Loading... Please wait...

रिपोर्टर डायरी

चर्च भी अछूता नहीं रहा

अपना शुरू से यह मानना रहा है कि जब समाज में कहीं गिरावट आती है तो उसका कोई भी हिस्सा, खंबा या स्थान उससे बच नहीं पाता है। पहले यह बात उसके चारों स्तंभों और पढ़ें....

टीवी रिपोर्टिंग पर 'ऑफ द स्क्रीन'

अपना शुरू से विश्वास रहा है कि हर पत्रकार की प्रत्येक खबर के पीछे कोई-न-कोई विशेष कहानी जरूर छिपी या उससे जुड़ी होती है जिसकी हम लोग आमतौर पर चर्चा नहीं और पढ़ें....

बटुक नाथ बने अनूप जलोटा

मुझे बचपन से ही कहावतों का शौक था। मेरी मां अक्सर एक कहावत कहा करती थी कि काजी दुबले क्यों? शहर के अंदेशे से। (मतलब काजी हमेशा शहर की घटनाओं को लेकर चिंतित और पढ़ें....

जैक मां: चीन का पूंजीवादी

वामपंथ और वामपंथियों को मैंने बहुत करीब से देखा है। मैं तो उत्तरप्रदेश के उस शहर कानपुर से हू जिसे कभी भारत का मैनचेस्टर कहते थे। लाल इमली, एशियन मिल से और पढ़ें....

क्यों उड़ा रंग नील का?

अखबार में एक खबर पढ़ कर पिछली यादें ताजी हो गई। यह खबर देश में नील का उत्पादन दोबारा शुरू किए जाने के बार में थी। आज की पीढ़ी तो शायद इसके बारे में न जानती और पढ़ें....

रहीम की याद और उनका मकबरा!

अक्सर जब अपने घर से डीएनडी फ्लाईओवर होता हुआ क्नाट प्लेस जाता हूं तो रास्ते में बाएं हाथ पर एक उजड़ी हुई इमारत जिसे मकबरा कहते हैं उसे देखकर बहुत कोफ्त और पढ़ें....

मोदी और ठांठे मारता जनसमुद्र

पिछले दिनों तमाम लोगों के फोन आए कि क्या मैंने अपना कॉलम लिखना बंद कर दिया है। बड़ी मुश्किल से मैंने उन्हें बताया कि मैं छुट्टियां बिताने के लिए कानपुर और पढ़ें....

ऐसे थे पंडित शिवचरण लाल शर्मा

कभी कल्पना भी नहीं की थी कि छुट्टी से वापस लौटते ही मुझे इस तरह का कालम लिखना पड़ेगा। बंबईया भाषा में कहूं तो मैं पिछले दिनों अपने मुल्क (कानपुर) गया था। और पढ़ें....

मुसीबत में श्री दस परसेंट

आजाद होने से आज तक अपने देश के तमाम हुक्मरानों की गलतियों, वेबकूफियों और नाकारेपन के बावजूद मैं उनकी इसलिए तारीफ करना चाहता हूं कि उन्होंने दुनिया के इस और पढ़ें....

एशिया अर्जेंटोः बकरी खा गई शेर

तब अस्सी के दशक की शुरुआत थी। मैंने दिल्ली में नौकरी करने के साथ रिपोर्टिंग करने बाहर जाना शुरू दिया था। उन दिनों हिमाचल प्रदेश के सरकारी कर्मचारियों ने और पढ़ें....

← Previous 123456789
(Displaying 1-10 of 351)

© 2018 ANF Foundation
Maintained by Quantumsoftech