• [EDITED BY : News Desk] PUBLISH DATE: ; 02 August, 2019 06:22 PM | Total Read Count 19
  • Tweet
पुलिसकर्मी को रिश्वत देते दिखा युवक, जांच के आदेश

लखनऊ। सीतापुर जेल कर्मियों द्वारा कथित तौर पर रिश्वत लेने के मामले का एक वीडियो वायरल होने के बाद उत्तरप्रदेश पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं। इस जेल में उन्नाव के बलात्कार आरोपी कुलदीप सेंगर बंद हैं। पुलिस महानिदेशक (जेल) आनंद कुमार ने यहां बताया, 'मैंने वीडियो नहीं देखा है लेकिन यह बात मेरे संज्ञान में आयी है। हम मामले की जांच करवाएंगे और कड़ी कार्रवाई होगी।

अगर कोई पुलिसकर्मी ऐसा करता पाया जाएगा तो उसे बर्खास्त किया जाएगा। सीतापुर जेल के बाहर का एक वीडियो सामने आया है जिसमें कुर्ता पायजामा पहने एक व्यक्ति बाहर आ रहा है और एक पुलिसकर्मी को कुछ दे रहा है। इस आदमी की पहचान रिंकू शुक्ला के रूप में हुई है और यह उन्नाव जिला पंचायत का सदस्य है और सेंगर का करीबी माना जाता है।

वीडियो के दूसरे हिस्से में मोटरसाईकिल पर सवार एक युवक आता है और किसी से विधायक से मिलवाने की बात करता है। इस पर उससे कहा जाता है कि अभी बहुत सख्ती है, बाद में आना। रिंकू शुक्ला से जब पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि सेंगर से मिलने के लिये उसका इरादा पुलिसकर्मियों को घूस देने का नहीं था ।

उसने कहा, 'यह मेरी आदत है कि जब मैं जेल मिलने जाता हूं तो उन्हें पुलिसकर्मियों, चाय- पानी के लिए कुछ दे देता हूं, यह रिश्वत नहीं है। मैं दस- पंद्रह दिन पहले सेंगर से मिला था, क्योंकि वह मेरे विधायक हैं। मैं भाजपा से जुड़ा हुआ नही हूं। सीतापुर जेल में बंद विधायक सेंगर उस समय भी मीडिया की सुर्खियों में आये थे जब लोकसभा चुनाव के बाद जून में भाजपा के सांसद साक्षी महाराज ने उनसे जेल में जाकर मुलाकात की थी।

मुलाकात के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए साक्षी महाराज ने कहा था कि हमारे यहां के लोकप्रिय विधायक कुलदीप सेंगर यहां काफी समय से बंद हैं, चुनाव के बाद उनका धन्यवाद करना उचित समझा, इसलिए आया।

 

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories