राजनीति

बंगाल में भाजपा का अलग राज्य!

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव नहीं जीत पाने का भाजपा को ऐसा मलाल हुआ है कि वह राज्य के अंदर एक अलग अपना राज्य बना रही है। हार को सीधे सीधे स्वीकार करने की बजाय भाजपा पहले दिन से ममता बनर्जी सरकार और तृणमूल कांग्रेस पार्टी के साथ ऐसा टकराव बना रही है, जिससे अगले पांच साल तक राज्य पूरी तरह से बंटा हुआ रहेगा। चुनाव नही जीत पाने की पीड़ा के साथ साथ यह 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी का भी हिस्सा है। आखिर भाजपा को राज्य में अपनी 18 लोकसभा सीटें बचानी हैं।

बहरहाल, भाजपा और उसकी केंद्र सरकार ने तय किया है कि उसके जीते सभी 77 विधायकों को केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की सुरक्षा दी जाएगी। सोचें, पश्चिम बंगाल में पिछले छह महीने से केंद्रीय अर्धसैनिक बल भी एक चुनावी मुद्दा रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस छोड़ कर आने वाले तमाम नेताओं को भाजपा की केंद्र सरकार ने अर्धसैनिक बलों की सुरक्षा दी हुई है। चुनाव के बीच ममता ने कई बार आरोप लगाया कि अर्धसैनिक बल सीधे अमित शाह से आदेश ले रहे हैं। कूचबिहार के सीतलकूची में चार लोग अर्धसैनिक बलों की गोली से मारे गए थे और 24 घंटे से भी कम समय में सुरक्षा बलों को क्लीन चिट दी गई थी।

अब भाजपा अपने जीते हुए 77 विधायकों को अर्धसैनिक बलों की सुरक्षा दिला कर एक  राजनीतिक मुद्दे को जिंदा रखेगी। उसका एक मकसद सीतलकूची में चार लोगों को मार गिराने की घटना की याद बनाए रखना भी है। यह राज्य की पुलिस और स्थानीय प्रशासन पर अविश्वास की पराकाष्ठा है और वह भी सिर्फ इसलिए है क्योंकि भाजपा को तृणमूल कांग्रेस के साथ टकराव बनाए रखना है और ममता सरकार की ऑथोरिटी को कम करके दिखाना है। अब बड़ा सवाल यह है कि ममता भी अपने जीते हुए 214 विधायकों को बंगाल पुलिस की भारी सुरक्षा दें तो क्या होगा? क्या राजनीतिक टकराव होगा तो बंगाल पुलिस बनाम अर्धसैनिक बलों की जंग होगी? फिर वीआईपी कल्चर खत्म करने के सिद्धांत का क्या हुआ? क्या पुलिस और अर्धसैनिक बल सिर्फ नेताओं की सुरक्षा के लिए हैं? फिर नक्सलियों से कौन लड़ेगा?

ममता की ऑथोरिटी कम करने और उनसे टकराव बनाने की रणनीति के तहत ही पहले दिन से चुनाव बाद की हिंसा का अखिल भारतीय स्तर पर प्रायोजित प्रचार हुआ। उसी तरह की हिंसा पंचायत चुनावों के बाद उत्तर प्रदेश में भी हो रही है लेकिन उसकी चिंता न केंद्र सरकार को है और न माननीय राज्यपाल को है। दूसरी ओर बंगाल में महामहिम राज्यपाल हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा करने जा रहे हैं। केंद्रीय मंत्री पहले दौरा कर चुके हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम भी दौरा कर चुकी है। सोचें, इन सबसे क्या भाजपा राज्य के अंदर अपना एक अलग राज्य नहीं बना रही है?

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

क्या एलन मस्क होने जा रहे है बेघर, किस कारण बेच रहे है अपना आखिरी घर
केलिफोर्निया |  एलन मस्क को जोख़िम उठाने में बड़ा मज़ा आता है। एलन मस्क टेस्ला और स्पेसएक्स कंपनी के मालिक है। एलन…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लाइफ स्टाइल | विदेश

क्या एलन मस्क होने जा रहे है बेघर, किस कारण बेच रहे है अपना आखिरी घर

केलिफोर्निया |  एलन मस्क को जोख़िम उठाने में बड़ा मज़ा आता है। एलन मस्क टेस्ला और स्पेसएक्स कंपनी के मालिक है। एलन मस्क हमेशा से ही अजीबोगरीब ट्वीट कर चर्चाओं में बने रहते है। हाल ही में खबर मिली है एलन मस्क अपना आखिरी घर बेचने जा रहे है। मस्क को पंगा लेने में मज़ा आता है। जब टेस्ला और स्पेसएक्स की शुरुआत की थी तो आर्थिक तंगी से जूझना पड़ा था। लेकिन आज एलन मस्क का नाम दुनिया टॉप अमीरों में शामिल है। सूत्रों मुताबिक एलन मस्क अपनी आखिरी प्रॉपर्टी बेच रहे हैं। टेस्ला के मालिक ने ट्विटर पर लिखा कि वो अपना ‘आखिरी बचा हुआ घर’ बेचना चाहते हैं। ये खबरें तब सामने आई हैं, जब उन्होंने पिछले हफ्ते ही कहा था कि सैन फ्रांसिस्को बे एरिया में उनका केवल एक ही घर है, जिसे बड़े इवेंट्स के लिए किराए पर दिया जाता है।

elon musk

also read: दुनिया के आयरमैन Elon Musk ने एक बार फिर टवीट कर बताई स्पेसशिप की महत्ता

मस्क को है बड़ी फैमिली की तलाश

एलन मस्क इस बात बात की जानकारी ट्वीट कर दी है। मस्क ने ट्वीट में लिखा कि वो अपने इस आखिरी घर के लिए एक बड़े परिवार को ढूंढ रहे हैं। ये घर उनके लिए बेहद खास है। यह घर उन्हें अति प्रिय है।  मस्क का कहना है कि उनके पास केवल बे एरिया में एक ही इवेंट हाउस है। अगर वो इसे किसी छोटी फैमिली दो बेचते हैं तो इस घर सही से उपयोग नहीं हो पाएगा। इस कारण वे इस घर के लिए एक बड़े परिवार की खोज कर रहे है।

प्रॉपर्टी 47 एकड़ में फैली मस्क की प्रोपर्टी

बिजनेस इनसाइडर के मुताबिक, मस्क की प्रॉपर्टी जिलो नाम की वेबसाइट पर लिस्ट है। ये एक रियल इस्टेट वेबसाइट है। प्रॉपर्टी को 37.5 मिलियन डॉलर में लिस्ट किया गया है। मस्क ने साल 2017 में इसे 23 मिलियन डॉलर में खरीदा था। ये प्रॉपर्टी 47 एकड़ में फैली है और कैलिफोर्निया की सबसे बड़ी प्रॉपर्टीज में से एक है। ये प्रॉपर्टी 100 साल से भी ज्यादा पुरानी है। यहां 12 कार पार्क करने की सुविधा है। इस प्रॉपर्टी में जिम, पूल समेत तमाम सुविधाएं मौजूद हैं।

elon musk

एलन मस्क की चर्चा

द स्पेसएक्स के फाउंडर और दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शामिल एलन मास्क ने पिछले साल अपने घरों और संपत्ति को बेचने की अपनी योजना की घोषणा की थी। माना जाता है कि यह उनके धन पर आलोचना को नरम करने का एक तरीका है। कुछ ही दिन में पहले वह अपनी कैलिफोर्निया की दो प्रॉपर्टी को भी सेल करने की बात कह चुके हैं। जब whatsapp  ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी का ऐलान किया था जब अलन मस्क ने ट्वीट किया था ‘use signal’। इस ट्वीट के बाद से सिग्नल को सबसे ज्याद डाउनलोड किया गया।

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

aaRIP Milkha Singh : ‘फ्लाइंग सिख’ ने दुनिया को कहा अलविदा, प्रधानमंत्री-राष्ट्रपति ने जताया शोक
नई दिल्ली | Milkha Singh Passed Away: भारत के महान फर्राटा धावक (Sprinter) मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का शुक्रवार रात 11ः30 बजे…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading next news