• [EDITED BY : Mohan Kumar] PUBLISH DATE: ; 08 July, 2019 10:05 PM | Total Read Count 316
  • Tweet
यह तकनीक किसानों की आय करेगी दोगुनी

हैदराबाद। केंद्र सरकार ने साल 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। लेकिन यह लक्ष्य हासिल करना इतना आसान नहीं है। इसके लिए​ किसानों को स्मार्ट तरीके से खेती करना सीखना होगा तब ही वह अपनी आय 2022 तक दुगुनी कर सकेंगे। 

राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज संस्थान (एनआईआरडीपीआर) भारतीय किसानों की आय दोगुनी करने में मदद करने के लिए एक्वाकल्चर में एक नई तकनीक पर काम कर रहा है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, संस्थान ने हाल ही में कोचीन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय द्वारा विकसित एक बैकयार्ड री सर्कुलेटरी एक्वाकल्चर सिस्टम स्थापित किया है। 

यह प्रणाली पिंजरों में मछलियों के उच्च घनत्व संग्रहण में मदद करती है। संस्थान ने अपने एक बयान में कहा कि यह एक तालाब में छोटे-छोटे पिंजरों में विभिन्न किस्म व आकार की मछलियों को संग्रहीत करने में मदद करेगा।

इस प्रणाली के लिए चूंकि पानी की जरूरत काफी कम है, इसलिए विभिन्न पिंजरों में मछली की उच्च घनत्व वाली स्टॉकिंग मछली पकड़ने में लचीलापन लाएगी।एनआईआरडीपीआर के महानिदेशक डब्ल्यू.आर. रेड्डी ने कहा, "हम एकीकृत कृषि पद्धतियों को बढ़ावा देकर किसानों की आय दोगुनी कर सकते हैं। इस तरह के स्मार्ट खेती समाधान युवाओं को व्यवसाय के लिए प्रभावित करेंगे।"

खास बात यह है कि इस प्रणाली में मछली की विभिन्न किस्मों को उगाया जा सकता है, जिसमें तिलपिया, पंगासियस, मुरेल और पर्लस्पॉट शामिल हैं। इसमें औसतन 25750 रुपये के मासिक लाभ की उम्मीद की जा सकती है। एक्वाकल्चर प्रणाली कम पानी की उपलब्धता वाले क्षेत्रों में किसानों की आय दोगुनी करने में मदद कर सकता है।

मत्स्य पालन में रुचि रखने वाले किसान, स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) व युवाओं के लिए एनआईआरडीपीआर स्थित ग्रामीण औद्योगिकी पार्क में प्रणाली से संबंधित जरूरी जानकारी दी जाएगी।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories