nayaindia जेएनयू मामला और नदारद निशंक - Naya India
राजरंग| नया इंडिया|

जेएनयू मामला और नदारद निशंक

देश में शिक्षण संस्थानों और छात्रों को लेकर बड़ा विवाद छिड़ा हुआ है और देश के शिक्षा मंत्री नदारद हैं। वैसे विश्व पुस्तक मेले में किताब के विमोचन को लेकर शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की खबर तो आई है पर यह नहीं दिखा है कि वे जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, जेएनयू के विवाद को सुलझाने में कोई भूमिका निभा रहे हैं। सुलझाना तो दूर, इस बारे में मीडिया ब्रीफिंग का काम भी वे नहीं कर रहे हैं। उनकी बजाय मीडिया ब्रीफिंग का काम पूर्व मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने किया। ध्यान रहे जेएनयू में फीस बढ़ोतरी को लेकर पिछले करीब तीन महीने से आंदोलन चल रहा है पर इन तीन महीनों में शिक्षा मंत्री जेएनयू के मामले में कुछ करते नहीं दिखे हैं।

जेएनयू मामले में उनको लेकर एक ही दिन खबर बनी थी, जब वे जेएनयू के छात्रों के आंदोलन में फंस गए थे और एक कार्यक्रम के दौरान कई घंटों तक वे इस आंदोलन में फंसे रहे थे। पिछले दिनों जेएनयू का आंदोलन अलग ही रास्ते पर मुड़ गया है। कैंपस में हिंसा और मारपीट की वजह से पूरे देश में इसे लेकर चर्चा हो रही है। पर इस दौरान भी मामले को सुलझाने का काम मानव संसाधन मंत्री की बजाय मानव संसाधन विभाग के सचिव कर रहे हैं। जेएनयू प्रशासन से बातचीत हो या जेएनयू के छात्रों व छात्र संगठन को प्रतिनिधियों के साथ बातचीत हो, सब सचिव के जिम्मे है। हालांकि इसी मामले में एक शिक्षा सचिव की छुट्टी हो चुकी है। तभी नए सचिव कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। बहरहाल, जेएनयू मामले में शिक्षा मंत्री को छोड़ कर बाकी सारे केंद्रीय मंत्री बयान भी दे रहे हैं। तभी मंत्रिमंडल के संभावित फेरबदल में निशंक का मंत्रालय बदले जाने की चर्चा भी चल रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × three =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
सीबीआई के आरोपपत्र में सिसोदिया का नाम नहीं
सीबीआई के आरोपपत्र में सिसोदिया का नाम नहीं