आरोग्य सेतु पर क्या हो रहा है?

जब भारत सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमितों को ट्रैक करने, उनकी पहचान करने, उन्हें बेहतर सुविधा दिलाने आदि में मदद के लिए आरोग्य सेतु ऐप लांच किया था तब सरकार इसकी आलोचना में किसी की बात नहीं सुनती थी। कई लोगों ने इसे निजता के लिए खतरा बताया साथ ही कहा कि इसमें लिया जा रहा डाटा सुरक्षित नहीं है तो सरकार की ओर से सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्री ने जोर देकर इसका विरोध किया और कहा कि सब कुछ सुरक्षित है। दुनिया के जाने माने हैकर एलियट एंडरसन ने जब इसकी कमियां बताईं तो सरकार ने उसे भी खारिज कर दिया। लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि सरकार इसकी हर आलोचना को मानने लगी है।

तभी सरकार ने आरोग्य सेतु ऐप का सोर्स कोड ओपन कर दिया है। किसी भी ऐप का सोर्स कोड बनाने वाले बौद्धिक संपदा होती है, जिसे ओपन नहीं किया जाता है। सोर्स कोड ओपन करने का मतलब होता है कि कोई भी इसे देख कर जान सकता है कि इसका क्या इस्तेमाल हो रहा है और इसमें जरूरत होने पर सुधार भी कर सकता है। एंडरसन ने इसके लिए जोर दिया था और कहा था कि सरकार सोर्स कोड ओपन नहीं करती है तो वे इसकी कमियां जगजाहिर कर देंगे। सोर्स कोड ओपन करने से इस पर सवाल उठा रहे तकनीकी जानकारों को राहत मिली है। इसका एक फायदा यह भी है कि अब अगर इसमें कोई कमी है तो दूसरे जानकार उसे दूर कर सकते हैं। हालांकि अभी सरकार ने सिर्फ एंड्रॉयड फोन के लिए सोर्स कोड ओपन किया है पर इतनी पहल भी अच्छी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares