Rajyasabha election Modi congress राज्यसभा के लिए कांग्रेस-भाजपा का सस्पेंस
राजनीति| नया इंडिया| Rajyasabha election Modi congress राज्यसभा के लिए कांग्रेस-भाजपा का सस्पेंस

राज्यसभा के लिए कांग्रेस-भाजपा का सस्पेंस

bjp congress

राज्यसभा का एक मिनी चुनाव होने वाला है। चुनाव आयोग ने आखिरकार छह राज्यों की सात सीटों के लिए उपचुनाव का ऐलान कर दिया है। तमिलनाडु की तीन सीटें खाली थीं, जिनमें से एक सीट पर पिछले दिनों चुनाव कराया गया। बची हुई दो सीटों के लिए चुनाव की तारीखों का ऐलान हुआ है। इसके अलावा महाराष्ट्र, असम, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश और पुड्डुचेरी की एक एक सीट के लिए 15 सितंबर को चुनाव की अधिसूचना जारी होगी। अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन शुरू होगा, जो 22 सितंबर तक चलेगा और अगर जरूरत पड़ी तो चार अक्टूबर को मतदान होगा। उसी दिन शाम में नतीजे आएंगे। (Rajyasabha election Modi congress)

नामांकन शुरू होने से पहले ही कांग्रेस और भाजपा को छोड़ कर क्षेत्रीय पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। तमिलनाडु की दोनों सीटें अन्ना डीएमके सांसदों के विधायक बन जाने की वजह से खाली हुई हैं। अन्ना डीएमके विधायक केपी मुन्नुस्वामी और आर वैद्यलिंगम ने दो मई को विधानसभा के नतीजे आने के बाद इस्तीफा दे दिया था। इनमें से एक सीट कांग्रेस को मिलने की संभावना थी लेकिन डीएमके ने दोनों सीटों से अपने उम्मीदवार के नाम घोषित कर दिए हैं। डीएमके ने कनिमोझी एनवीएम सोमू और केआरएन राजेश कुमार को उम्मीदवार बनाया है। तमिलनाडु से सटे पुड्डुचेरी में ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस ने भाजपा के सहयोग से सरकार बनाई है। बड़ी पार्टी होने के नाते सीट पर दावा ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस का है। दोनों पार्टियां साझा सहमति से इस बारे में फैसला करेंगी।

Read also यूपी में ध्रुवीकरण के जाल में पार्टियां

तमिलनाडु की दोनों सीटों पर डीएमके के अपना उम्मीदवार उतारने के बाद कांग्रेस को एकमात्र सीट महाराष्ट्र में मिलेगी। यह सीट कांग्रेस सांसद राजीव सातव के निधन से खाली हुई है। इस सीट से मुकुल वासनिक के नाम की चर्चा है और साथ ही गुलाम नबी आजाद के नाम की भी चर्चा है। भाजपा के खाते में दो सीटें जाएंगी। उसके वरिष्ठ नेता थावरचंद गहलोत ने कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त होने के बाद अपनी सीट से इस्तीफा दे दिया था। इस सीट भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के नाम की चर्चा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ उनका दोस्ताना भी पिछले दिनों काफी चर्चा में रहा था। असम में विश्वजीत डिमरी के विधायक बन जाने से यह सीट खाली हुई है। यह सीट पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को मिलेगी। वे केंद्र सरकार में मंत्री हैं और उनको छह महीने के भीतर संसद के किसी सदन का सदस्य बनना होता है।

पश्चिम बंगाल में दो सीटें खाली थीं, जिनमें से एक सीट पर पिछले दिनों चुनाव हुआ था, जिस पर ममता बनर्जी ने पूर्व आईएएस अधिकारी जवाहर सरकार को उच्च सदन में भेजा था। दूसरी सीट मानस भुइंया के विधायक बन जाने से खाली हुई है और इस एक सीट के कई दावेदार थे लेकिन ममता ने पिछले महीने कांग्रेस छोड़ कर तृणमूल में शामिल हुईं महिला कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सुष्मिता देब को अपनी पार्टी का प्रत्याशी बना दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow