nayaindia children of ordinary households आम घरों के बच्चे
खेल समाचार| नया इंडिया| children of ordinary households आम घरों के बच्चे

आम घरों के बच्चे

कॉमनवेल्थ गेम्स में दूसरे दिन से सिलसिला शुरू है। उस दिन भारत ने चार मेडल जीते और चारों ही वेटलिफ्टिंग में थे। सबसे पहले 55 किलो वेट कैटेगरी में संकेत सरगर ने सिल्वर मेडल जीता जो महाराष्ट्र के सांगली में पिता के साथ पान व चाय की दुकान चलाते हैं। उनकी छोटी बहन भी खेलो इंडिया गेम्स में अपने राज्य के लिए गोल्ड मेडल जीत चुकी है। दूसरा ब्रॉन्ज मेडल था जो वेटलिफ्टिंग की 61 किलो कैटेगरी में पी गुरुराजा ने जीता। उडुपी, कर्नाटक के एक गांव के रहने वाले गुरुराजा एक ट्रक ड्राइवर के बेटे हैं। फिर 49 किलो कैटेगरी में मीराबाई चानू ने गोल्ड हासिल किया तो देश भर में खुशी की लहर दौड़ गई। उनके गोल्ड का लोग सुबह से इंतजार कर रहे थे। मीराबाई चानू के पिता इम्फाल, मणिपुर में लोक निर्माण विभाग में नौकरी करते हैं और मां एक छोटी सी दुकान चलाती हैं। बचपन में मीराबाई को जंगल से लकड़ियां लानी पड़ती थीं ताकि घर में खाना बन सके। उन्हीं लकड़ियों के गट्ठर से उन्हें वज़न उठाने की आदत पड़ी थी जो वेटलिफ्टिंग में काम आई। इसके बाद बिंदिया रानी देवी ने इसी खेल में 55 किलो कैटेगरी में सिल्वर मेडल जीता। वे भी मणिपुर की हैं। उनके पिता एक किसान हैं और उनकी एक ग्रौसरी की दुकान भी है।

ये सभी खिलाड़ी साधारण परिवारों से हैं। अंतरराष्ट्रीय खेल स्पर्धाओं में देश के लिए खेलने और मेडल लाने वाले ज्यादातर खिलाड़ी सामान्य वर्ग से आते हैं, जो अभावों से लड़ते हुए आगे बढ़ते हैं। अमीर घरों के बच्चे टेनिस, शूटिंग, गोल्फ, तैराकी जैसे खेलों में फिर भी जा सकते हैं, लेकिन बाकी खेलों की जिम्मेदारी उन्होंने निम्न और निम्न-मध्य वर्ग पर छोड़ी हुई है। तीरंदाजी, बॉक्सिंग, कुश्ती, हॉकी आदि में धनी पृष्ठभूमि के किसी खिलाड़ी का मिलना बड़ी बात होगी। याद कीजिए, देश के लिए पहला व्यक्तिगत ओलंपिक गोल्ड जीतने वाले अभिनव बिंद्रा के लिए उनके पिता ने करोड़ों रुपए खर्च करके निजी शूटिंग रेंज बनवा दी थी। इसी तरह अहमदाबाद की हनी जुमानी के पिता ने उसके लिए निजी टेनिस कोर्ट बनवा दिया है और एक निजी कोच भी रखा है। मगर देश में ज्यादातर बच्चे सरकारी या स्कूल-कॉलेजों के खेल संसाधनों पर निर्भर हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

13 − 8 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
गैर गांधी अध्यक्ष के साथ कैसे निभेगी?
गैर गांधी अध्यक्ष के साथ कैसे निभेगी?