nayaindia oppositions strategy विपक्ष की रणनीति में बहुत खामियां
राजरंग| नया इंडिया| oppositions strategy विपक्ष की रणनीति में बहुत खामियां

विपक्ष की रणनीति में बहुत खामियां

politics of the opposition

अगले लोकसभा चुनाव में अभी समय है लेकिन पूरे देश में अभी से चुनाव का माहौल बन गया है। पक्ष और विपक्ष दोनों तरफ से तैयारियां शुरू हो गई है। बिहार में जदयू के भाजपा से तालमेल तोड़ने और राजद-कांग्रेस के साथ सरकार बनाने के साथ ही इसमें तेजी आई है। लेकिन पिछले दो दिन से जदयू के नेता जिस तरह के बयान दे रहे हैं और जिस रणनीति पर काम करते दिख रहे हैं उसमें खामियां हैं। अगर यहीं रणनीति रही तो विपक्षी पार्टियां नरेंद्र मोदी को नहीं हरा पाएंगी, उलटे उनकी स्थिति मजबूत कर देंगी। विपक्ष की सबसे बड़ी रणनीतिक खामी यह है कि केंद्र सरकार का विरोध करने या सत्तारूढ़ भाजपा का विरोध करने की बजाय वे मोदी का विरोध कर रहे हैं। सिर्फ मोदी को हराने की बात हो रही है।

अगर विपक्ष खुद चुनाव को मोदी के चेहरे पर ले जाएगा तो इसका फायदा उनको मिल जाएगा। दूसरे बिहार में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा कि एक बार सीटें 272 से कम हो गईं तो देखिए क्या होगा। यह भी खबर आई कि नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी की बैठक में कहा कि 25 सीटें भी कम हो गईं तो भाजपा बहुमत गंवा देगी। इससे यह मैसेज जा रहा है कि विपक्षी पार्टियां देश की राजनीतिक स्थिरता खत्म करने का प्रयास कर रही हैं। उनका मकसद मजबूत सरकार बनाने की बजाय नरेंद्र मोदी को कमजोर करना है। उनकी दुश्मनी नरेंद्र मोदी से है। यह मैसेज मोदी समर्थकों को एकजुट कर देगा। इसलिए विपक्ष को अपना अभियान मुद्दों पर केंद्रित करना चाहिए और निजी हमले से बचना चाहिए।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

7 − 5 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को नुकसान की भरपाई का नोटिस
सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को नुकसान की भरपाई का नोटिस