राहुल माने यात्रा की सलाह

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने राहुल गांधी को कुछ राजनीतिक सलाह दी है। जैसा कि हमेशा होता है पार्टी में कुछ लोग इसका समर्थन करेंगे, कुछ विरोध करेंगे लेकिन उनका सलाह ऐसी नहीं है, जिसकी अनदेखी की जाए। उन्होंने राहुल गांधी को देश की यात्रा करने की सलाह दी है। ध्यान रहे दिग्विजय सिंह ने खुद 33 सौ किलोमीटर की पदयात्रा करके नर्मदा की परिक्रम की। उनकी इस यात्रा ने जबरदस्त राजनीतिक असर डाला। नवंबर 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत में उनकी इस यात्रा ने बड़ी भूमिका निभाई थी।

ध्यान रहे 1989 में कांग्रेस पार्टी के लोकसभा का चुनाव हारने के बाद राजीव गांधी ने भी देश भर की यात्रा की थी। वे ट्रेन से लगभग पूरे देश में गए थे। उन्होंने महात्मा गांधी की कर्मभूमि चंपारण से अपनी यात्रा शुरू की। खासतौर से तैयार करके सजाए गए ट्रेन के डब्बे में राजीव गांधी होते थे और आगे-पीछे के डब्बों में कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता यात्रा करते थे। राजीव गांधी की इस यात्रा ने उनको भारत को बेहतर ढंग से समझने में मदद की थी।

आखिर महात्मा गांधी भी दक्षिण अफ्रीका से जब भारत लौटे तो उनके राजनीतिक गुरू गोपाल कृष्ण गोखले ने उनको भारत भ्रमण करने और देश को समझने का सुझाव दिया था। उस पर अमल करते हुए महात्मा गांधी दो साल तक यात्रा करते रहे थे। राहुल गांधी भी अगर देश की यात्रा करते हैं तो उन्हें निश्चित रूप से इसका फायदा मिलेगा। इसी तरह दिग्गी राजा की यह सलाह भी अच्छी है कि राहुल को संसद में ज्यादा बोलना चाहिए। यह सही है कि वे आधिकारिक रूप से नेता प्रतिपक्ष नहीं हैं पर असल में विपक्ष के नेता वे ही हैं और इस नाते उनको लोकसभा की कार्यवाही में ज्यादा हस्तक्षेप करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares