Corona : Social Media पर हेल्पलाइन नम्बरों की भरमार, जानें कितने मददगार

Must Read

नई दिल्ली | देशभर में कोरोना महामारी ने एक विकराल रूप ले रखा है, ऐसे में सोशल मीडिया (Social Media) पर मदद की गुहार और मदद करने वाले लोगों की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है। रेमडेसिविर इंजेक्शन, (Remedicivir Injection) प्लाज्मा या फिर ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) का इंतजाम झट्ट से कर देने वालों के नम्बर सोशल मीडिया पर मानों ऐसे घूम रहे हैं, जैसे कि लॉटरी की कोई टिकट।

दरअसल सोशल मीडिया (Social Media) पर लोग कई हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number) पोस्ट कर रहे हैं और फॉरवर्ड भी कर रहे हैं। हालांकि जिन लोगों के अपने इस महामारी से जूझ रहे हैं, वह नम्बरों को देख खुश हो जाते हैं और नम्बर मिलाना शुरू कर देते हैं। लेकिन नम्बर (Number) या तो व्यस्त बताता है, लगेगा नहीं या तो बंद जाता है।

इसे भी पढ़ें – Corona Update : आपको भी ये जानकर आ जाएगा गुस्सा ! जानें, देश में क्यों हो गई आक्सीजन की कमी

इन नम्बरों के साथ कुछ लाइन जरूर लिखी होती हैं, जिनमें किसी भी हॉस्पिटल में बेड का इंतजाम, रेमडेसिविर का इंजेक्शन, प्लाज्मा (Plasma) डोनर और ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Cylinder) चाहिए तो कॉल कर आप सुविधा ले सकते हैं। हालांकि लोग इन नम्बरों को बिना मिलाए आगे फॉरवर्ड करते जा रहे हैं, जिसके कारण इन नम्बरों की भरमार हो चुकी है। वहीं इन नम्बरों की वजह से सही नम्बरों पर लोग बात नहीं कर पा रहे हैं।

हमने भी इन नम्बरों पर कॉल कर इनकी पुष्टि करने की कोशिश की और ये जानना चाहा कि क्या ये नम्बर वाकई में मददगार हैं या नहीं ? फॉरवर्ड मैसेज के अनुसार दिल्ली स्थित लॉरेंस रोड पर इंजेक्शन उपलब्ध हैं, इसके बाद हमने मैसेज पर छपे नम्बर पर कॉल किया, कई बार कॉल करने पर पहले तो उठाया नहीं गया, वहीं कुछ वक्त बाद ये नम्बर व्यस्त बताने लगा। इसके बाद हमने एक और दूसरे नम्बर पर कॉल किया जो की बंद बताता रहा। हालांकि ट्र कॉलर पर ये नम्बर आंध्र प्रदेश का दर्शा रहा है।

इसे भी पढ़ें – टेस्ला India में इलेक्ट्रिक कारों के उद्योग को देगा मजबूती, बेंगलुरु में कार्यालय पंजीकृत

हमने दूसरे फॉरवर्ड मैसेज के नम्बर को मिलाया, जिसमें लिखा था कि दिल्ली में रेमडेसिवर इंजेक्शन के लिए मिलाएं, जब हमने इस नम्बर पर मिलाया तो व्यस्त बताने लगा, फिर थोड़ी देर बाद कोशिश की तो भी व्यस्त बताता रहा, वहीं उधर से किसी शख्स ने नम्बर काट दिया। अगले फॉरवर्ड मैसेज में प्लाज्मा (Plasma) प्राप्त करने के लिए केएबी वेलफेयर फाउंडेशन नामक एक संस्था का नंबर दिया हुआ था, जो कि बंद बता रहा था। उसी मैसेज में डीवाईएफआई दिल्ली कर एक नम्बर दिया हुआ था। हालांकि वह भी बंद जा रहा था।

इसी तरह कई अन्य फॉरवर्ड मैसेज इस वक्त व्हाट्सएप, ट्विटर या फेसबुक पर घूम रहे हैं, नम्बर या तो बंद जा रहे थे या नम्बर लग नहीं रहे थे। हालांकि न जाने कितने अनजान लोग इन नम्बरों को फॉरवर्ड कर आगे पहुंचा रहे हैं, लेकिन उन्हें ये मालूम की नहीं की ये नम्बर फर्जी भी हो सकते हैं। दरअसल सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने कोरोना संक्रमित गम्भीर मरीजों की मदद की, जिसके बाद ये ट्रेंड शुरू हुआ और लोग जमकर मददगार बनने लगे। जिसके कारण हर दूसरा शख्श मरीजों के मदद के लिए आगे आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें – विमानन क्षेत्र पर दिखा Corona का असर, हवाई यात्रियों की संख्या में आई गिरावट

सिप्ला नामक कंपनी के नाम से एक मैसेज भी वायरल हो रहा है जिसमें लिखा गया है कि रेमडेसिवर इंजेक्शन के लिए यहां संपर्क कर सकते हैं। यह नंवर तो सही है लेकिन इसमें कॉल करने पर प्री रिकॉर्डेड मैसेज सुनाई देता है। इसमें कहा जाता है कि, दवाई 4-5 दिन में उपलब्ध हो सकती है और हम हर कॉल को रजिस्टर कर रहे हैं और जब भी दवाई की उपलब्धता होगी तो संपर्क करेंगे। फिलहाल सोशल मीडिया (Social Media) पर घूम रहे कई नम्बरों पर हमने संपर्क करने की कोशिश की लेकिन एक भी नम्बर ऐसा नहीं मिला जिसपर बात हो सके।

 

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

कैसा होगा ‘मोदी मंत्रिमंडल’ का फेरबदल?

बीजेपी हर हालत में उत्तर प्रदेश का चुनाव दोबारा जीतना चाहेगी। लिहाज़ा उत्तर प्रदेश से कुछ चेहरों को ख़ास...

More Articles Like This