• [EDITED BY : Mohan Kumar] PUBLISH DATE: ; 08 September, 2019 07:46 PM | Total Read Count 96
  • Tweet
मोहर्रम पर अनोखी लुट्टस परम्परा

इटावा। महाभारत कालीन सभ्यता से जुड़े उत्तर प्रदेश के इटावा में मोहर्रम के दौरान एक ऐसी अनोखी लुट्टस पंरपरा प्रचलित है जिसकी शुरूआत बेसक एक हिंदु परिवार ने की हो लेकिन यह बगैर मुस्लिमों की हिस्सेदारी के पूरी नहीं होती है। मोहर्रम पर पूरे देश मे ऐसी मिसाल देखने को नहीं मिलती है जैसी इटावा में मिलती है। लुट्टस की यह पंरपरा करीब डेढ सौ सालो से जारी है । गम के तौर पर मुहर्रम को देखा जाता है लेकिन लुट्टस के कारण लोग खुशी को इस तरह से जाहिर करते है मानो जश्न का कोई पर्व हो।

इसमे हिंदुओ के साथ साथ मुस्लिम भी खासी तादात में शरीक होते है । इससे बडी साम्प्रदायिक सद्भाव की दूसरी कोई मिसाल देखने को नहीं मिलती क्योंकि इस परपंरा के निर्वाह के चक्कर मे कई लोगो को हमेशा चोट लगती रहती है लेकिन आज तक कोई भी पुलिस के पास शिकायत करने नहीं जाता है। इस परपंरा की शुरूआत इटावा के एक हिंदु परिवार ने अपने परिवार मे लंबी मन्नत के बाद बेटे की पैदाइश होने पर शुरू की थी। इस परिवार के कुछ लोग अपने मासूम बच्चों को प्रतीके स्वरूप लटका करके परपंरा का निर्वाह तो करते ही हैं साथ ही बर्तन आदि लुटा करके अपनी मनोकामना पूरी करने के लिये परपंरा को जीवंत बनाये हुये है। जो इटावा की एक परपंरा बन कर के पर्व हो गया है।

मोहर्रम वैसे तो गम का महीना माना जाना जाता है, लेकिन इटावा की लुट्टस ने मोहर्रम के मायने ही बदल दिये है। इस लुट्टस परपंरा ने मोहर्रम पर इटावा का अलग ही मौहाल देखने को मिलता है,जहां मोहर्रम के मौके पर दूसरे देश में गम का माहौल देखा जाता है लेकिन यहा पर मातम के बजाय लोगो को खुश होते हुये देखा जाता है। इस लुट्टस परपंरा की शुरूआत झम्मनलाल की कलार मुहल्ले मे रहने वाले गुप्ता परिवार पर लंबी मन्नत के बाद जब बेटे के रूप में खुशी मिली तो जश्न के तौर पर मुहल्ले वाले को खूब पैसा बर्तन तो लुटाया ही साथ ही खाने पीने के लिये पकवान भी बटवाये जाते है । आज के इस परिवेश में परपंरा के नाम पर यह परिवार करीब एक करोड़ से अधिक का सामान लुट्टस के तौर पर बंटबाते है। मन्नत के बाद जो बेटा पैदा हुआ था उसका नाम फकीरचंद्र रखा गया था ।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories