nayaindia Mamta meeting Sonia gandhi सोनिया से मिल कर क्या फैसला
देश | पश्चिम बंगाल | राजरंग| नया इंडिया| Mamta meeting Sonia gandhi सोनिया से मिल कर क्या फैसला

सोनिया से मिल कर क्या फैसला बदलेंगी ममता?

Trinamool campaign derailed

उप राष्ट्रपति पद की विपक्षी उम्मीदवार मारग्रेट अल्वा को अब भी उम्मीद है कि ममता बनर्जी अपना फैसला बदलेंगी। उन्होंने एक बार उनसे अपील करने के बाद दोबारा कहा है कि अभी बहुत समय है और उम्मीद है कि ममता बनर्जी फैसला बदलेंगी। ध्यान रहे ममता ने फैसला किया है कि वे उप राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगी। संसद के दोनों सदनों में वे कांग्रेस के बाद दूसरी सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी हैं। उनके 36 सांसद हैं। अगर उनकी पार्टी वोटिंग में हिस्सा नहीं लेती है तो विपक्ष की उम्मीदवार के वोट बहुत कम हो जाएंगे और एनडीए उम्मीदवार की जीत का अंतर बहुत बड़ा हो जाएगा। इससे विपक्षी पार्टियों के बिखरे होने का संदेश भी जाएगा, जो विपक्षी राजनीति के लिए ठीक नहीं है।

तभी यह अटकल लगाई जा रही है कि उप राष्ट्रपति चुनाव से एक दिन पहले ममता बनर्जी की सोनिया गांधी से होने वाली मुलाकात के बाद फैसला बदल सकता है। ध्यान रहे ममता बनर्जी पांच दिन के लिए दिल्ली के दौरे पर आ रही हैं, जिसका मकसद विपक्षी एकता के बारे में बातचीत करना है। केंद्र की ओर से चाहे जितने दबाव की बात हो लेकिन वे अभी विपक्षी पार्टियों की मदद कर रही हैं। उनकी पुलिस ने पैसे के साथ झारखंड के तीन कांग्रेसी विधायकों को पकड़ कर कांग्रेस और जेएमएम सरकार की बड़ी मदद की है। इसलिए उम्मीद की जा रही है कि सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद उनका रुख बदल सकता है। हालांकि उनकी पार्टी अब भी इस बात का रोना रो रही है कि उम्मीदवार के चयन में उससे बात नहीं की गई। लेकिन विपक्षी उम्मीदवार को समर्थन देने की बजाय चुनाव से दूरी का फैसला उस वजह से नहीं हुआ है। उसके तार केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई से जुड़े हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

7 + five =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बड़ी पार्टियां धोखेबाज नहीं होतीं!
बड़ी पार्टियां धोखेबाज नहीं होतीं!