uttarakhand assembly elections bjp उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले
राजनीति| नया इंडिया| uttarakhand assembly elections bjp उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले

दलबदल रोकने का उत्तराखंड कांग्रेस का दांव

congress

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले दलबदल न शुरू हो इसके लिए कांग्रेस ने नया दांव चला है। चुनाव से पहले उम्मीदवारों के नाम तय करने के लिए कांग्रेस ने अभी कोई छंटनी समिति नहीं बनाई है और न प्रदेश की चुनाव समिति की कोई बैठक हुई है। कांग्रेस ने सर्वेक्षण वगैरह करा कर संभावित उम्मीदवारों के नाम तय करने का भी कोई इरादा नहीं जाहिर किया है। उससे पहले ही पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोंदियाल ने ऐलान कर दिया है कि कांग्रेस पार्टी अपने सभी विधायकों को टिकट देगी। माना जा रहा है कि चुनाव से बाकी राज्यों की तरह उत्तराखंड में भी भाजपा कुछ विधायकों को तोड़ने का प्रयास कर सकती है। उसे रोकने के लिए कांग्रेस ने यह दांव चला है। Uttarakhand assembly elections bjp

Read also राज्यसभा में धक्का-मुक्की, जांच मुमकिन नहीं!

गौरतलब है कि राज्य में कांग्रेस के 10 विधायक हैं। अभी दो सीटें खाली हैं, जिनमें से एक कांग्रेस विधायक दल की नेता इंदिरा हृदयेश के निधन से खाली हुई है। चूंकि अब विधानसभा चुनाव में बहुत कम समय बचा है इसलिए उनकी सीट पर उपचुनाव नहीं होगा। बहरहाल, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोंदियाल ने पार्टी के विधायकों की तारीफ करते हुए कहा है कि पार्टी के 10 विधायक तमाम मुश्किल समय में कांग्रेस के साथ ही रहे हैं इसलिए पार्टी उन सबको फिर से टिकट देगी। माना जा रहा है कि इस बार उत्तराखंड में कांग्रेस के लिए अच्छी संभावना है और भाजपा ने चूंकि तीन मुख्यमंत्री बदले हैं इसलिए उसके नेताओं और कार्यकर्ताओं में कंफ्यूजन है। कांग्रेस को इस स्थिति का लाभ मिल सकता है इसलिए कांग्रेस के नेताओं के इस बार पार्टी छोड़ने की संभावना कम है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
चुनाव से पहले Punjab में बढ़ी कांग्रेस की मुश्किलें, CM अमरिंदर सिंह से बगावत के बाद आज दिल्ली कूच करेंगे बागी
चुनाव से पहले Punjab में बढ़ी कांग्रेस की मुश्किलें, CM अमरिंदर सिंह से बगावत के बाद आज दिल्ली कूच करेंगे बागी