Cricket England Female Coach : पुरुषों की टीम की कोच बनने वाली पहली महिला
खेल समाचार | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Cricket England Female Coach : पुरुषों की टीम की कोच बनने वाली पहली महिला

Cricket में बदलाव के संकेत… पुरुषों की टीम की कोच बनने वाली पहली महिला बनीं सारा टेलर’…

नई दिल्ली | Cricket England Female Coach : कहते हैं बदलाव दुनिया का सबसे बड़ा नियम है. यही कारण है कि समय-समय पर चीजों में बदलाव देखने को मिलता रहा है. क्रिकेट की बात करें तो पिछले चार से पांच दशकों में इसमें भी काफी परिवर्तन आया है. ऐसे में क्रिकेट के इतिहास में एक और बड़ा परिवर्तन इंग्लैंड में किया गया है. इंग्लैंड के लिए खेलने वाली पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सारा टेलर को पुरुषों के पेशेवर फ्रेंचाइजी में कोच बनाया गया है. यहां बता दें कि इसके पहले सारा इंग्लैंड मैं होने वाले पुरुष कांटी टीम सक्सेस की पहली विशेषज्ञ कोच रह चुकी हैं. अब एक बार फिर से उन्हें फ्रेंचाइजी क्रिकेट में यह पदभार सौंपा गया है.

Cricket England Female Coach :

अबुधाबी में होगा आयोजन

Cricket England Female Coach : बता दें कि सारा टेलर को जिस प्रतियोगिता के लिए सहायक कोच के पद पर नियुक्त किया गया है वह 19 नवंबर से शुरू होने वाली है. यह एक T10 क्रिकेट लीग होगी जो अपने आप में कई मायनों में अलग होगी. T20 World Cup ke आयोजन के ठीक बाद इसका आयोजन किया जाना है. ऐसे में सारा के कोच बनने के बाद देश-विदेश के कई पूर्व खिलाड़ियों ने उन्हें बधाई दी है. पूर्व खिलाड़ियों का कहना है कि इससे महिलाओं की खेल में रुचि बढ़ेगी और पहले से ज्यादा रुझान देखने को मिलेगा.

इसे भी पढ़ें –साड़ियों से वोटरों को लुभा रहे नीतीश के मंत्री, छठ के नाम पर पैसा : तेजस्वी

2019 में लिया था सन्यास

Cricket England Female Coach : सारा ने इंग्लैंड क्रिकेट से 2019 में सन्यास ले लिया था. उन्होंने अपने कैरियर में इंग्लैंड के लिए 10 टेस्ट मैच, 126 वनडे और 90 T20 नेशनल क्रिकेट में नेतृत्व किया है. कोच बनने के बाद टेलर ने कहा कि उन्हें खुशी है कि मुझे इस काबिल समझा गया. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि अब समय आ गया है कि पुरुष और महिलाओं के बीच की दीवार पूरी तरह से खत्म हो जानी चाहिए. सारा ने कहा कि आने वाले समय में ऐसा ही कुछ देखने को मिलने वाला है.

इसे भी पढ़ें-Pakistan Court ने कट्टरपंथियों को दिया झटका, कहा- लड़की की शादी के लिए उम्र सीमा लागू करना, इस्लाम के खिलाफ नहीं…

1 comment

  1. बहुत अच्छा प्रयास है.. यूं कहा जाए कि काफी सराहनीय प्रयास है. भारतीय क्रिकेट में भी ऐसे प्रयास किए जाने चाहिए.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
छत्तीसगढ़: सभी स्कूल—कालेजों में विद्यार्थियों की उपस्थिति पर रोक
छत्तीसगढ़: सभी स्कूल—कालेजों में विद्यार्थियों की उपस्थिति पर रोक