• [WRITTEN BY : Editorial Team] PUBLISH DATE: ; 03 September, 2019 06:38 AM | Total Read Count 206
  • Tweet
एंटीबायोटिक्स दुरुपयोग का खतरा

एंटीबायोटिक्स के दुरुपयोग की शिकायत नई नहीं है। लेकिन अब ये बुराई खतरनाक सीमा तक पहुंच रही है। अब ब्रिटेन के चिकित्सा अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि एंटीबायोटिक दवाओं का बढ़ता उपयोग मानव अस्तित्व के लिए बड़ा खतरा पैदा कर सकता है। अगर एंटीबायोटिक का इस्तेमाल कम नहीं किया गया, तो दुनिया भर में कम से कम दस लाख लोग हर साल मर सकते हैं। 1940 के दशक में पेनिसिनिल की खोज से एंटीबायोटिक युग की शुरुआत हुई थी। उससे हमेशा के लिए चिकित्सीय दवाओं में क्रांति ला दी। एंटीबायोटिक बैक्टीरिया के संक्रमण से लड़ने में सक्षम हैं। लेकिन अब खतरनाक बैक्टीरिया तेजी से एंटीबायोटिक्स के प्रतिरोध की क्षमता से लैस होते जा रहे हैं। पिछले 20 सालों में एंटीबायोटिक दवाओं की खपत में बहुत तेजी से वृद्धि हुई है। ब्रिटेन की एनएचएस सेवा ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 2000 से 2015 के बीच दुनिया भर के 76 देशों में लगभग 65 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। अधिक मात्रा में लिए गए एंटीबायोटिक्स का मानव शरीर के लिए गंभीर परिणाम हो सकते हैं। एक समय बाद ये दवाएं बीमारी से लड़ने में बेअसर हो जाती हैं। जानकारों का कहना है कि एंटीबायोटिक प्रतिरोध बहुत बड़ा खतरा है। अगर इसका कोई निवारण नहीं निकला, तो कम से कम दस लाख लोग हर साल मर सकते हैं। यह मधुमेह और कैंसर से होने वाली मौतों की तुलना में अधिक है। इसलिए यह हम सबके लिए गंभीर मुद्दा है। अमेरिकी गायों में ग्रोथ हॉर्मोन्स का इस्तेमाल किए जाने के बाद यूरोपीय संघ ने अपने देशों में आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है, क्योंकि इनसे एंटीबायोटिक प्रतिरोध बढ़ने की आशंका बन गई है। 

खाद्य और औषधि प्रशासन के अनुसार अमेरिका में सभी एंटीबायोटिक दवाओं का 70 फीसदी सेवन खेतों में जानवर करते हैं। खेती पर सख्त यूरोपीय संघ के नियमों के कारण ब्रिटेन के पशुपालन क्षेत्र में एंटीबायोटिक के उपयोग में कमी आई है। इसमें मुर्गियों में एंटीबायोटिक के उपयोग में गिरावट भी शामिल हैं। ब्रिटेन में जैविक किसानों को निवारक उपयोग के तौर पर एंटीबायोटिक दवाओं के उपयोग करने पर पाबंदी है। भारत जैसे देशों को भी अब इस समस्या पर ध्यान देना होगा। दरअसल, संक्रामक रोगों का ज्यादा खतरा विकासशील देशों में ही है, जहां प्रदूषण एवं आम गंदगी अधिक है। इन देशों को इस समस्या को अधिक गंभीरता से लेना चाहिए। 

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories