विश्व कप-2003 में तेंदुलकर की 98 रनों की पारी उनकी सर्वश्रेष्ठ : इंजमाम

नई दिल्ली। इंजमाम उल हक को लगता है कि सचिन तेंदुलकर द्वारा 2003 विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेली गई 98 रनों की पारी महान बल्लेबाज के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक है।

सचिन ने दक्षिण अफ्रीका के सेंचुरियन में एक मार्च 2003 को पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए विश्व कप के ग्रुप मैच में 98 रन बनाए थे। पाकिस्तान ने भारत को 274 रनों का लक्ष्य दिया था जिसे भारत ने हासिल कर लिया था।

इंजमाम ने भारत के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के यूट्यूब शो ‘डीआरएस विद एश’ में कहा, “मैंने सचिन को काफी खेलते हुए देखा है, लेकिन उन्होंने जिस तरह से उस मैच में बल्लेबाजी की मैंने वो पहले कभी नहीं देखी। उन परिस्थितियों में उन्होंने जिस तरह से हमारे गेंदबाजों का सामना किया वो बेहतरीन था। मुझे लगता है कि शोएब अख्तर की गेंद पर आउट होने से पहले उन्होंने 98 रन बनाए थे।

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह सचिन की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक थी। उन्होंने जो दबाव था उसे हटा दिया था। उन्होंने हमारे शीर्ष स्तर के तेज गेंदबाजी आक्रमण के सामने बेहतरीन पारी खेली थी। उन्होंने जिस तरह से वो बाउंड्रीज मारी थीं उसने आने वाले बल्लेबाजों पर से दबाव हटा दिया था। अगर कोई सचिन से पूछेगा तो निश्चित तौर पर वह उस पारी को पसंदीदा बताएंगे।

इंजमाम ने कहा कि 273 रन बनाने के बाद पाकिस्तान को जीत का भरोसा था क्योंकि उनके पास वसीम अकरम, वकार यूनिस और अख्तर जैसे गेंदबाज थे।

उन्होंने कहा, “हमारे गेंदबाजी आक्रमण में अकरम, यूनिस, अख्तर थे और जिस तरह के हालात थे वो तेज गेंदबाजों के मुफीद थे। मैच सेंचुरियन में खेला गया था इसलिए हमें लगा था कि हमने अच्छा स्कोर बनाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares