rahul gandi boycotts twitter राहुल ने ट्विटर का बहिष्कार कर दिया
राजनीति| नया इंडिया| rahul gandi boycotts twitter राहुल ने ट्विटर का बहिष्कार कर दिया

राहुल ने ट्विटर का बहिष्कार कर दिया!

rahul gandhi

Rahul gandi boycotts twitter अमेरिका की माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर का बहिष्कार भाजपा को करना था। भाजपा के नेताओं ने इसका बड़ा हल्ला मचाया था। उसके कई नेता और मंत्री पीयूष गोयल, प्रकाश जावडेकर, मुख्तार अब्बास नकवी आदि देशी माइक्रोब्लॉगिंग साइट कू पर चले गए हैं। ऐसा लग रहा था कि सरकार के सारे लोग और भाजपा के सारे नेता ट्विटर छोड़ेंगे क्योंकि ट्विटर ने बहुत बदतमीजी की थी। उसने संघ प्रमुख सहित उप राष्ट्रपति तक के एकाउंट से ब्लू टिक हटा दिया था। भाजपा के सबसे मुखर प्रवक्ता संबित पात्रा से लेकर आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय तक के ट्विट को फ्लैग करके फर्जी बताया था और हटा दिया था। एक बार तो तत्कालीन आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद का ट्विटर हैंडल एक घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया था। इसके बावजूद भाजपा ने ट्विटर का बहिष्कार नहीं किया।

Read also पक्ष और विपक्षः एक ही सिक्के के दो पहलू

पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर का बहिष्कार कर दिया है। ट्विटर ने सात अगस्त के उनके एक ट्विट को लेकर आपत्ति की थी और उसे हटा दिया था। इसके साथ ही ट्विटर ने उनकी पार्टी के कई नेताओं और पार्टी के आधिकारिक हैंडल को भी ब्लॉक कर दिया था। हालांकि थोड़े दिन के बाद ट्विटर ने एकाउंट चालू कर दिया लेकिन राहुल गांधी ने उसके बाद से एक बार भी ट्विट नहीं किया है। उनके एक करोड़ 90 लाख फॉलोवर हैं और उनका अधिकार छीनने का हवाला देकर राहुल ने ट्विटर पर हमला किया था लेकिन जब ट्विटर ने उनके एकाउंट चालू कर दिया तब वे ट्विट नहीं कर रहे हैं। उनके ट्विटर हैंडल से छह अगस्त के बाद से कोई ट्विट नहीं हुआ है। यहां तक कि 20 अगस्त को अपने पिता स्वर्गीय राजीव गांधी की जयंती के मौके पर श्रद्धांजलि के लिए भी राहुल ने ट्विट नहीं किया। उन्होंने फेसबुक पोस्ट लेकर पिता को श्रद्धांजलि दी। हालांकि कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक हैंडल से ट्विट हो रहा है लेकिन ऐसा लग रहा है कि राहुल अब ट्विटर का इस्तेमाल नहीं करेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अफसरशाही में कैद ‘महाराजा’ और टाटा
अफसरशाही में कैद ‘महाराजा’ और टाटा