रैना और धोनी के बीच कमरे को लेकर हुआ था विवाद!

नई दिल्ली। आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के स्टार बल्लेबाज सुरेश रैना के अचानक दुबई से स्वदेश लौटने के पीछे पहले निजी कारण बताया जा रहा था लेकिन अब इस मामले में एक नया एंगल सामने आ रहा है कि रैना दुबई में उन्हें होटल में मिले कमरे से नाराज थे और इसे लेकर उनकी कप्तान महेंद्र सिंह से कहा-सुनी भी हो गयी थी।

रैना के अचानक स्वदेश लौटने पर चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के मालिक और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने भी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा है कि रैना दुबई पहुंचने के बाद से ही अलग-अलग बातों के लिए शिकायत करते रहे थे। हालांकि कप्तान धोनी ने श्रीनिवासन को भरोसा दिलाया है कि टीम में कोई परेशानी नहीं है और सब कुछ नियंत्रण में है।

चेन्नई टीम के दुबई पहुंचने के बाद से इस टीम के लिए कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। टीम के दो खिलाड़ियों सहित 13 सदस्य कोरोना से संक्रमित होने के बाद आइसोलेशन में चले गए हैं जबकि टीम का शुक्रवार से शुरू होने वाल अभ्यास सत्र एक सितम्बर तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। टीम का कोरोना का संकट अभी टला भी नहीं था कि रैना के स्वदेश लौटने की खबर ने सबको हैरत में डाल दिया। रैना के लौटने के पीछे पहले निजी कारण बताया गया था और टीम के सीईओ काशी विश्वनाथन ने भी ट्वीट कर लौटने को निजी कारण बताया था लेकिन इस बीच यह बात भी सामने आयी कि 19-20 अगस्त की रात को पंजाब के पठानकोट के थरियाल गांव में जिस सरकारी ठेकेदार की हत्या कर घर में लूटपाट की गई थी, वह क्रिकेटर सुरेश रैना के फूफा अशोक कुमार (58) थे। रैना को इसी पारिवारिक जरूरत के कारण स्वदेश लौटना पड़ा।

इस बीच यह खबर भी आई कि रैना ने कहा है कि उनके लिए बच्चों की सेहत सबसे बड़ी प्राथमिकता है और सीएसके में अचानक कोविड-19 पॉजिटिव केस आने के बाद वह थोड़ा घबरा गए और उन्होंने स्वदेश लौटने का फैसला लिया। लेकिन अब सबसे बड़ा एंगल सामने आ रहा है कि दुबई में होटल में रैना को जो कमरा मिला था उसमें बालकनी नहीं थी जबकि कप्तान धोनी को बालकनी वाला कमरा दिया गया था। इसे लेकर उनकी धोनी के साथ कहासुनी भी हुई थी।

श्रीनिवासन ने आउटलुक को दिए इंटरव्यू में खुद यह बात कही है और साथ ही कहा है कि क्रिकेटर्स खुद को आत्मदंभी समझने लगे हैं। उन्होंने कहा, “क्रिकेटर्स खुद को आत्मदंभी समझने लगे हैं, जैसे पिछले जमाने में नखरा करने वाले ऐक्टर होते थे। सीएसके हमेशा से एक परिवार की तरह रहा है और सभी सीनियर क्रिकेटरों ने इसमें रहना सीखा है। मेरी सोच है कि अगर आप किसी बात पर अड़े हैं या किसी बात से नाखुश हैं, तो वापस जाइए। मैं किसी को कुछ करने के लिए मजबूर नहीं करता। कभी-कभी कामयाबी आपके सिर पर चढ़ जाती है। टीम मालिक ने कहा कि कप्तान धोनी ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए खिलाड़ी जल्द रिकवर कर रहे हैं।

श्रीनिवासन ने साथ ही कहा कि रैना को भी समझ आएगा कि वह क्या खो रहे हैं, खासकर पैसे को लेकर। रैना चेन्नई टीम में रिटेन किये जाने वाले दूसरे खिलाड़ी थे। आईपीएल की रिटेन किये जाने वाले खिलाड़ियों की नीति के अनुसार पहले रिटेन किये गए खिलाड़ी को 15 करोड़ रुपये और दूसरे रिटेन किये गए खिलाड़ी को 11 करोड़ रुपये मिलने हैं। धोनी रिटेन किये जाने वाले पहले खिलाड़ी थे और उन्हें 15 करोड़ रुपये मिलने हैं जबकि रैना को 11 करोड़ रुपये मिलने हैं। श्रीनिवासन का पैसे के लिए इशारा इसी 11 करोड़ रुपये की तरफ है।

उन्होंने कहा, “मैंने धोनी से बात की है और उन्होंने मुझसे कहा है कि अगर और खिलाड़ी भी कोविड-19 पॉजिटिव पाए जाते हैं, तो भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने जूम कॉल के जरिए खिलाड़ियों से बात की और सबसे सुरक्षित रहने के लिए कहा है, आपको नहीं पता कि कौन पैसिव कैरियर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares