मिथुन की हैट्रिक, कर्नाटक बना विजय हजारे चैम्पियन - Naya India
खेल समाचार| नया इंडिया|

मिथुन की हैट्रिक, कर्नाटक बना विजय हजारे चैम्पियन

बेंगलुरु। तेज गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन ने अपने 30वें जन्मदिन को यादगार बनाते हुए विजय हजारे एकदिवसीय ट्राफी के फाइनल में शुक्रवार को यहां तमिलनाडु के खिलाफ हैट्रिक सहित पांच विकेट चटकाये जिससे कर्नाटक इसका चैम्पियन बना। कर्नाटक ने बारिश से प्रभावित मैच में वीजेडी प्रणाली से तमिलनाडु को 60 रन से हराकर चौथी बार खिताब हासिल किया।

कर्नाटक की टीम इससे पहले 2013-14, 2014-15 और 2017-18 में चैम्पियन बनी थी। मिथुन ने 34 रन देकर पांच विकेट चटकाए जिससे तमिलनाडु की पारी 49.5 ओवर में 252 रन पर सिमट गयी। मिथुन ने 50वें ओवर की तीसरी , चौथी और पांचवीं गेंद पर शाहरुख खान, एम मोहम्मद और मुरुगन अश्विन के विकेट लेकर हैट्रिक पूरी की। पांच बार के चैम्पियन तमिलनाडु के लिए अभिनव मुकुंद ने 85 और बाबा अपराजित ने 66 रन बनाये। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 124 रन की साझेदारी की। विजय शंकर (38) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहे। शाहरुख ने भी 27 रनों का योगदान दिया। कर्नाटक ने लक्ष्य का पीछा करते हुए तेजी से बल्लेबाजी की। टीम ने जब 23 ओवर में एक विकेट पर 146 रन बनाये तब बारिश के कारण खेल रोकना पड़ा। सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल 52 और मयंक अग्रवाल 69 रन पर नाबाद थे। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 112 रन की अटूट साझेदारी की।

इस दौरान भारतीय टेस्ट टीम के सलामी बल्लेबाज अग्रवाल ज्यादा आक्रामक रहे जिन्होंने 55 गेंद की नाबाद पारी में तीन छक्के और सात चौके लगाये। राहुल ने 72 गेंद की पारी में पांच बार गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेजा। लगभग 40 मिनट तक बारिश नहीं रूकने के बाद अंपायरों ने मैच को यही समाप्त कर दिया। उस समय कर्नाटक बीजेडी प्रणाली से तमिलनाडु से 60 रन आगे था। एमएसके प्रसाद की अगुवाई वाली राष्ट्रीय चयन समिति ने बांग्लादेश के खिलाफ टी20 श्रृंखला के लिए राहुल का टीम में चयन किया है। राहुल ने विजय हजारे के सेमीफाइनल और फाइनल में विकेटकीपर की भूमिका भी निभाई। टीम में ऋषभ पंत और संजू सैमसन जैसे विशेषज्ञ विकेटकीपरों का भी चयन हुआ है।

ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या लोकेश राहुल टीम में वैसी भूमिका निभा पायेंगे जैसी राहुल द्रविड ने 1999 विश्व कप और फिर सौरव गांगुली की कप्तानी में 2002 से एकदिवसीय में नियमित विकेटकीपर बल्लेबाज की भूमिका निभाई थी। जीत के बाद कर्नाटक के कप्तान मनीष पांडे ने कहा हम इस नतीजे से खुश हैं। टीम में खिलाड़ियों की मानसिकता हर परिस्थिति में जीत दर्ज करने की थी। उम्मीद है हम अच्छा प्रदर्शन जारी रखेंगे। तमिलनाडु के कप्तान दिनेश कार्तिक ने भी टूर्नामेंट में टीम के प्रदर्शन पर संतुष्टि जताते हुए कहा मुझे लगता है हमने शानदार क्रिकेट खेली। एक दिन खराब खेलने से टीम कमजोर नहीं होती। इससे टी20 टूर्नामेंट और रणजी ट्राफी के लिए आत्मविश्वास बढ़ेगा।

इसे भी पढ़ें : विजय हजारे ट्रॉफी : तमिलनाडु 252 पर ऑल आउट

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *