• [WRITTEN BY : Editorial Team] PUBLISH DATE: ; 28 August, 2019 08:25 AM | Total Read Count 147
  • Tweet
असहमतियों का शिकार जी-7

जी-7 के नेता इस बार फ्रांस के बियरिट्स में मिले। यहां वही कहानी दोहराई गई जो हाल के जी-7 शिखर सम्मेलनों में रही है। दरअसल, व्यापार, जलवायु परिवर्तन, ब्रेक्जिट या फिर चीन, ईरान और रूस के साथ संबंध, जी-7 देश किसी भी मुद्दे पर एकमत नहीं है। हकीकत यह है कि हाल के दशकों में शायद ही कभी ऐसी स्थिति बनी, जब पश्चिमी देश आपस में इतने बंटे हुए नजर आए हों। जी-7 के अमीर सदस्य देशों की इन सब मुद्दों पर राय इतनी अलग-अलग है कि अब इस समूह के भविष्य को लेकर आशंका जताई जा रही है। इस सम्मेलन में शायद ऐसा पहली बार हुआ कि 1975 के बाद से सम्मेलन बिना किसी संयुक्त बयान के खत्म हो जाए। मेजबान देश फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल माक्रों ने शुरू से ही जलवायु परिवर्तन और ब्राजील में अमेजन के जंगलों के जलने को मुख्य मुद्दा बनाने की कोशिश की। मगर पर्यावरण समेत कई और मुद्दों से अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप बिल्कुल इत्तेफाक नहीं रखते।

चीन के साथ व्यापारिक युद्ध में लगे हुए ट्रंप यूरोपीय संघ और बाकियों से होने वाले आयात पर शुल्क लगाने का विचार व्यक्त कर चुके हैं। इसके अलावा जी-7 के साथ रूस को फिर से शामिल करने के उनके उपाय को बाकी सदस्यों का विरोध झेलना पड़ा। यूक्रेन से क्रीमिया को अलग किए जाने के कदम के बाद रूस को जी-8 से बाहर निकाल दिया गया था। फ्रांस में माक्रों ने अमेरिकी टेक कंपनियों पर जो नए टैक्स लगाए हैं उनसे ट्रंप नाखुश हैं। इसका बदला देने के लिए ट्रंप फ्रेंच वाइन के निर्यात को निशाना बनाने की बात कह चुके हैं। ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का ये पहला जी-7 सम्मेलन है। जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल और माक्रों से इससे पहले हुईं जॉनसन की मुलाकातें बहुत सफल नही रही हैं। जॉनसन की अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से दोस्ताना बातचीत हुई। लेकिन ब्रिटेन भी अमेरिकी कंपनियों पर डिजिटल टैक्स लगाना चाहता है और रूस के मुद्दे पर बाकी यूरोप जैसी सोच रखता है। ऐसे में ट्रंप से दोस्ती गहराने की उम्मीदें काफी कमजोर हैं। ट्रंप चाहते हैं कि बाकी देश उनके नक्शेकदम पर चल कर वैश्विक अर्थव्यवस्था से जु़ड़ी समस्याओं से बचने की कोशिश करें। हालांकि ऐसा होना संभव है, इसको लेकर विशेषज्ञों में मतभेद है। फिलहाल, ट्रंप की वजह से फिलहाल जी-7 भी मतभेदों का शिकार हो गया है। 

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories