• [POSTED BY : News Desk] PUBLISH DATE: ; 10 August, 2019 03:51 PM | Total Read Count 253
  • Tweet
लौंग खाने के फायदे

लौंग बेशक आकार में छोटा है, लेकिन इसके कई चमत्कारी फायदे हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि लौंग सर्दी-खांसी से लेकर मधुमेह और अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज में भी काम आता है। लौंग, सदाबहार पेड़ की खूशबूदार सूखी पुष्प कलियां होती हैं। सामान्यतः इसका इस्तेमाल भोजन बनाने और धार्मिक अनुष्ठानों में किया जाता है, लेकिन लौंग का प्रयोग प्राचीन समय से एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी के रूप में भी किया जा रहा है। इसमें कई जरूरी औषधीय तत्व मौजूद होते हैं, जो शरीर से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में मदद करते हैं।

1. दांतों में होने वाले दर्द: दांतों में होने वाले दर्द को कम करने के लिए लौंग काफी फायदेमंद माना जाता है। लौंग में यूजेनिया नामक तत्व दांतों के दर्द को कम करने का काम करता है।

2. सर्दी-खांसी: सर्दी और खांसी जैसी आम समस्या के निवारण के लिए भी लौंग एक कारगर घरेलू नुस्खा है। लौंग में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेंटरी, एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जो सर्दी और जुकाम से निजात दिलाने का काम करते हैं। सर्दी-खांसी से निजात पाने के लिए आप इस तरह से लौंग का इस्तेमाल कर सकते हैं –

3. मधुमेह: लौंग का इस्तेमाल शरीर से जुड़ी गंभीर बीमारियों के लिए भी किया जाता है, जिसमें मधुमेह भी शामिल है। मधुमेह वो चिकित्सकीय स्थिति है, जिसके अंतर्गत रक्त में शर्करा की मात्रा अधिक हो जाती है। मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए आप लौंग का सेवन कर सकते हैं। लौंग में विटामिन-के और जरूरी मिनरल्स (जिंक, कॉपर, मैग्नीशियम) पाए जाते हैं। इसके अलावा, इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी मौजूद रहता है। इसका रोजाना इस्तेमाल रक्त में शकर्रा की मात्रा को कम कर देता है।

4. सूजन: लौंग खाने का एक फायदा सूजन की समस्या से निजात भी है। लौंग में यूजेनिया नामक तत्व पाया जाता है, जो इसे एक कारगर एंटीइंफ्लेमेटरी  एंजेंट बनाता है। गले और मसूड़ों में होने वाली सूजन को इसके जरिए ठीक किया जा सकता है। लौंग का एंटी इंफ्लेमेटरी गुण कैनडिडा (एक प्रकार का फंगस) से लड़ने में मदद करता है।

5. पाचन तंत्र: पेट की समस्याओं से निजात पाने के लिए भी लौंग का इस्तेमाल किया जाता है। लौंग में मौजूद यूजेनिया जैसे यौगिक पेट के अल्सर को कम कर सकते हैं। लौंग में मौजूद फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में मदद करता है। कब्ज जैसी समस्याओं से राहत पाने के लिए आप लौंग का इस्तेमाल कर सकते हैं। लौंग के एंटीबैक्टीरियल, एंटीस्पास्मोडिक और एनेस्थेटिक गुण कब्ज के दौरान पेट में होने वाले दर्द से राहत पहुंचाने में मदद कर सकते हैं।

6. रक्त संचार: लौंग रक्त शोधक के रूप में कार्य करता है और रक्त प्रवाह को बेहतर करता है। यह रक्त से विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में भी मदद करता है और शरीर में एंटीऑक्सीडेंट स्तर को बढ़ाता है। एंटीऑक्सीडेंट गुण प्लेटलेट को शुद्ध करने के साथ-साथ प्रतिरक्षा प्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं।

7. कैंसर: लौंग आम शारीरिक समस्या से लेकर कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के इलाज में भी इस्तेमाल किया जाता है। लौंग में एंटीसेप्टिक, जीवाणुरोधी, एंटीफंगल, और एंटीवायरल गुण के साथ-साथ एंटीकैंसर गुण भी पाए जाते हैं । मेडिकल शोध के अनुसार लौंग के औधषी गुण ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं और कैंसर सेल्स को समाप्त करते हैं। लौंग एंटीऑक्सीडेंट का एक बड़ा स्रोत है, जो सूजन और कैंसर से हमारी रक्षा करता है।

8. सिरदर्द:सिरदर्द जैसी आम समस्याओं के लिए भी लौंग काफी फायदेमंद है। लौंग के एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल और एंटीवायरल गुण सिरदर्द की समस्या को खत्म करने का काम करते हैं। शोध में माना गया है कि सिरदर्द के मामले में लौंग पेरासिटामोल की तरह असरदार है।

9. टेस्टोस्टेरोन स्तर: बढ़ती उम्र और गंभीर शारीरिक बीमारियों के कारण पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर घटने लगता है। टेस्टोस्टेरोन वो हार्मोन होते हैं, जो यौन शक्ति को बढ़ाने में मदद करते हैं। माना गया है कि लौंग के कामोत्तेजक तत्व पुरुष में टेस्टोस्टेरोन स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। अगर आपको टेस्टोस्टेरोन संबंधी कुछ शिकायत है, तो आप डॉक्टर की सलाह पर लौंग का सेवन कर सकते हैं।

10. अस्थमा: अस्थमा या दमा एक जानलेवा बीमारी है, जो सीधे हमारी श्वास नली को प्रभावित करती है। इस बीमारी के अंतर्गत मरीज को सांस लेने में दिक्कत होती है और दौड़ने या ज्यादा चलने से सांस फूलने लगती है। माना गया है कि अस्थमा की समस्या को लौंग के जरिए बहुत हद तक कम किया जा सकता है। अस्थमा लगातार हो रहे सर्दी-जुकाम व साइनेस जैसी समस्या से भी हो सकता है। लौंग के एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण अस्थमा के संक्रमणों को खत्म कर मरीज को राहत दिलाने का काम करते हैं।

11. जोड़ों का दर्द: उम्र बढ़ने के साथ-साथ कुछ शारीरिक समस्या बिना दस्तक दिए शरीर को जकड़ लेती हैं, जिनमें जोड़ों का दर्द भी शामिल है। लौंग में एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जो इस समस्या से आपको निजात दिला सकते हैं।

12. कान का दर्द: कान का दर्द एक आम समस्या है, जो बच्चों से लेकर बड़ों को प्रभावित कर सकता है। इस समस्या से निपटने के लिए आप लौंग के तेल का उपाय कर सकते हैं। नीचे जानिए किस प्रकार करें प्रयोग –

13. मुंहासे:युवा अवस्था में मुंहासों की समस्या आम है, जो सीधा आपके चेहरे की खूबसूरती को प्रभावित करती है। लौंग में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं, जो आपको इस समस्या से निजात दिला सकते हैं।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories