तमिलनाडु में सबसे ज्यादा बदलेगी राजनीति

Must Read

विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद तमिलनाडु में राजनीति सबसे ज्यादा बदलेगी। इसका कारण यह है कि पांच राज्यों में तमिलनाडु एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां सब मान रहे थे कि अन्ना डीएमके हारेगी और डीएमके को प्रचंड बहुमत मिलेगा। डीएमके को बहुमत मिला है पर अन्ना डीएमके वैसे नहीं हारी है, जिसका अंदाजा लगाया जा रहा था। इसका कारण यह है कि वीके शशिकला ने जेल से छूटने के बाद अपने भतीजे के साथ मिल कर राजनीति करने की बजाय सार्वजनिक जीवन से अलग होने का ऐलान किया और जयललिता समर्थकों को एकजुट होकर वोट देने की अपील की।

ध्यान रहे तमिलनाडु में जयललिता समर्थकों का मतलब होता है थेवर जाति के मतदाता, जो अब तक एकजुट होकर अन्ना डीएमके को वोट करते रहे हैं। एमजीआर के जमाने से। जयललिता स्वंय ब्राह्मण थी, जिनका दो-ढाई फीसदी वोट था, लेकिन शशिकला और पार्ट की वजह से थेवर उनको वोट देते थे। शशिकला ने इस बार भी यह वोट एकजुट करा दिया। अब चुनाव नतीजों के बाद अन्ना डीएमके में इस वोट की दावेदारी शुरू होगी। दो पूर्व मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम और पलानीस्वामी इस वोट के लिए मारामारी करेंगी। शशिकला की बड़ी भूमिका बनेगी और भाजपा किसी तरह से अन्ना डीएमके का स्पेस लेने का प्रयास करेगी। सो, चुनाव के बाद तमिलनाडु में सबसे ज्यादा राजनीति होगी।

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

‘चित्त’ से हैं 33 करोड़ देवी-देवता!

हमें कलियुगी हिंदू मनोविज्ञान की चीर-फाड़, ऑटोप्सी से समझना होगा कि हमने इतने देवी-देवता क्यों तो बनाए हुए हैं...

More Articles Like This