अब शुभेंदु बनाम दिलीप घोष - Naya India
राजनीति| नया इंडिया|

अब शुभेंदु बनाम दिलीप घोष

पश्चिम बंगाल में भाजपा के भीतर शुरू हुई कलह थमने का नाम नहीं ले रही है। भाजपा के उपाध्यक्ष मुकुल रॉय और उनके बेटे शुभ्रांग्शु रॉय के तृणमूल कांग्रेस में लौट जाने और राजीब बनर्जी के पार्टी छोड़ने की तैयारियों के बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष और विधायक दल के नेता शुभेंदु अधिकारी के बीच विवाद शुरू हो गया है। शुभेंदु अधिकारी अपनी स्थिति मजबूत बनाए रखने के लिए चाहते हैं कि कोई विधायक पार्टी नहीं छोड़े। वे विधायक दल के नेता हैं और उनके बारे में यह धारणा है कि वे बहुत मजबूत हैं। लेकिन इसके बावजूद अगर विधायक पार्टी छोड़ते हैं तो उनकी स्थिति कमजोर होगी। तभी उन्होंने पार्टी छोड़ने की तैयारी कर रहे विधायकों को चेतावनी दी है और कहा है कि उनके ऊपर दलबदल विरोधी कानून लागू होगी और विधानसभा से इस्तीफा देना होगा।

यह भी पढ़ें: भाजपा के अंतर्कलहः न चर्चा, न खबर!

दूसरी ओर दिलीप घोष और भाजपा के पुराने नेता चाहते हैं कि तृणमूल से आए सारे लोग वापस चले जाएं। सो, दिलीप घोष ने कहा है कि जो लोग सत्ता की चाह में भाजपा में आए हैं वे वापस चले जाएं तो बेहतर होगा। इस तरह दिलीप घोष तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में आए नेताओं की साख बिगाड़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि वे पहले भी ज्यादा तृणमूल नेताओं को पार्टी में लेने के पक्ष में नहीं थे। इस बीच खबर है कि भाजपा आलाकमान अभी दिलीप घोष को प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखने के पक्ष में है। अगर वे अध्यक्ष रहते हैं तो शुभेंदु अधिकारी के साथ उनका टकराव बढ़ेगा। पार्टी के कई पुराने नेता शुभेंदु को मिल रहे महत्व से नाराज हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *