increase rate of GST जल्द नई मार, जीएसटी की बढेगी दर?
राजनीति| नया इंडिया| increase rate of GST जल्द नई मार, जीएसटी की बढेगी दर?

जल्द नई मार, जीएसटी की बढेगी दर?

increase rate of GST

देश के आम लोगों पर टैक्स की नई मार पड़ सकती है। लोगों को अप्रत्यक्ष कर से राहत देने के लिए एक देश, एक टैक्स की योजना के तहत वस्तु व सेवा कर यानी जीएसटी लागू किया गया था। इसके लागू होने के चार साल बाद तक कारोबारी और व्यापारी तो परेशान हैं और सरकार हर महीने एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की टैक्स वसूली से खुश है। लेकिन अब खबर है कि सरकार टैक्स की न्यूनतम दरों में बढ़ोतरी पर विचार कर रही है। जीएसटी कौंसिल की पिछली बैठक से पहले खबर लीक कराई गई थी कि आम लोगों को राहत देने के लिए मंत्री समूह पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी में लाने का प्रस्ताव लाएगा। लेकिन ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं आया। अब खबर लीक कराई गई है कि न्यूनतम दरों में एक फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है। increase rate of GST

Read also चीन से विफल वार्ता, आगे क्या?

ध्यान रहे जीएसटी की इस समय चार दरें हैं। सबसे कम पांच फीसदी और सबसे ज्यादा 28 फीसदी। इसके बीच 12 और 18 फीसदी के दो और स्लैब हैं। सबसे ऊंची दर गैरजरूरी या विलासिता की चीजों पर है, जिसके ऊपर उपकर भी लगाया गया है। सबसे कम पांच फीसदी दर आम लोगों के रोजमर्रा की जरूरत की चीजों पर है। कहा जा रहा है कि इसे बढ़ा कर छह फीसदी और 12 फीसदी की दर को बढ़ा कर 13 फीसदी करने का प्रस्ताव जीएसटी कौंसिल की अगली बैठक में आएगा। यह भी कहा जा रहा है कि एक स्लैब खत्म किया जा सकता है। अगर रोजमर्रा की चीजों पर एक फीसदी अप्रत्यक्ष टैक्स बढ़ता है तो बढ़ती महंगाई के बीच आम लोगों पर बहुत बड़ी मार पड़ेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व का सवाल
बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व का सवाल