nayaindia pm Modi talks to Olympic players : प्रधानमंत्री मोदी ने दीपिका कुमारी, नीरज चोपड़ा सहित कई खिलाड़ियों से की बात, कहा - किसी के अपेक्षाओं के दबाव में आने की जरूरत नहीं..
खेल समाचार | टोक्यो ओलंपिक्स | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| pm Modi talks to Olympic players : प्रधानमंत्री मोदी ने दीपिका कुमारी, नीरज चोपड़ा सहित कई खिलाड़ियों से की बात, कहा - किसी के अपेक्षाओं के दबाव में आने की जरूरत नहीं..

प्रधानमंत्री मोदी ने दीपिका कुमारी, नीरज चोपड़ा सहित कई खिलाड़ियों से की बात, कहा – किसी के अपेक्षाओं के दबाव में आने की जरूरत नहीं..

pm Modi talks to Olympic players

जल्द ही टोक्यो ओलंपिक का आयोजन होने जा रहा है। इके साथ कोरोना का खतरा भी बरकरार है। टोक्यों में कोरोना के मामले बढ़ने के कारण आपातकाल लगा दिया गया है। जो 22 जुलाई तक है। इसी बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाले भारतीय एथलीटों से मंगलवार को बातचीत की। पीएम मोदी ने देश के खिलाड़ियों को टोक्यो में मेडल जीतने के लिए शुभकामनाएं दी है। ( pm Modi talks to Olympic players )  पीएम मोदी ने दीपिका कुमारी, नीरज चोपड़ा, दुत्ती चंद, मैरीकॉम समेत कई खिलाड़ियों से बात की और उनके शुरुआती सफर के बारे में जाना।  पीएम मोदी ने खिलाड़ियों को यह भी कहा कि घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है पूरा देश उनके साथ खड़ा है और आपको किसी के अपेक्षाओं के दबाव में आने की जरूरत नहीं है।किसी के दबाव में आकर ना खेलें। पीएम मोदी ने सबसे पहले वर्ल्ड नंबर 1 तीरंदाज दीपिका कुमारी से बातचीत की।

pm Modi talks to Olympic players

also read: टोक्यो ओलंपिक में जिम्नास्टिक के जज बने पहले भारतीय दीपक काबरा, जिम्नास्टिक स्टार दीपा कर्माकर ने ट्वीट कर दी जानकारी

दीपिका ने आम से अपने सफर की शुरुआत की

पीएम मोदी ने दीपिका को पेरिस में गोल्ड मेडल जीतने पर बधाई दी। पीएम  मोदी ने कहा कि दीपिका पेरिस में गोल्ड जीतकर आपने भारत का नाम रोशन किया है। ( pm Modi talks to Olympic players ) अब रैंकिंग में दीपिका नंबर 1 हैं। मुझे पता चला कि आप बचपन में आम तोड़ने के लिए उस पर निशाना लगाती थीं। आम से शुरू हुई ये यात्रा बेहद खास और रोमांचक है। दीपिका ने मोदी जी को बताया कि उनका शुरुआती सफर बेहद कठिन रहा लेकिन सरकार और एसोसिएशन ने उन्हें आगे बढ़ाने में कोई काफी मदद की। दीपिका ने पीएम मोदी को बताया कि आम मेरा पसंदीदा फल रहा है। इसलिए बचपन से अपनी पसंदीदा चीज को पाने की कोशिश करती। आम पर निशाना लगाने से शुरुआती हुई तीरंदाजी के सफर की। शुरुआत में मेरे पास साधनों की कमी थी। लेकिन एक साल के बाद मुझे अच्छे कोच और सुविधाएं मिली। जिससे मेरा सफर आसान हो गया।

नीरज चोपड़ा बोले-ओलंपिक में सर्वश्रेष्ठ प्रर्दशन करूंगा ( pm Modi talks to Olympic players )

पीएम मोदी ने जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा  से उनकी चोट के बारे में पूछा। पीएम मोदी ने कहा कि चोट लगने के बाद भी नीरज चोपड़ा ने नेशनल रिकॉर्ड बनाकर ओलंपिक में मेडल की उम्मीद बढ़ाई हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आपका संबंध तो सेना से है। आपको चोट लग गई थी फिर भी आपने राष्ट्रीय रिकॉर्ड बना दिया। आपने अपने मनोबल को कैसे संभाले रखा?’ नीरज चोपड़ा ने कहा कि  मैं अपने खेल पर ध्यान दे रहा हूं। सेना और सरकार से मुझे पूरा समर्थन मिल रहा है। चोट तो खेल का हिस्सा है। ( pm Modi talks to Olympic players ) हमें मानसिक तौर पर इसके लिए तैयार रहना होता है। वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए मैंने तैयारी की थी लेकिन मुझे चोट लग गई। मेरा पूरा ध्यान ओलंपिक पर है और पहली प्रतियोगिता में मैंने टोक्यो के लिए क्वालिफाई किया। ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन की कोशिश रहेगी।

pm Modi talks to Olympic players

मैं आज जो भी हूं खेल की वजह से ही हूं – दुत्ती चंद

पीएम मोदी ने दुत्ती चंद से भी बातचीत की। दुत्ती चंद ने पीएम को बताया कि वो आज जो कुछ हैं खेल की वजह सी ही हैं। दुत्ती चंद ने कहा कि आज मैं स्पोर्ट्स की वजह से ही सबकुछ हूं। ( pm Modi talks to Olympic players ) स्पोर्ट्स की वजह से नौकरी मिली और मेरा परिवार चल रहा है। मैं आप लोगों को धन्यवाद देती हूं। मेरे जीवन में हमेशा चुनौती रही हैं और मैं दूसरी बार ओलंपिक जा रही हूं। मुझे भरोसा है कि महिलाएं आगे बढ़ती रहेंगी हमेशा और देश का नाम रोशन करेंगी। मैं देश के लिए मेडल लाने के लिए अपना बेहतर दूंगी।

प्रवीण जाधव ने बताई अपनी कहानी ( pm Modi talks to Olympic players )

तीरंदाज प्रवीण जाधव ने भी टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है। बता दें प्रवीण जाधव ने एथलीट के तौर पर अपना करियर शुरू किया था लेकिन बाद में वो तीरंदाज बन गए। ( pm Modi talks to Olympic players ) पीएम मोदी ने प्रवीण से उनकी कहानी जानी। प्रवीण ने कहा कि पहले मैं एथलीट था लेकिन मेरा शरीर कमजोर था। मुझे मेरे कोच ने कहा कि आप दूसरे खेल में अच्छा कर सकते हो। इसके बाद मुझे आर्चरी गेम दिया गया। मैंने अमरावती में काफी प्रैक्टिस की। चूंकि मैं गरीब था और मुझे लगा कि अगर मैंने मेहनत नहीं की तो घर जाकर मजदूरी करनी पड़ेगी। इससे अच्छा तो आर्चरी ही करूं। मैं कामयाब रहा. मैंने सोचा हार मान लूंगा तो सब खत्म हो जाएगा। इसलिए मैंने पूरी कोशिश की। पीएम मोदी ने प्रवीण के पिता से भी बातचीत की। पीएम ने कहा कि आपके माता-पिता भी मेरे लिए चैंपियन हैं. आपने बेटे को मजदूरी करते हुए भी चैंपियन बनाया। आपने दिखाया कि मेहनत और ईमानदारी की क्या ताकत होती है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

two × two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
उद्धव गुट को शिवाजी पार्क में रैली की मंजूरी
उद्धव गुट को शिवाजी पार्क में रैली की मंजूरी