• [POSTED BY : Mohan Kumar] PUBLISH DATE: ; 11 September, 2019 10:11 PM | Total Read Count 22
  • Tweet
सुशील मोदी ने कहा, नीतीश ही कैप्टेन

पटना। बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन की दोनों बड़ी पार्टियों जनता दल यू और भाजपा के बीच चल रही जुबानी जंग के बीच राज्य में भाजपा के सबसे बड़े नेता और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कैप्टेन बताया है और कहा है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में एनडीए की ओर से नीतीश की मुख्यमंत्री पद का चेहरा होंगे। हालांकि उनके इस ट्विट को लेकर भी विवाद हो गया।

सुशील मोदी ने पहले ट्विट किया, जिसमें उन्होंने लिखा- नीतीश ही बिहार एनडीए के कैप्टन हैं। नीतीश ही 2020 में होने वाले चुनाव का चेहरा होंगे। जब कैप्टन चौके-छक्के मार रहा है तो फिर किसी बदलाव की जरूरत नहीं है। हालांकि, ट्विट करने के 10 मिनट बाद सुशील मोदी ने अपनी पोस्ट को डिलीट कर दिया था। लेकिन बाद में जब मामला चर्चा में आया तो एक घंटे बाद पोस्ट को रिट्विट कर दिया। उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंन ट्विट डिलीट नहीं किया था। गलती से वह होमपेज से हट गया था।

इस बीच सुशील मोदी के ट्विट डिलीट करने पर राजद ने कहा- उनके मन में जो था उन्होंने लिख दिया। लेकिन, जब भाजपा नेतृत्व का चाबुक सुशील मोदी पर पड़ा तब उन्होंने अपना ट्विट डिलीट कर दिया। दरअसल, दोनों सहयोगी दलों के बीच जुबानी जंग पिछले दिनों शुरू हुई। भाजपा विधान पार्षद संजय पासवान ने कहा था कि नीतीश को केंद्र की राजनीति करनी चाहिए और भाजपा के लिए मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ देनी चाहिए क्योंकि बिहार में अब मोदी मॉडल की चलेगा।

संजय पासवान के बयान पर जदयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा-  हमारे नेता नीतीश किसी के रहमोकरम पर मुख्यमंत्री नहीं बने हैं। वे जनादेश से सीएम बने हैं। उन्होंने कहा कि कुछ नेता चर्चा में बने रहने के लिए तरह-तरह के बयान देते हैं। ऐसे बयानवीर नेताओं को बड़बोले बयान देने से बचना चाहिए। जदयू के किसी नेता ने भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ नहीं बोला। ऐसे बयान एनडीए की चुनावी योजना को कमजोर करते हैं।

नीचे नजर आ रहे कॉमेंट अपने आप साइट पर लाइव हो रहे है। हमने फिल्टर लगा रखे है ताकि कोई आपत्तिजनक शब्द, कॉमेंट लाइव न हो पाए। यदि ऐसा कोई कॉमेंट- टिप्पणी लाइव हुई और लगी हुई है जिसमें अर्नगल और आपत्तिजनक बात लगती है, गाली या गंदी-अभर्द भाषा है या व्यक्तिगत आक्षेप है तो उस कॉमेंट के साथ लगे ‘ आपत्तिजनक’ लिंक पर क्लिक करें। उसके बाद आपत्ति का कारण चुने और सबमिट करें। हम उस पर कार्रवाई करते उसे जल्द से जल्द हटा देगें। अपनी टिप्पणी खोजने के लिए अपने कीबोर्ड पर एकसाथ crtl और F दबाएं व अपना नाम टाइप करें।

आपका कॉमेट लाइव होते ही इसकी सूचना ईमेल से आपको जाएगी।

Categories