nayaindia मैरी-निखत ट्रॉयल विवाद पर बीएफआई ने दी सफाई - Naya India
खेल समाचार| नया इंडिया|

मैरी-निखत ट्रॉयल विवाद पर बीएफआई ने दी सफाई

नई दिल्ली। छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम और उनके 51 किग्रा वजन वर्ग में उनकी प्रबल प्रतिद्वंद्वी निखत जरीन के बीच ट्रायल को लेकर चल रहे विवाद पर भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने नियमों का हवाला देते हुये एक स्पष्टीकरण जारी किया है और साथ ही कहा है कि वह गत सितंबर में हुई चयन समिति की बैठक के फैसले पर अडिग है।

बीएफआई ने एक बयान जारी कर स्पष्ट किया कि इस साल पांच सितंबर को चयन समिति की बैठक में ओलंपिक क्वालिफायर को लेकर जो मापदंड तय किये गये थे वह उस पर अडिग है और ओलंपिक क्वालिफायर ट्रायल को लेकर मीडिया में चल रही अटकलों को बीएफआई ने बेबुनियाद करार दिया है।

इसे भी पढ़ें :- आईएसएल-6 : घर में बेंगलुरू की मेजबानी करेगी नॉर्थईस्ट

इस साल हुई विश्व चैंपियनशिप से पहले मैरीकॉम ने निखत के साथ ट्रायल से यह कहते हुये इंकार कर दिया था कि अपने लगातार शानदार प्रदर्शन के कारण उन्हें ट्रायल देने की कोई जरूरत नहीं है। मैरी को विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक मिला था और वह विश्व मुक्केबाजी प्रतियोगिता के इतिहास में आठ पदक जीतने वाली पहली खिलाड़ी बन गयी थीं। मैरी अौर निखत राजधानी दिल्ली में चल रही बिग बाउट लीग में अलग अलग टीमों का हिस्सा हैं और मंगलवार को उनकी टीमों का मुकाबला होना था जिसमें ये दोनों मुक्केबाज़ 51 किग्रा वर्ग में आमने सामने होतीं।

लेकिन मैरी ने अपनी पीठ के दर्द का हवाला देते हुये खुद को मुकाबले से ही हटा लिया था जिसे लेकर विवाद हुआ। बीएफआई ने अपने बयान में बताया कि चीन में फरवरी में होने वाले ओलंपिक क्वालिफायर के पांच वजन वर्गों के लिये ट्रायल 27 और 28 दिसंबर को दिल्ली के आईजी स्टेडियम में होंगे। ट्रायल के लिये जो जरूरी मापदंड रखे गये हैं उसमें विश्व चैंपियनशिप में भागीदारी, राष्ट्रीय चैंपियनशिप के स्वर्ण और रजत विजेता शामिल होंगे जबकि एक मुक्केबाज़ का चयन कोचों और चयन समिति द्वारा किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें :- रोहित और राहुल के तूफानी शतकों से भारत के 387 रन

निखत विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं ले पायी थीं क्योंकि उनके वजन वर्ग में मैरी उतरी थीं। निखत के अनुसार उन्हें राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हिस्सा लेने के बजाय लीग में खेलने को कहा गया था। 51 किग्रा वजन वर्ग की रैंकिंग में मैरी पहले और निखत दूसरे स्थान पर हैं। कोचों सहित चयन समिति 21 दिसंबर को अपनी बैठक कर पांचाें वजन वर्ग के चौथे मुक्केबाज़ का फैसला करेगी। चार मुक्केबाजों में मुकाबले होंगे और दो विजेता मुक्केबाज़ ट्रायल की आखिरी बाउट लड़ेंगे।

इसे भी पढ़ें :- विंडीज़ ने जीता टॉस, भारत को पहले बल्लेबाजी

निखत ने मंगलवार को सार्वजनिक रूप से कहा कि ओलंपिक के लिये वह ईमानदारी से चयन ट्रायल की मांग करती हैं और चाहती हैं कि बीएफआई इसका सीधा प्रसारण टीवी पर करे। महिलाओं के 51 किग्रा भार वर्ग में ज्योति गुलिया और रितु ग्रेवाल कन्नुर में महिला राष्ट्रीय चैंपियनशिप में स्वर्ण और रजत जीत चुकी हैं जबकि मैरीकॉम ने अक्टूबर में विश्व चैंपियनशिप में कांस्य जीता था अौर एक स्थान पर उनका कब्जा पक्का है। आखिरी स्थान के लिये अब निखत और पिंकी रानी के बीच मुकाबला बना हुआ है।

निखत ने कहा कि वह इस बात से दुखी हैं कि बीएफआई ने कहा है कि यदि वह मैरीकॉम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करेंगी तो उनका स्थान पक्का होगा। निखत ने कहा था,“ मैं मैरीकॉम के खिलाफ खेलने को पूरी तरह तैयार थी लेकिन आखिरी समय में वह हट गयीं और मुझे रिजर्व खिलाड़ी से खेलना पड़ा। मुझे इस बात का दुख है क्योंकि लोगों को पता चलता कि मैं मैरीकॉम को चुनौती दे सकती हूं। मैं अब ट्रायल के लिये तैयारी कर रही हूं लेकिन मैं चाहती हूं कि इसका सीधा प्रसारण टीवी पर हो न कि बंद दरवाजों में और निर्णय भी ईमानदारी से लिया जाए।”

 

Leave a comment

Your email address will not be published.

12 + eighteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भारत में कोरोना मामलों में आई गिरावट, 24 घंटे में 4,777 नए मामले दर्ज, एक्टिव केस भी घटे
भारत में कोरोना मामलों में आई गिरावट, 24 घंटे में 4,777 नए मामले दर्ज, एक्टिव केस भी घटे