Ind VS Nz Dravid : कोच द्रविड़ ने कहा-पारी जल्दी घोषित करने के कारण नहीं...
खेल समाचार| नया इंडिया| Ind VS Nz Dravid : कोच द्रविड़ ने कहा-पारी जल्दी घोषित करने के कारण नहीं...

Kanpur Test : कोच द्रविड़ ने कहा-पारी जल्दी घोषित करने के कारण नहीं बल्कि यहां बदल गया मैच…

Ind VS Nz Dravid :

नई दिल्ली | Ind VS Nz Dravid : भारतीय टीम के नए कोच ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पारी घोषित करने पर कप्तान रहाणे का बचाव किया है. राहुल द्रविड़ ने कहा है कि जब कोई टीम भारतीय टीम की तरह जीत के क़रीब आने के बाद अक्सर इस तरह की बातों पर ध्यान जाता है. उन्होंने कहा कि अगर ख़राब रोशनी खेल में खलल डाले तो दिमाग तुरंत पारी की घोषणा से पहले भारत की आख़िरी साझेदारी पर जाता है. लेकिन उस दौरान लगभग तीन रन प्रति ओवर की रन गति के साथ 20 ओवर तक बल्लेबाज़ी की गई. उन्होंने कहा कि न्यूज़ीलैंड को खेल से बाहर करने के लिए वे रन काफी महत्वपूर्ण थे. उन्होंने कहा कि मुझे बिल्कुल नहीं लगता कि टीम ने ग़लत समय पर अपनी पारी घोषित की. पारी घोषित करने के बाद न्यूज़ीलैंड को लगभग तीन रन प्रति ओवर की दर से 284 रन बनाने थे.

Ind VS Nz Dravid :

उस समय तक तीनों परिणाम संभव थे

Ind VS Nz Dravid : इसके बाद द्रविड़ से ऋद्धिमान साहा और अक्षर पटेल की साझेदारी के स्लो होने पर भी सवाल पूछे गए. पत्रकारों ने कहा कि इससे भारत को अतिरिक्त आधे घंटे का समय मिल जाता. द्रविड़ ने कहा कि मुझे ऐसा नहीं लगता. उन्होंने कहा कि पारी घोषित होने के आधे घंटे पहले तक हम दबाव में थे और मुझे लग रहा था कि उस समय तक तीनों परिणाम संभव थे. द्रविड़ ने कहा कि अगर ईमानदारी से कहूं तो साहा ने एक मुश्किल समय में बढ़िया बल्लेबाज़ी की. उस समय उनकी गर्दन में दर्द था. अगर वह उस समय आउट हो गए होते तो न्यूज़ीलैंड को 2.2 या 2.3 के रन दर से 110 ओवरों में 240-50 रन बनाने की आवश्यकता होती.

इसे भी पढें- राजस्थान में जन्में ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल को कितनी मिलेगी सैलरी?

कोच ने बताया यहां बदला मैच

Ind VS Nz Dravid : कोच द्रविड़ ने बताया कि अगर अर्धशतकीय पारी खेलने वाले श्रेयस अय्यर का विकेट चाय से पहले नहीं गिरा होता तो हम एक अलग रणनीति के साथ बल्लेबाज़ी करते. द्रविड़ ने कहा कि हमने चाय से ठीक पहले श्रेयस को खो दिया. उस समय हमारी टीम का स्कोर सात विकेट के नुकसान पर 167 रन था और उस समय हम मुश्किल में थे. इसी विकेट के बाद मैच बदल गया.

इसे भी पढें-IPL 2022: केएल राहुल और राशिद खान पर रिटेंशन के बीच हो सकता है एक साल का बैन , जानिए क्यों

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पंजाब और उत्तराखंड का फर्क
पंजाब और उत्तराखंड का फर्क