• [EDITED BY : Edit Team] PUBLISH DATE: ; 05 August, 2019 06:25 AM | Total Read Count 97
  • Tweet
आर्थिक पायदान पर पिछड़ना

कहां बात अर्थव्यवस्था को नए मुकाम पर ले जाने की थी और अब हकीकत यह है कि जो दर्जा मिल गया था, वह भी हाथ से चला गया। विश्व बैंक की एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक भारत विश्व जीडीपी रैंकिंग 2018 में छट्ठे स्थान से फिसल कर 7वें पायदान पर आ गया है। 2017 में भारत विश्व की छट्ठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था उभर कर सामने आया था। लेकिन अब तस्वीर बदल गई है। अब ब्रिटेन इस रैंकिंग में 5वें स्थान पर है, और फ्रांस 6वें स्थान पर पहुंच चुका है। अमेरिका का पहला स्थान बरकरार है। अमेरिका की अर्थव्यवस्था 20.5 खरब डॉलर की है। इसके बाद चीन दूसरे पायदान पर है। चीन की जीडीपी 13.6 खरब डॉलर की है। जापान 5 खरब डॉलर के साथ तीसरे स्थान पर है। 2018 में भारत का जीडीपी 2.7 खरब डॉलर की थी, जबकि ब्रिटेन और फ्रांस की अर्थव्यवस्था 2.8 ट्रिलियन डॉलर की रही। अर्थशास्त्रियों का कहना है कि भारत का 7वें पायदान पर पहुंचने की मुख्य वजह मुद्रा में अस्थिरता और अर्थव्यवस्था में मंदी होना है। 2017 में डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत हुआ था। इसके अगले साल 2018 में डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर हुआ। यह मुख्य रूप से मुद्रा में अस्थिरता और मंदी की वजह से हुआ। इस वित्तीय वर्ष में अनुमान है कि भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि 7 फीसदी के आसपास रहेगी।

उधर अमेरिका के चीन के साथ व्यापार युद्ध के चलते चीन की अर्थव्यवस्था में भी सुस्ती रहने का अनुमान है। गौरतलब है कि भारत सरकार 2024-25 तक भारत की अर्थव्यवस्था को 5 खरब डॉलर का करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। 2018-19 के आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया कि इसके लिए देश की अर्थव्यवस्था को 8 फीसदी के जीडीपी के साथ लगातार बढ़ना होगा। मगर इस वित्तीय वर्ष भारत की अर्थव्यवस्था के 7 फीसदी के दर से ही बढ़ने का अनुमान है। बल्कि रेटिंग एजेंसी क्राइसिल ने चालू वित्त वर्ष में देश की आर्थिक वृद्धि दर के अपने अनुमान को 0.20 प्रतिशत घटा कर 6.9 प्रतिशत कर दिया है। रेटिंग एजेंसी ने सुस्त वैश्विक वृद्धि, घट रहे उपभोग, कमजोर निजी निवेश और औसत से नीचे के मानसून के देखते हुए यह संशोधन किया है। क्राइसिल के मुताबिक नई नीतिगत पहलों, सुधारों में अऩिश्चय और व्यापार विवाद जैसी समस्याओं के कारण आर्थिक क्षितिज पर अनिश्चितता बढ़ रही है। ऐसे में भारत की आर्थिक समृद्धि का रास्ता कठिन ही दिखता है। 

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories