राजनीति| नया इंडिया| Politics Congress BJP Party कांग्रेस छोड़ने वालों की चांदी

कांग्रेस छोड़ने वालों की चांदी

jyotiraditya bjp

कांग्रेस पार्टी छोड़ने वालों की मौज है। दूसरी पार्टियां उनके हाथों हाथ ले रही हैं। भाजपा के साथ साथ कांग्रेस की अपनी सहयोगी पार्टियां भी इसके लिए तैयार बैठी हैं। पहले कहा जा रहा था कि कांग्रेस से भाजपा में जाने वाले नेताओं को भाजपा लोकसभा या विधानसभा की टिकट तो दे दे रही है लेकिन मंत्री वगैरह नहीं बनाती है। लेकिन अब वह मिथक भी टूट गया। भाजपा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा में भेज कर केंद्रीय मंत्री बनाया है। उनके समर्थकों को मध्य प्रदेश सरकार में अच्छी खासी जगह मिली हुई है। उधर महज छह-सात साल पहले कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए हिमंता बिस्वा सरमा को सीधे असम का मुख्यमंत्री बना दिया गया है। वे पूर्वोत्तर में भाजपा की राजनीति संभाल रहे हैं। यह बॉर्डर लाइन पर बैठ कर छलांग लगाने का इंतजार कर रहे कांग्रेस नेताओं के लिए बड़ा प्रलोभन है। Politics Congress BJP Party

यह भी पढ़े: पाक ऐसा बने कि दुनिया नाज़ करे

इस बीच पिछले महीने 16 अगस्त को कांग्रेस छोड़ कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुईं अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देब को ममता बनर्जी ने राज्यसभा में भेजने का फैसला किया है। उनको राज्य की एक खाली हुई सीट पर उपचुनाव में उम्मीदवार बनाया गया है। कुछ ही समय पहले कांग्रेस छोड़ कर शिव सेना में शामिल हुईं प्रियंका चतुर्वेदी को भी शिव सेना ने राज्यसभा में भेजा हुआ है। कांग्रेस छोड़ कर जदयू में गए अशोक चौधरी कई बरस से राज्य सरकार में मंत्री हैं। उत्तराखंड में सतपाल महाराज भी भाजपा सरकार में मंत्री हैं और हर बार उनके मुख्यमंत्री बनने की चर्चा चलती रहती है। नारायण राणे को भाजपा ने केंद्र सरकार में मंत्री बनाया हुआ है तो के केशव राव तेलंगाना राष्ट्र समिति के राज्यसभा सांसद हैं। जितिन प्रसाद हाल ही में भाजपा में गए हैं और कहा जा रहा है कि उनको विधान परिषद का सदस्य बना कर उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री बनाया जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश

विदेश

खेल की दुनिया

फिल्मी दुनिया

लाइफ स्टाइल

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
उपाध्यक्ष का चुनाव हार कर भी सपा को सियासी बढ़त