• [POSTED BY : News Desk] PUBLISH DATE: ; 22 August, 2019 08:20 PM | Total Read Count 211
  • Tweet
अंजीर फल के स्वास्थ्य लाभ, उपयोग और दुष्प्रभाव

अंजीर के पेड़ की छाल चिकनी और सफेद रंग की होती है। अंजीर कई बीजों के साथ बेल के आकार का फल होता है और इसे पका हुआ या सूखा खाया जा सकता है। हिमालय और शिवालिक एरिया में यह बहुतायत पाए जाते हैं। ईरान, भारत और मध्य-पूर्व के देशों में रहने वाले इसका सेवन अधिक मात्रा में करते हैं।

अंजीर के विभिन्न प्रकार :

1. ब्लैक मिशन: बाहर से इसका रंग काला या हल्का बैंगनी होता है, जबकि अंदर से गुलाबी होता है। यह अंजीर न सिर्फ खाने में मीठी होती है, बल्कि इसमें रस भी होता है। इसे केक या खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

2. कडोटा: यह अंजीर हरे रंग की होती है और बैंगनी रंग का गुदा होता है। यह अंजीर के सभी किस्मों में सबसे कम मीठी होती है। इसे कच्चा खाया जा सकता है, लेकिन इसे गर्म करके और ऊपर हल्का नमक डालकर भी खाया जा सकता है।

3. कैलीमिरना: यह बाहर से हरे-पीले रंग की होती है। इसका आकार अन्य किस्मों के मुकाबले सबसे बड़ा होता है और इसका स्वाद भी सबसे अलग होता है।

4. ब्राउन तुर्की: इस अंजीर का बाहरी रंग बैंगनी और गुदा लाल होता है। इसका स्वाद हल्का और कम मीठा होता है। इसका प्रयोग सलाद का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है।

5. एड्रियाटिक: इसकी बाहरी परत हल्की हरी और अंदर से गुलाबी होती है। इसका रंग हल्का होने के कारण इसे सफेद अंजीर भी कहा जाता है। यह सबसे मीठी होती है और इसे फल के तौर पर खाया जा सकता है।

सेहत के लिए अंजीर के फायदे

1. ह्रदय के लिए: जब हमारे शरीर में ट्राइग्लिसराइड की मात्रा बढ़ जाती है, तो ह्रदय संबंधी बीमारियां होने लगती हैं। इससे निपटने के लिए अंजीर का सेवन किया जा सकता है। अंजीर खाने से रक्त में ट्राइग्लिसराइड की मात्रा कम होती है और ह्रदय सही प्रकार से काम करने लगता है। अंजीर में फेनोल्स, ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड गुण भी होते हैं, जो ह्रदय को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

2. अंजीर से पाइल्स का इलाज: अंजीर के फल आहार फाइबर से भरे हुए हैं, और इस प्रकार, यह एक रेचक प्रभाव है। इसलिए यह मल को नरम करने में मदद करता है और मलाशय क्षेत्र में दबाव को कम करता है अंजीर के बीज सक्रिय एजेंट हैं जो कब्ज को रोकने में मदद करते हैं।

3. हड्डियों के लिए: अंजीर को कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम का मुख्य स्रोत माना गया है। शरीर की हड्डियों को मजबूत करने के लिए ये सभी गुण जरूरी हैं। अंजीर के गुणकारी तत्व हड्डियों पर प्रभावी तरीके से काम करते हैं, जिससे उनके टूटने की आशंका काफी हद तक कम हो जाती है। इसमें कोई दो राय नहीं कि हड्डियों के लिए कैल्शियम जरूरी है।

4. कम वजन: अगर आप वजन कम करने के बारे में सोच रहे हैं, तो अंजीर की मदद ले सकते हैं। अंजीर में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और कैलोरी कम होती है। अंजीर में फिसिन नामक एंजाइम भी होता है, जो भोजन को सही प्रकार से पचाने में मदद करता है। जब भोजन सही से और समय पर पच जाता है, तो शरीर में अतिरिक्त वसा जमा नहीं होती और वजन बढ़ने की चिंता नहीं रहती।

5. एनीमिया: सूखी अंजीर को आयरन का प्रमुख स्रोत माना गया है। इसके सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता है।मासिक धर्म के समय और गर्भावस्था के समय कई महिलाएं एनीमिया की शिकार हो जाती हैं। इससे उन्हें कई तरह की शारीरिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वहीं, अगर कोई बीमार है या फिर किसी तरह की सर्जरी हुई है, उस अवस्था में भी एनीमिया हो सकता है। इससे बचने के लिए अंजीर को अपनी डायट में शामिल करना चाहिए। अंजीर के सेवन से शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है और शरीर किसी भी तरह की बीमारी से लड़ने में सक्षम हो जाता है।

