनको अपने साथ आने का प्रस्ताव दे रही थी लेकिन उन्होंने मना कर दिया तो उनके खिलाफ कार्रवाई हो गई। वैसे भी एजेंसियों की साख अब ऐसी ही हो गई है कि वे सिर्फ विपक्षी नेताओं के यहां छापे मारते हैं और उन्हीं पर कार्रवाई करते हैं। इस नए राजनीतिक ट्विस्ट से एजेंसियों की साख और खराब होगी। विपक्षी पार्टियों को जनता के बीच अपने को पाक साफ दिखाने का एक तरीका इसमें मिल गया है। यह अलग बात है कि भाजपा जिनको प्रस्ताव दे रही है, वे सचमुच टूट जा रहे हैं और भाजपा के साथ चले जा रहे हैं। जैसे महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे शिव सेना के 40 विधायकों के साथ भाजपा में चले गए। उत्तराखंड में अरविंद केजरीवाल ने रिटायर कर्नल अजय कोठियाल को अपना मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनाया था और चुनाव के बाद कोठियाल भाजपा में चले गए।

आरोप लगाने वाले दोनों नेता सिसोदिया और राउत यह नहीं बता रहे हैं कि भाजपा में से किस ने प्रस्ताव दिया था। सूत्रों के हवाले से आप नेताओं ने मीडिया में खबर चलवाई है कि भाजपा ने फोन किया था। सवाल है कि क्या किसी ने फोन पर कहा कि ‘हेलो मैं भाजपा बोल रहा हूं’? आरोप लगाया है तो फोन करने वाले का नाम बताना चाहिए। इसका कोई मतलब नहीं है कि नाम सही समय पर बताएंगे। झारखंड में सत्तापक्ष के एक विधायक ने प्रलोभन देने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने असम के मुख्यमंत्री पर भी मुकदमा दर्ज कराया है। सिसोदिया को भी प्रलोभन देने वाले पर मुकदमा दर्ज कराना चाहिए और कार्रवाई की मांग करनी चाहिए।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − 7 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
समान नागरिक संहिता पर अभी फैसला नहीं
समान नागरिक संहिता पर अभी फैसला नहीं