• [EDITED BY : Editorial Team] PUBLISH DATE: ; 09 August, 2019 06:14 AM | Total Read Count 161
  • Tweet
अंधाधुंध गोलीबारी क्यों?

पिछले हफ्ते अमेरिका फिर नफरत प्रेरित गोलीबारी से दहला। एक ही दिन में हुई दो ऐसी घटनाओं में 29 लोग मारे गए। दरअसल, अमेरिका में इस साल अब तक अंधाधुंध गोलीबारी की 255 घटनाएं हो चुकी हैं। राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने इसके लिए मुख्यतः मानसिक बीमारी या फिर वीडियो गेम को दोषी ठहराया है। लेकिन इस हिंसा की वजह इन्हें ही नहीं माना जा सकता। दरअसल, गोलीबारी करने वाले सभी लोगों में मानसिक बीमारी के लक्षण नहीं दिखे हैं। ना ही सारे हमलावर हिंसक वीडियो गेम खेलते थे। अनेक विश्लेषकों ने एक और कारण की ओर ध्यान दिलाया है। वह है अमेरिकी में आसानी बंदूक हासिल करने की सुविधा। जबकि ट्रंप ने अपने बयान में कहा कि हमें हमारे समाज में हिंसा को महिमामंडित करने पर रोक जरूर लगाना चाहिए। इसमें भीषण और भयानक हिंसा वाले वीडियो गेम भी शामिल हैं, जो आज कल आम हैं। यह बात सच है कि कुछ हमलावर हिंसक वीडियो गेम के बड़े शौकीन रहे हैं। मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि वीडियो गेम से असली हमलों का कोई संबंध नहीं है। दुनिया भर में लाखों लोग इस तरह के वीडियो गेम खेलते हैं, लेकिन वो जन संहारक नहीं बन जाते। मतलब यह कि जन संहार की घटनाओं में हिंसक वीडियोगेम की भूमिका नहीं होती। डोनल्ड ट्रंप ने गोलीबारी को मानसिक रूप से बीमार लोगों से भी जोड़ा है। उनका कहना है कि मानसिक बीमारी और नफरत की वजह से यह होता है, बंदूकों की वजह से नहीं। कुछ मामलों में ऐसा होने के संकेत भी रहे हैं।

मनोचिकित्सकों का कहना है कि ताजा घटना को देखते हुए कहा जा सकता है कि अगर कोई बाहर जा कर कुछ अनजान लोगों की हत्या कर देता है, तो यह कोई स्वस्थ मानसिकता वाले इंसान की करतूत नहीं कही जाएगी। अमेरिका में एक करोड़ से ज्यादा लोग हैं, जिन्हें गंभीर मानसिक बीमारी है। कुछ हमलों को बंटवारे की राजनीति से भी जोड़ कर देखा जाता है, खास तौर से ऐसी राजनीति जो ऑनलाइन खेली जाती है। पिछले शनिवार को टेक्सस में हमला करने वाले 21 साल के पैट्रिक क्रूसियर ने एक मैनिफेस्टो जारी किया था, जिसमें मेक्सिको के हिस्पानियाई आक्रमण को निशाना बनाया गया था। डोनल्ड ट्रंप की राजनीतिक विचारधारा भी इससे मेल खाती है। जबकि सभी हमलों में एक सामान्य बात जरूर नजर आती है और वह है बड़ी मैगजीन वाली बंदूकों का आसानी से उपलब्ध होना। मगर ट्रंप इस पर ध्यान नहीं जाने देना चाहते। 

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories