खेल समाचार

भारत के दिग्गज हॉकी प्लेयर Ravinder Pal Singh ने दुनिया को कहा अलविदा, कोरोना के कारण हुआ निधन

कोरोना ने पुरे भारत में कोहराम मचा रखा है। कोरोना लोगों की जान का दुश्मन बना बैठा है। आये दिन किसी ना किसी के मौत की खबर मिलती ही रहती है। अब खेल जगत से एक और बुरी खबर आई है। भारतीय हॉकी टीम के पूर्व सदस्य और मॉस्को ओलंपिक 1980 के स्वर्ण पदक विजेता रविंदर पाल सिंह ने करीब दो सप्ताह कोरोना संक्रमण से जूझने के बाद शनिवार की सुबह लखनऊ में अंतिम सांस ली। वह 65 वर्ष के थे।

इसे भी पढ़ें UP : यमुना नदी में बहती मिली कई लाशें, कोरोना से मौतों की आशंका, लोग करने लगे जल प्रवाह!

नहीं रहे रविंदर पाल सिंह

रविंदर पाल सिंह को 24 अप्रैल को विवेकानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार वह कोरोना संक्रमण से उबर चुके थे और टेस्ट नेगेटिव आने के बाद कोरोना वॉर्ड से बाहर थे। शुक्रवार को उनकी हालत अचानक बिगड़ी और उन्हें वेंटिलेटर पर रखना पड़ा। उसके बाद उनकी मृत्यु हो गई। भारत में कोरोना के केस बढ़ते ही जा रहे है। एक जिन में 4 लाख के पार मामले मिल रहे है। और करीब 4 हजार लोगों की मौत हो रही है।

रविंदर पाल सिंह ने विवाह नहीं किया

लॉस एंजिलिस ओलंपिक 1984 खेल चुके रविंदर पाल सिंह ने विवाह नहीं किया था। उनकी एक भतीजी प्रज्ञा यादव है। वह 1979 जूनियर विश्व कप भी खेले थे और हॉकी छोड़ने के बाद स्टेट बैंक से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी। बता दें कि सीतापुर में जन्में सेंटर हाफ सिंह ने 1979 से 1984 के बीच शानदार प्रदर्शन किया। दो ओलंपिक के अलावा वह 1980 और 1983 में चैम्पियंस ट्रॉफी, 1982 विश्व कप और 1982 एशिया कप भी खेले।

पूर्व भारतीय हॉकी कोच एमके कौशिक कोरोना पॉजिटिव

पूर्व भारतीय हॉकी खिलाड़ी और कोच एमके कौशिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिवार के अनुसार 1980 मॉस्को ओलंपिक की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय टीम के सदस्य 66 साल के कौशिक के ऑक्सीजन स्तर में लगातार बदलाव हो रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *