क्रिकेट का प्रबंधन पुराने ढर्रे पर लौटा!

भारतीय क्रिकेट प्रशासन में सुधार के लिए बड़ी बातें हुई थीं। सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस आरएम लोढ़ा कमेटी का गठन किया था, जिसने कई सिफारिशें की थीं। अदालत ने बड़ी सख्ती के साथ उस पर अमल भी शुरू कराया पर ऐसा लग रहा है कि फिर से क्रिकेट का प्रशासन पुराने ढर्रे पर लौट रहा है। हालांकि ऐसा नहीं है कि पुराना ढर्रा खराब था या सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर ने बहुत महान काम किया। आखिर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने ही क्रिकेट को मौजूदा ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। उसी की बदौलत आज क्रिकेट फल फूल रहा है और बाकी खेल पिछड़ रहे हैं। तभी ऐसा माना जा रहा था कि सुप्रीम कोर्ट के दखल से मामला बिगड़ेगा ही।

बहरहाल, अब फिर बीसीसीआई का पुराना ढांचा बनता लग रहा है। पश्चिम बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन की कमान संभाल रहे सौरव गांगुली बतौर बीसीसीआई अध्यक्ष काम संभालेंगे। इस काम के लिए वे सबसे उपयुक्त हैं। उनके अलावा केंद्रीय मंत्री अमित शाह के बेटे जयेश शाह बीसीसीआई के सचिव बनेंगे। पहले अमित शाह भी क्रिकेट प्रशासक थे। केंद्रीय मंत्री और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के भाई अरुण सिंह ठाकुर बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष बनेंगे। पूर्व क्रिकेट प्रशासक और आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स के मालिक एन श्रीनिवासन के बेटी अब तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन की अध्यक्ष बन गई है। राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन की कमान मिल गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares