nayaindia Shiv Senas concern increased शिव सेना की बढ़ी चिंता
kishori-yojna
राजरंग| नया इंडिया| Shiv Senas concern increased शिव सेना की बढ़ी चिंता

शिव सेना की बढ़ी चिंता

Shiv Senas concern increased

महाराष्ट्र और देश के दूसरे हिस्सों में भी चल रही राजनीति से शिव सेना की चिंता बढ़ी है। बुलडोजर राजनीति और हनुमान चालीसा के पाठ की राजनीति शिव सेना पर भारी पड़ रही है। पार्टी के नेताओं को लग रहा है कि अगर भाजपा की यह राजनीति चलती रही तो शिव सेना का कोर हिंदू वोट उससे दूर जाएगा। इसका ज्यादा नुकसान उसकी सहयोगी पार्टियों कांग्रेस और एनसीपी को नहीं होगा क्योंकि उनकी राजनीतिक जमीन मुंबई से दूर है और उनके बारे में पहले से एक धारणा बनी हुई है। लेकिन शिव सेना ने अभी हिंदुत्व का अपना एजेंडा छोड़ा नहीं है। Shiv Senas concern increased

Read also राज्यपालों का काम फैसले रोकना नहीं

तभी राज ठाकरे और नवनीत व रवि राणा के हनुमान चालीसा पढ़ने या मोहित कंबोज के मंदिरों में लाउडस्पीकर मुफ्त बांटने की राजनीति से शिव सेना को चिंता हुई है। इस बीच एनसीपी के एक नेता ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिख कर दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास के बाहर नमाज पढ़ने की इजाजत मांगी है। राणा दंपत्ति के मुख्यमंत्री आवास के सामने हनुमान चालीसा पढ़ने की राजनीति के जवाब में पीएम आवास के सामने नमाज की इजाजत मांगी गई है। शिव सेना को चिंता है कि कहीं हनुमान चालीसा बनाम नमाज का मुद्दा न बन जाए और इसमें शिव सेना को नमाजवादी पार्टी न कहा जाने लगे। तभी उसके नेता चाहते हैं कि किसी तरह से यह विवाद खत्म हो। पर ऐसा लग रहा है कि यह विवाद खत्म नहीं होगा। जल्दी ही हिजाब और हलाल मीट का मामला भी महाराष्ट्र में शुरू होगा।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − thirteen =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
झारखंड के अस्पताल में आग का तांडव, आग की लपटों के बीच डॉक्टर पति-पत्नी ने साथ में तोड़ा दम, 6 की मौत
झारखंड के अस्पताल में आग का तांडव, आग की लपटों के बीच डॉक्टर पति-पत्नी ने साथ में तोड़ा दम, 6 की मौत