• [EDITED BY : News Desk] PUBLISH DATE: ; 06 September, 2019 08:52 PM | Total Read Count 300
  • Tweet
पांच राज्य ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पुरस्कार' से सम्मानित

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना को सफलतापूर्वक लागू करने तथा लिंगानुपात में सुधार के लिए हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली, राजस्थान और उत्तर प्रदेश को सम्मानित किया गया है।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने शुक्रवार को यहां आयोजित ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पुरस्कार 2019’ समारोह में इन राज्यों के प्रतिनिधियों को अपने अपने क्षेत्रों में जन्म के समय के लिंगानुपात बढ़ाने के लिए पुरस्कृत किया। इस अवसर केंद्रीय महिला एव बाल विकास राज्य मंत्री देबाश्री चौधरी तथा कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

समारोह में जन्म के समय लिंगानुपात में सुधार के लिए दस जिलों को भी सम्मानित किया गया। इन जिलों में अरुणाचल प्रदेश का पूर्वी केमांग, हरियाणा के महेंद्रगढ़ और भिवानी, उत्तराखंड का उधमसिंह नगर, तमिलनाडु का नामाक्कल, महाराष्ट्र का जलगांव, उत्तर प्रदेश का इटावा, छत्तीसगढ़ का रायगढ़, मध्य प्रदेश का रीवा और राजस्थान का जोधपुर शामिल है।

इनके अलावा श्रीमती ईरानी ने दस जिलों को ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना के बारे में जागरुकता फैलाने तथा इसे बेहतर तरीके से लागू करने के लिए भी पुरस्कृत किया। इनमें हिमाचल प्रदेश के मंडी, शिमला और सिरमौर, तमिलनाडु का तिरुवल्लूर, गुजरात का अहमदाबाद, जम्मू कश्मीर का किश्तवाड़, कर्नाटक का गडग, नागालैंड का वोखा, उत्तर प्रदेश का फर्रुखाबाद और राजस्थान का नागौर शामिल है।
समारोह में केन्द्रीरय मंत्री ने पांचों राज्यों के प्रधान सचिवों और आयुक्तों  और नौ राज्यों के 10 जिलों के जिला मजिस्ट्रे टों और उपायुक्तों को जन्मय के समय लिंग अनुपात में लगातार सुधार के लिए सम्मायनित किया।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की शुरुआत 22 जनवरी, 2015 में हुई थी। अब यह 640 जिलों में लागू हैं और इन सभी जिलों को इस योजना में शामिल किया गया है। वर्ष 2014-15 और 2018-19 की अवधि के लिए जन्म के समय लिंग अनुपात से संबंधित राज्य और संघ शासित क्षेत्रवार रिपोर्टों में कहा गया है कि लिंग अनुपात बढ़कर 918 से 931 हो गया है जो राष्ट्रीय स्तर पर सुधार की प्रवृत्ति दर्शाता है।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories