• [EDITED BY : Mohan Kumar] PUBLISH DATE: ; 10 September, 2019 08:58 PM | Total Read Count 98
  • Tweet
जलवायु परिवर्तन का असर क्रिकेट पर भी

लंदन। जलवायु परिवर्तन के कारण गर्मी बेतहाशा बढ़ रही है। भारत में तो इसका असर कुछ ज्यादा ही दिख रहा है। बारिश के मौसम में भी दिल्ली जैसे शहर गर्मी और उमस से बेहाल है। अब इसका असर क्रिकेट पर भी पड़ा है। क्रिकेट में ‘गर्मी से जुड़े नियम’ लागू करने के सुझाव के साथ एक शोध जारी किया गया है जिसमें खराब मौसम में खेल को स्थगित करने का सुझाव दिया गया है। खेल शोधाकर्ताओं और पर्यावरण शिक्षाविदों के इस शोध को मंगलवार को जारी किया गया।ब्रिटिश एसोसिएशन फॉर सस्टेनेबल स्पोर्ट और दो विश्वविद्यालयों द्वारा मिलकर किये शोध के आधार पर यह सुझाव दिया गया है। इसमें युवा खिलाड़ियों पर अधिक ध्यान देने को कहा गया है और साथ ही खेल सामग्री बनाने वाली कंपनियों को ऐसी सामग्री बनाने को कहा गया है जिसमें हवा बेहतर तरीके से गुजर सके क्योंकि बेहद गर्म मौसम अब अधिक स्थानों पर देखा जा रहा है।
इस रिपोर्ट की प्रस्तावना लिखने वाले लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान के अधिकारी रसेल सेयमोर ने कहा, ‘‘ यह सिर्फ क्रिकेट नहीं बल्कि सभी खेलों के लिए इस मुद्दे पर गंभीर होना का समय है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ खिलाड़ी एक जगह खड़े नहीं रहते हैं और हमें आने वाले संकट से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए।’’ ‘हिट फोर सिक्स’ नाम की इस रिपोर्ट में विस्तार से बताया गया है कि किस तरह भारत और आस्ट्रेलिया जैसे क्रिकेट खेलने वाले देशों में खराब मौसम का असर पड़ रहा है जिसमें सूखा, लू और तूफान जैसे मुश्किल मौसम का जिक्र है। विशेषज्ञों का मानना है कि जलवायु परिवर्तन के कारण इस तरह के मौसम सामान्य होते जा रहे हैं।
इसमें बताया गया कि है कि गर्मी के कारण आस्ट्रेलिया में आयु वर्ग के मैचों पर असर पड़ा, पानी की कमी के कारण दक्षिण अफ्रीका दौरा प्रभावित हुआ और बाढ़ के कारण इंग्लैंड में क्रिकेट सत्र में विलंब हुआ। इस शोध के लेखकों के मुताबिक जलवायु परिवर्तन बल्लेबाजों और विकेटकीपर के खेल को प्रभावित कर रहा है और उनका प्रदर्शन खराब हो रहा है। पोर्ट्समाउथ विश्वविद्यालय में शरीर विज्ञान के प्रोफेसर और इस शोध के लेखकों में शामिल माइक टिपटोन ने कहा, ‘‘35 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा तापमान होने पर शरीर खुद को ठंडा करना बंद कर देता है। बल्लेबाजों और विकेटकीपर के लिए यह मुश्किल स्थिति होती है। बचाव उपकरण के कारण पसीना निकलने का भी असर सीमित हो जाता है।’’

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories