• [EDITED BY : Edit Team] PUBLISH DATE: ; 02 July, 2019 11:56 PM | Total Read Count 134
  • Tweet
ये सिलसिला कहां थमेगा?

अब नगालैंड सरकार अपना नागरिक रजिस्टर लागू करेगी। यानी असम के राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) की तर्ज पर राज्य में अवैध ढंग से रह रहे नागरिकों का पता लगाने के लिए नगालैंड अपना नागरिक रजिस्टर तैयार करेगा। इसके लिए अधिसूचना जारी कर दी गई है। ‘नगालैंड के स्थानीय निवासी रजिस्टर’ नाम से बनने वाले इस रजिस्टर का मकसद नगालैंड के स्थानीय निवासियों की सूची तैयार करने के साथ-साथ अवैध ढंग से रह रहे लोगों के निवास प्रमाण-पत्रों की जांच करना है। इसके लिए आधिकारिक टीमें 10 जुलाई से हर एक गांव और वार्ड में जाकर काम करेंगी। इसी महीने के आखिर में असम एनआरसी की अपनी अंतिम सूची प्रकाशित करेगा। नगालैंड में इस रजिस्टर को तैयार करने का काम गृह विभाग के कमिश्नर की देख-रेख में महज दो महीने के भीतर पूरा किया जाना है। सरकारी अधिकारियों के मुताबिक रजिस्टर की सूची नगालैंड के स्थानीय निवासियों पर सर्वेक्षण करने के बाद तैयार की जाएगी। हर गांव और हर वार्ड में रहने वाले वाले लोगों के आधिकारिक रिकॉर्ड के आधार पर सूची तैयार की जाएगी। यह काम जिलाधिकारी की देख-रेख में होगा। इस मामले में राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि सभी डिप्टी कमिश्नरों को यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि अधिसूचना जारी होने के हफ्ते के भीतर सभी टीमों को गठित किया जाए। गठित टीमों के बारे में जानकारी सार्वजनिक करने और इसकी जानकारी ग्राम सभा अध्यक्षों, ग्राम विकास बोर्ड सचिवों, वार्ड अधिकारों और गैर-सरकारी संगठनों, ट्राइबल महासभा आदि को देने की बात भी कही।

सर्वेक्षण के लिए गई टीमों को निर्देश दिया गया है कि वे प्रत्येक घर में जाकर वहां रह रहे लोगों की सूची तैयार करें। प्रत्येक परिवार के सदस्यों को उनके मूल निवास के गांव में सूचीबद्ध किया जाएगा। किसी दूसरी जगह रहने वाले व्यक्ति के नाम का उल्लेख करना भी जरूरी होगा। सूची में ‘स्थायी निवास’ और ‘वर्तमान निवास’ का उल्लेख होगा। इसके साथ-साथ आधार नंबर को रिकॉर्ड किया जाएगा। सर्वेक्षण पूरा होने के बाद यह सूची प्रत्येक गांव और वार्ड में प्रकाशित की जाएगी। जिला प्रशासन की निगरानी में इसे ग्राम और वार्ड अधिकारी प्रमाणित करेंगे। हर सूची पर उससे जुड़ी टीम को हस्ताक्षर करना होगा। साथ ही ग्राम और वार्ड अधिकारियों को भी हस्ताक्षर करना होगा। अब सवाल है कि ऐसा ही हर राज्य में होने लगा तो ये सिलसिला कहां तक जाएगा? आखिर ये देश किस तरफ जा रहा है?

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories