nayaindia Bal Thackeray Politics बाल ठाकरे के नाम की राजनीति चलेगी
राजरंग| नया इंडिया| Bal Thackeray Politics बाल ठाकरे के नाम की राजनीति चलेगी

बाल ठाकरे के नाम की राजनीति चलेगी

शिव सेना ने पिछले हफ्ते पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की थी तो एक प्रस्ताव पास किया था, जिसमें बागी विधायकों को चेतावनी दी गई थी कि वे बाला साहेब ठाकरे के नाम का इस्तेमाल न करें। यह भी कहा गया था अगर उन्होंने बाल ठाकरे के नाम का इस्तेमाल किया तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बाद में शिव सेना के प्रवक्ता संजय राउत ने यहां तक कहा कि बागी विधायक अपने बाप के नाम पर वोट मांगे उद्धव ठाकरे के बाप के नाम पर नहीं। इसके बावजूद शिव सेना के बागी विधायक और उनके नेता एकनाथ शिंदे हर बात में बाल ठाकरे का नाम ले रहे हैं और उनके नाम से ही राजनीति करने का ऐलान कर रहे हैं।

तभी सवाल है कि अब शिव सेना क्या करेगी? क्या शिव सेना कोई कानूनी कार्रवाई कर सकती है? कानूनी जानकारों का कहना है कि बाल ठाकरे का कोई पेटेंट शिव सेना के पास नहीं है इसलिए कोई भी व्यक्ति उनके नाम का इस्तेमाल कर सकता है। दूसरे, यह भी कहा जा रहा है कि शिव सेना की ओर से दी गई चेतावनी एक दिखावा है। क्योंकि उसके बाद बागियों ने कई बार बाल ठाकरे के नाम का इस्तेमाल किया लेकिन शिव सेना की ओर से कुछ नहीं कहा गया।

उद्धव ठाकरे के इस्तीफा देने और बागी विधायकों के गुवाहाटी से लौटने के बाद भी पहली प्रतिक्रिया में शिंदे गुट के प्रवक्ता दीपक केसरकर ने कहा कि उनको इस बात की खुशी नहीं है कि उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया क्योंकि उद्धव उनके नेता हैं। उनकी लड़ाई एनसीपी और कांग्रेस से है। उन्होंने कहा कि असली शिव सेना उनकी है और वे बाल ठाकरे के विचारों के मुताबिक राजनीति करते रहेंगे। सो, आने वाले दिनों में महाराष्ट्र में दिलचस्प राजनीति होगी। दोनों खेमे बाल ठाकरे के नाम की सौगंध लेकर राजनीति करेंगे और फिर साथ भी आ जाएं तो हैरानी नहीं होगी।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

16 + sixteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
जो नहीं फंसे हैं उनको फंसाना है
जो नहीं फंसे हैं उनको फंसाना है