6. अस्थमा: अंजीर अस्थमा से भी आपका बचाव करने में समक्षम है। अगर आप मेथी दाने के पाउडर को शहद और अंजीर के साथ लेते हैं, तो इससे अस्थमा काफी हद तक ठीक हो सकता है। अस्थमा के मरीज अंजीर का जूस भी पी सकते हैं। इससे उन्हें काफी हद तक लाभ हो सकता है।

7. एंटीऑक्सीडेंट: गुणों की खान अंजीर को एंटीऑक्सीडेंट का प्रमुख स्रोत माना गया है। एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव के कारण ही अंजीर शरीर में फ्री रेडिकल्स को खत्म कर कई तरह की बीमारियों से बचाती है। अंजीर में फेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट के गुण भी पाए जाते हैं।

8. त्वचा के लिए अंजीर के फायदे

  • कई शोधों में पाया गया है कि अंजीर के रस में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी कोलेजनैस गुण होते हैं, जो झुर्रियों के असर को कम करने में सक्षम हैं।
  • अंजीर को सीधा चेहरे पर भी लगा सकते हैं। इससे चेहरे पर अचानक निकल आने वाले फोड़े-फुंसियों और मस्सों को ठीक किया जा सकता है।
  • अंजीर सेहत के साथ-साथ त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। फिर चाहे आप इसे खाएं या फिर मास्क के तौर पर चेहरे पर लगाएं। इसे चेहरे पर लगाने से त्वचा खिली-खिली और ताजगी से भरपूर नजर आती है।
  • अंजीर में विटामिन-सी भरपूर मात्रा में होता है। साथ ही एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो त्वचा को मुलायम बनाने में मदद करता है।

9. बालों के लिए अंजीर के फायदे

  • अंजीर में मैग्नीशियम, विटामिन-सी और ई जैसे गुण पाए जाते हैं, जो बालों के विकास के लिए जरूरी हैं। अंजीर के उपयोग से स्कैल्प में रक्त का प्रवाह तेज गति से होता है, जिस कारण बालों को बढ़ने में मदद मिलती है।
  • आप बालों में मजबूती के साथ-साथ उनमें चमक भी लाना चाहते हैं, तो इस मामले में भी अंजीर फायदेमंद साबित हो सकती है।

अंजीर का उपयोग

  • अंजीर को खाने से पहले अच्छी तरह धो लेना जरूरी है। फिर आप इसे या तो ऐसे ही खाएं या फिर छिलका उतार कर खा सकते हैं।
  • सूखी अंजीर की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसे रातभर पानी में भिगोकर रखें और अगली सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। जिस पानी में इसे भिगोया गया था, आप उस पानी को पी सकते हैं।
  • सूखी अंजीर को अपने साथ कहीं भी ले जाना आसान है। इसलिए, अगर आप किसी यात्रा पर जा रहे हैं, तो अंजीर को अपने साथ ले जा सकते हैं। इसके सेवन से एक तो भूख नहीं लगती और दूसरा ऊर्जा बनी रहती है।
  • ताजे अंजीर के फल को आप केक या फिर आइसक्रीम के ऊपर सजाकर भी खा सकते हैं।
  • ताजी के मुकाबले में सूखी अंजीर में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है। इसलिए, अगर आप घर में कोई मीठा व्यंजन बनाते हैं, तो चीनी की जगह इसका प्रयोग कर सकते हैं। इससे न सिर्फ मीठे व्यंजन का स्वाद बढ़ेगा, बल्कि उसे खाने से जरूरी पोषक तत्व भी मिलेंगे।
  • अंजीर का इस्तेमाल बेकिंग में किया जाता है। केक, पुडिंग व जैम आदि बनाते समय अंजीर का इस्तेमाल किया जा सकता है।

अंजीर के नुकसान

अंजीर की तासीर गर्म होती है। इसलिए, तय मात्रा से ज्यादा अंजीर खाने से नुकसान भी हो सकता है, जो इस प्रकार है :

  • प्रतिदिन दो-तीन सूखी अंजीर खाना पर्याप्त है। इसे रातभर पानी में भिगोकर अगली सुबह खाना चाहिए। अगर अंजीर को बिना भिगोए या जरूर से ज्यादा खाया जाता है, तो शरीर में गर्मी हो सकती है और नाक से खून आ सकता है।
  • अंजीर में फाइबर ज्यादा होता है, इसलिए अधिक खाने से दस्त की समस्या हो सकती है।
  • अधिक अंजीर खाने से आंतों व पेट में दर्द हो सकता है।
  • अंजीर एक प्रकार से प्राकृतिक शुगर का काम करती है। अगर इसे ज्यादा खाया जाए, तो दांत सड़ सकते हैं। डायबिटीज के मरीजों को भी इसे खाने से पहले एक बार डॉक्टर से पूछ लेना चाहिए।
  • किसी-किसी को अंजीर खाने से एलर्जी भी हो सकती है, इसलिए यह खाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से पूछ लें।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories