nayaindia cricket news : भारतीय क्रिकेट टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने बयां किया अपना दर्द, कहा-माही भाई के गाइडेंस की कमी खलती है.. - Naya India
खेल समाचार| नया इंडिया|

cricket news : भारतीय क्रिकेट टीम के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने बयां किया अपना दर्द, कहा-माही भाई के गाइडेंस की कमी खलती है..

कलाई के जादूगर के रूप में पहचाने जाने वाले गेंदबाद कुलदीप यादव ने अपना दर्द बया किया है। कुलदीप यादव का फॉर्म अचनक खराब होते दिखा और कुलदीप टीम इंडिया से बाहर होते दिखे। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप हो या फिर इंग्लैंड के खिलाफ चुनी गई टेस्ट सीरीज में उनका चयन भारतीय टीम में नहीं हो सकता है। 2019 में इंडिया वर्ल्डकप हार गया था तभी से कुलदीप यादव का समय भी खराब चल रहा है। अब इस स्पिनर ने इंडियन एक्सप्रेस  के साथ बातचीत में अपने खराब फॉर्म को लेकर बात की और कहा कि वो अपनी गेंदबाजी के दौरान धोनी की सलाह को मिस कर रहे हैं। कुलदीप ने यहां तक अपने इंटरव्यू में कहा है कि क्या वो इतना बुरा हैं कि उन्हें विश्व चैंपियनशिप के फाइनल के लिए चुनी गई टीम में भी शामिल नहीं किया गया। बता दें कि एम एस धोनी ने 2020 अगस्त में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। धोनी जब तक भारतीय टीम की ओर से खेले तब तक चहल और कुलदीप की स्पिन जोड़ी ने कमाल किया और कई दफा भारत को जीत दिलाई, लेकिन जब से धोनी टीम इंडिया से अलग हुए हैं तब से खासकर कुलदीप की गेंदबाजी बेहद ही औसत रही है जिसके कारण चयनकर्ता उन्हें बड़़े टूर्नामेंट से नजरअंदाज करते दिख रहे हैं।एक समय युजवेंद्र चहल के साथ उनकी जोड़ी सुपरहिट साबित होती थी, लेकिन अब ये दोनों ही स्पिनर्स टीम इंडिया के लिए जगह नहीं बना पा रहे।

इसे भी पढ़ें Corona Relief: विराट- अनुष्का ने कोरोना संक्रमितों की मदद के लिए पांच दिन में जुटाये 5 करोड़

कुलदीप ने बयां किया अपना दर्द

इसके अलावा कुलदीप ने आईपीएल में कम मैच खेलने को लेकर भी अपना दर्द बयां किया है। कुलदीप ने अपनी बात रखते हुए कहा कि जब मुझे आईपीएल में केकेआर की टीम में जगह नहीं मिली तब मैंने सोचा कि क्या मैं इतना बुरा हूं। ये टीम मैनेजमेंट का फैसला था और उनसे इस बारे में पूछना गलत होता। आईपीएल के दौरान मुझे चेन्नई में खेले गए मैच के दौरान भी नहीं खिलाया गया था, जहां की पिच स्पिन गेंदबाजी को माकूल होती है।मैं काफी निराश था, लेकिन मैं कुछ कर नहीं सकता था। बता दें कि फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान कुलदीप को 2 साल बाद खेलने का मौका मिला लेकिन यहां भी वो असफल रहे थे। यहां तक कि इंग्लैंड के खिलाफ 2 वनडे मैचों में एक भी विकेट नहीं ले पाए। साल 2020 जनवरी से कुलदीप भारत के लिए एक भी टी-20 इंटरनेशनल मैच नहीं खेल पाए हैं।

माही भाई की कमी खलती है

कुलदीप यादव ने कहा कि मुझे धोनी भाई बहुत याद आते हैं।  मैं उनके अनुभव को याद करता हूं। कुलदीप ने धोनी को लेकर बात की और कहा कि माही भाई की गाइडेंस की कमी  उन्हें खलती है। जब माही भाई थे, मैं और चहल खेल रहे थे, जब से माही भाई गए हैं, तब से चहल और मैंने एक साथ नहीं मैच खेला, कुलदीप ने कहा कि माही भाई के जाने के बाद मैंने केवल कुछ ही गेम खेले हैं।ऋषभ अभी नया है वह जितना ज्यादा खेलेगा उतना ही ज्यादा सलाह वह भविष्य में विकेट के पीछे से गेंदबाजों को देगा। मुझे हमेशा लगा कि हर गेंदबाज को एक साथी की जरूरत होती है जो दूसरे छोर से मदद कर सके। बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास के बाद कुलदीप यादव को टीम इंडिया में खेलने के बहुत कम अवसर मिले हैं। बेहद कम मौके मिलने से कुलदीप यादव लंबे समय से निराश हैं। आईपीएल के दौरान भी उन्हें बेंच पर बैठाया गया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − four =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
सीएम गहलोत ने पायलट को बताया ’गद्दार’, तो बोले सचिन- आपके रहते दो बार चुनाव हारी पार्टी
सीएम गहलोत ने पायलट को बताया ’गद्दार’, तो बोले सचिन- आपके रहते दो बार चुनाव हारी पार्टी