टी-20 में सलामी बल्लेबाज के लिए आक्रामक खेल जरूरी : धवन

नई दिल्ली। टी-20 क्रिकेट में शुरुआत के छह ओवर काफी अहम होते हैं क्योंकि दोनों टीमें यहां अच्छी शुरुआत पर नजरें जमाए बैठी रहती हैं।

धवन ने कहा एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर रणनीति यह होगी कि शुरुआती छह ओवरों में आक्रामक खेल खेला जाए।

मैं तेज खेलना पसंद करता हूं लेकिन अगर विकेट धीमी होती है या गेंद रुक कर आती है तो जाहिर सी बात है कि रणनीति में बदलाव करना पड़ता है।

अगर हम शुरू के छह ओवरों में 50-55 रन बनाने में सफल रह पाते हैं तो फिर मोमेंटम हमारी तरफ होता है।

नहीं तो मैं इस बात में विश्वास नहीं रखता कि सिर्फ एक बल्लेबाज को आक्रमण करना चाहिए।

मैंने अपने आप को इस तरह से तैयार किया है क्योंकि अगर मैंने अच्छा किया तो अच्छी चीजें लिखी जाएंगी

और नहीं किया तो अच्छा नहीं लिखा जाएगा। यह सफर है।

जब मैंने अपना करियर शुरू किया था तो मैंने भी यही सब देखा था लेकिन आप इसी तरह सीखते हैं।

भारत को हमेशा एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम वाली टीम के तौर पर देखा जाता था लेकिन हालिया दौर में

टीम के पास बेहतरीन गेंदबाज रहे हैं।

धवन को भी लगता है कि विदेशी जमीन पर भारत की जीत का अहम कारण गेंदबाजी भी रही है।

सीमित ओवरों में धवन बेशक टीम का अहम हिस्सा हैं लेकिन टेस्ट में खराब फॉर्म के कारण

उन्हें टीम से बाहर जाना पड़ा है,

लेकिन धवन खेल के लंबे प्रारूप में वापसी के लिए बेकरार हैं।

उन्होंने कहा जाहिर सी बात है कि मैं वापसी करना चाहता हूं।

मैं हमेशा टेस्ट क्रिकेट के लिए तैयार रहता हूं और जब मुझे मौका (घरेलू क्रिकेट में खेलने) मिलता है

तो मैं खेलता हूं। मैं जब फ्री रहूंगा तो मैं रणजी ट्रॉफी खेलूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares