• [EDITED BY : Awdhesh Kumar] PUBLISH DATE: ; 16 August, 2019 08:17 PM | Total Read Count 101
  • Tweet
बर्फ के साथ आसमान से बरसते हैं प्लास्टिक कण

बर्लिन। एक अध्ययन में सामने आया है कि प्लास्टिक के अति सूक्ष्म कण आर्कटिक और आल्पस जैसे सुदूर क्षेत्रों में भी बर्फ के साथ आसमान से बरसते हैं। पिछले कई सालों से समुद्र के पानी में, पेयजल में और यहां तक जानवरों में भी लगातार प्लास्टिक के अति सूक्ष्म कणों का पता चल रहा था।  लेकिन अब जर्मनी के अल्फ्रेड वेगेनर इंस्टीट्यूट के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया है कि प्लास्टिक के अति सूक्ष्म कण वायुमंडल के माध्यम से बहुत ही लंबी दूरी तय कर लेते हैं और बाद में वर्षा खासकर बर्फ के माध्यम से आसमान से नीचे आ जाते हैं।

हेल्गो,बावरिया, ब्रीमेन, स्विटरजरलैंड के आल्पस और आर्कटिक क्षेत्रों के बर्फ के नमूनों पर किये गये इस अध्ययन से इस बात की पुष्टि हुई है कि बर्फ के इन नमूनों में प्लास्टिक के अति सूक्ष्म कणों की उच्च मात्रा है। यहां तक आर्कटिक के सुदूर क्षेत्रों, स्वालबार्ड के द्वीप और तैरते बर्फ के चट्टान में भी प्लास्टिक के अति सूक्ष्मकण थे। साइंस एडवांसेज पत्रिका में प्रकाशित इस अध्ययन की प्रमुख मेलानी बर्गमैन ने कहा कि यह निश्चित रूप से स्पष्ट हो गया कि बर्फ में प्लास्टिक के अति सूक्ष्म कण हवा से आये। उनकी इस संकल्पना को परागकण पर अतीत में हुए अनुसंधान से बल मिलता है जिसमें विशेषज्ञों ने यह सत्यापित किया कि मध्य अक्षांश से परागणकण हवा में तैरते हुए आर्कटिक तक पहुंच गये। अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि ये परागकण मोटे तौर पर प्लास्टिक के इन सूक्ष्मकणों के आकार के ही हैं।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories