मरे हुए को जिंदा करने के लिए शव कोे उल्टा लटकाकर झूला झूलाया, फिर…

अंधविश्वास और लोगों की अज्ञानता के कारण कई बार शर्म से नजरें झुक जाती है. ऐसा ही एक मामला मध्य प्रदेश के गुना जिले के जोगीपुरा गांव से सामने आया है.

मां-बाप कहते थे कि कभी अलग नहीं होंगे, मां की मौत के बाद चिता पर कूद गया पिता …

ओड़िसा के कालाहांडी जिले में इसके ठीक उल्टा मामला सामने आया है. जानकारी के अनुसार अपनी पत्नी की मौत से व्यथित एक बुजुर्ग अंतिम संस्कार के दौरान उसकी जलती चिता पर कूद गया और जलने से उसकी भी मौत हो गई.

आती रहे दादा की ‘पेंशन’ यह सोचकर मौत के बाद भी शव को रखा फ्रिज में, ऐसे हुआ खुलासा …

एक युवक ने अपने 93 वर्षीय दादा के शव को फ्रिज में बंद कर दिया. 3 दिनों तक फ्रिज में शव होने की बात का खुलासा तब हुआ जब बदबू आनी शुरू हो गई. बदबू से परेशान होकर पड़ोसियों ने पुलिस को फोन कर दिया. पुलिस ने घर आकर जो चेकिंग की तो फ्रिज में पड़े एक बुजुर्ग व्यक्ति का शव देखकर हैरान रह गए.

परिजनों ने कहा था दो सगी बहनों की सांप काटने से हुई मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से घूमा दिमाग…

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ कि इन युवतियों की मौत सांप के काटने से नहीं बल्कि दुष्कर्म के बाद गला घोट कर मारने से हुई है

उत्तरप्रदेश के इस गांव की अनोखी परंपरा, शवों का अंतिम संस्कार पुरुष नहीं महिलाओं के हाथों होता है जानें क्यों..

उत्तरप्रदेश के इस गांव की अनोखी परंपरा, शवों का अंतिम संस्कार पुरुष नहीं महिलाओं के हाथों होता है जानें क्यों..

प्रयागराजः शृंगवेरपुर घाट पर शवों को दफनाने की परम्परा पर लगेगी रोक, लोग कम खर्चे में कर सकेंगे शवों का अंतिम संस्कार

प्रयागराज दो बड़ी बड़ी नदियों का संगम स्थल है। गंगा नदी और यमुना नदी प्रयागराज में मिलती है। संगम नगरी प्रयागराज के प्रसिद्ध घाट श्रृंगवेरपुर पर गंगा किनारे बड़ी संख्या में शव दफनाये जाते है। घाट पर शव दफनाये जाने की खबर को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। श्रृंगवेरपुर में शवों को दफनाने की परम्परा खत्म हो जाएगी और गंगा के तटों पर शवों का दाह संस्कार करने से होने वाली गंदगी को रोकने के लिए प्रशासन अब विद्युत शवदाह गृह बनाने की तैयारी कर रहा है। कोरोना काल में बड़ी संख्या में मौते हुई है। कोरोना ने हजारों-लाखों की जाने ली है। इससे घाट पर बड़ी संख्या में शव दफनाये गए है। जिससे घाट पर गंदगी जमा हो गई है। विद्युत शवदाह गृह होने से गंगा घाट पर गंदगी भी कम हो जाएगी। कई सालों से घाट पर शव दफनाये जा रहे थे। इस परंपरा के खत्म होने से स्थानीय लोग आहत होंगे। इसे भी पढ़ें Corona Vaccination: भारत में अब 12+ वालों को टीका देने की तैयारी, फाइजर लाया प्रस्ताव विद्युत शवदाह गृह की पूरी तैयारी श्रृंगवेरपुर घाट पर विद्युत शवदाह गृह के निर्माण के लिए प्रशासन ने चार विस्वा जमीन भी चिन्हित कर ली है।  इसके… Continue reading प्रयागराजः शृंगवेरपुर घाट पर शवों को दफनाने की परम्परा पर लगेगी रोक, लोग कम खर्चे में कर सकेंगे शवों का अंतिम संस्कार

Bihar : जब अपनों ने साथ छोडा तब BDO डॉ. बी एन सिंह ने दी मुखाग्नि, किया अंतिम संस्कार

मुजफ्फरपुर | कोरोना काल में ऐसे तो आम तौर पर कई बार इंसानी रिश्तों को शर्मसार होने की खबरें आती हैं, लेकिन इस दौर में मानवता की मिसाल पेश करने वालों की भी कमी नहीं है। ऐसा ही एक मामला बिहार (Bihar) के मुजफ्फरपुर जिले के बिरूआ पंचायत (Birua Panchayat) में देखने को मिला जब दो दिनों से कोरोना संक्रमित का शव अंतिम संस्कार के लिए पड़ा रहा। उनके अपनों ने ही उनका अंतिम संस्कार (Funeral) कराने से मना कर दिया था। तब सरैया प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी डॉ. बी एन सिंह (Dr. B N Singh) ने मृत शरीर को सम्मानजनक अंत्येष्टि कर ‘अपनो का हक अदा किया। मुजफ्फरपुर पश्चिमी अनुमंडल के बिरूआ पंचायत ((Birua Panchayat)) के पगहिया गांव निवासी और ऑटो चालक योगेन्द्र सिंह (50) की मौत तीन दिन पहले घर में हो गई। मृतक को पहले से दमा और खांसी की समस्या थी। योगेन्द्र सिंह की मौत के बाद उनके सभी परिजन और पट्टीदार (गोतिया) कोरोना से मौत के कारण अन्यत्र चले गए और घर में सिर्फ मृतक की पत्नी और दो बच्चे बच गए। मृतक के परिजनों ने गांव वालों से अंतिम संस्कार की गुहार लगाई, लेकिन गांव का कोई भी व्यक्ति इसके लिए तैयार नहीं… Continue reading Bihar : जब अपनों ने साथ छोडा तब BDO डॉ. बी एन सिंह ने दी मुखाग्नि, किया अंतिम संस्कार

खौफनाक..कोविड संक्रमित के अंतिम संस्कार में शामिल हुए 150 लोग, 21 के लिए अंतिम बन गया यह अंतिम संस्कार

राजस्थान में जहां कोरोना नये आंकड़े बनाने में कसर नहीं छोड़ रहा है वहीं राजस्थान की जनता भी लापरवाही करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। राजस्थान के सीकर जिले से ऐसी ही एक लापरवाही का मामला सामने आया है। सीकर के गांव में एक व्यक्ति की कोरोना से मौत हो गई और मृत व्यक्ति को कोरोना गाइडलाइन का पालन किए बिना दफना दिया गया। अंतिम संस्कार में 150 लोगों ने भाग लिया। इनमें 21 लोगों की अभी तक मौत हो चुकी है। राजस्थान में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। एक दिन में करीब 17,000 मामले दर्ज हो रहे है। राजस्थान सरकार ने 24 मई तक का लॉकडाउन लगाया हुआ है। सरकार के अनुसार कोरोना की चेन तोड़ने के लिए लॉकडाउन आवश्यक है। इसे भी पढ़ें राहत! कोरोना वायरस से जंग लड़ने में शामिल हुई एक और दवा, सरकार ने दे दी मंजूरी शव को प्लास्टिक की थैली से बाहर निकाला गया हालांकि अधिकारियों ने कहा कि 15 अप्रैल से 5 मई के बीच कोरोना वायरस से केवल चार मौतें हुई हैं। अधिकारियों के अनुसार, एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति के शव को 21 अप्रैल को खीरवा गांव लाया गया था और लगभग 150 लोगों ने उसके अंतिम संस्कार में… Continue reading खौफनाक..कोविड संक्रमित के अंतिम संस्कार में शामिल हुए 150 लोग, 21 के लिए अंतिम बन गया यह अंतिम संस्कार

Maharashtra : कफन में लिपटी पड़ी लावारिश लाशों का अंतिम संस्कार कर रहे अंजान लोग

नागपुर | कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ रहा है और मृतक संख्या बढ़ती जा रही है, ऐसे में, सामान्य तौर पर लोग अंतिम संस्कारों (Funeral) में शामिल होने से बच रहे हैं, यहां तक कि उन मामलों में भी जहां मृतक कोविड-19 के मरीज नहीं हैं। कोरोना से संक्रमित होने के खतरे के कारण इस वक्त जब लोग अपने रिश्तेदारों, दोस्तों और पड़ोसियों के अंतिम दर्शन तक नहीं कर रहे हैं, उस वक्त नागपुर (Nagpur) के कुछ लोग हैं जो शवों को अर्थी पर रखा श्मशान घाट (Crematorium) ले जा रहे हैं और सामाजिक दायित्व मानते हुए उनका अंतिम संस्कार (Funeral) कर रहे हैं। महाराष्ट्र (Maharashtra) के अन्य जिलों की ही तरह नागपुर (Nagpur) में भी महामारी का प्रकोप बढ़ रहा है और मृतक संख्या बढ़ती जा रही है, ऐसे में, सामान्य तौर पर लोग अंतिम संस्कारों में शामिल होने से बच रहे हैं, यहां तक कि उन मामलों में भी जहां मृतक कोविड-19 के मरीज नहीं हैं। इसे भी पढ़ें – किसी के आँसुओं में मुस्कुरायेंगे..बुजुर्ग ने दुनिया से इस तरह ली रूख़सत, युवक को जिंदगी का तोहफा दे गये हालांकि, छोटे परिवारों को इस भय के मनोविकार का दंश झेलना पड़ रहा है जो अपने प्रियजनों के अंतिम संस्कार… Continue reading Maharashtra : कफन में लिपटी पड़ी लावारिश लाशों का अंतिम संस्कार कर रहे अंजान लोग

Uttar Pradesh : योगी सरकार बड़ा फैसला, Corona से मरने वालों का फ्री में होगा अंतिम संस्कार

लखनऊ | कोरोना महामारी का प्रकोप सभी जगह फैला हुआ है कोरोना के केस भी लगातार बढ़ रहे है कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है वैश्विक महामारी कोरोना से होने वाली मौतों पर दुख व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीज (Corona infected patients) के अंतिम संस्कार (funeral) का कोई शुल्क नहीं लिया जायेगा। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने आज टीम 11 के साथ समीक्षा बैठक में कहा कि कोरोना संक्रमण (Corona infection) से होने वाली हर एक मौत दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार सभी मृतकों के प्रति संवेदना प्रकट करती है। इसे भी पढ़ें – Bihar: Night Curfew में पूर्व MLA की पार्टी में Bhojpuri Actress ने जमकर लगाए ठुमके, कोरोना नियमों की उड़ाई धज्जियां, प्राथमिकी दर्ज प्रत्येक जिले में (नगरीय एवं ग्रामीण) कोरोना संक्रमित (Corona infection) किसी मरीज के अंतिम संस्कार के लिए कोई शुल्क न लिया जाए। उन्होने कहा कि अंतिम संस्कार (funeral) की क्रिया मृतक की धार्मिक मान्यताओं के अनुरूप ही कराई जाए। प्रशासन सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कराए। यह व्यवस्था तत्काल प्रभाव से अमल में लाई जाए। इसे भी पढ़ें – Delhi Again Lockdown : दिल्ली में बढ़ा 1 सप्ताह का Lockdown, आवश्यक… Continue reading Uttar Pradesh : योगी सरकार बड़ा फैसला, Corona से मरने वालों का फ्री में होगा अंतिम संस्कार

Corona Update : कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुये यूपी और कर्नाटक ने लगाया वीकेंड कर्फ्यु, जानें क्या खुला और क्या रहेगा बंद

कोरोना का कहर देश में बढ़ता ही जा रहा है। बीते 24 घंटों में 3 लाख 45 हजार मामले सामने आए है। और मौत का आंकड़ा भी बढ़ता ही जा रहा है। देश में कई राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउन, वीकेंड कर्फ्य और नाइट कर्फ्यप जैसी पाबंदिया लगा रखी है। इसी कड़ी में अब एक और राज्य का नाम शामिल हो गया है। कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश और कर्नाटक में वीकेंड कर्फ्यू लगाया गया है। शुक्रवार यानी 23 अप्रैल से लागू हुआ ये कर्फ्यू सोमवार तक चलेगा।  इस दौरान लोगों को बेवजह घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं होगी। यूपी में जहां वीकेंड कर्फ्यू शुक्रवार रात 8 बजे से लेकर सोमवार सुबह 7 बजे तक लागू किया गया है, वहीं कर्नाटक में  यह शुक्रवार रात 9 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा। बता दें कि इन दोनों ही राज्यों में कोरोना संक्रमण के मामलों में इजाफा दर्ज किया जा रहा है। संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए राज्य सरकारें वीकेंड कर्फ्यू जैसे कदम उठा रही हैं। इसे भी पढ़ें सावधान : कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर दूल्हा, दुल्हन और बारातियों पर लगा जुर्माना UP में रहेंगी ये पाबंदियां उत्तर प्रदेश… Continue reading Corona Update : कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुये यूपी और कर्नाटक ने लगाया वीकेंड कर्फ्यु, जानें क्या खुला और क्या रहेगा बंद

रमजान के पाक महीने मानवता का धर्म निभाया,  अल्लाह के साथ भगवान को मनाया ..मुस्लिम युवकों ने किया कोरोना संक्रमित महिला का अंतिम संस्कार

इन दिनों जहां हर रोज़ ऐसा घटनाएं सामने आती है जो साम्प्रदायिक सदभावना को गहरी ठेस पहुंचाती है। वहीं कुछ तो बात है इस देश की हवा में कि हिंदु मुस्लिम दोनों धर्म अभी भी एकता की एक डोर में बंधे है। चाहे समय-समय पर इस डोर को तोड़ने का कितना ही प्रयास क्यों ना किया गया हो। लेकिन फिर भी हिंदु मुस्लिम दोनें के बीच का प्रेम दोनें धर्मों के बीच की खाई को कभी बढ़ने नहीं देता है। इसी का एक उदाहरण मेदिनीनगर(बंगाल) से सामने आया है। जहां एक हिंदु महिला के अंतिम संस्कार में मुस्लिम युवकों ने सहायता की। इसे भी पढ़ें Guideline For Shops in Rajasthan : राजस्थान सरकार ने बढ़ाई सख्ती, जरूरी दुकान खोलने के लिए समय किया निर्धारित, जानें कौन सी दुकान कब तक खुलेंगी क्या था मामला पलामू मुख्यालय मेदिनीनगर में कोविड 19 से एक महिला की मौत के बाद अंतिम संस्कार में कोई नही पंहुचा।  तब कुछ अल्पसंख्यक युवकों ने अंतिम संस्कार में मदद की मृतक का सिर्फ एक बेटा ही अंतिम संस्कार में पंहुचा था। मदद करने वाले सभी अल्पसंख्यक पवित्र रमजान के महीने में रोजे में थे। अब क्योंकि कोरोना काल में दूसरे रिश्तेदारों ने आने से मना कर दिया है।… Continue reading रमजान के पाक महीने मानवता का धर्म निभाया, अल्लाह के साथ भगवान को मनाया ..मुस्लिम युवकों ने किया कोरोना संक्रमित महिला का अंतिम संस्कार

सीएम के दखल, पुजारी का अंतिम संस्कार

राजस्थान में जला कर मार दिए गए पुजारी का अंतिम संस्कार हो गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के दखल के बाद परिवार के सदस्य उनके अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए।

पासवान का अंतिम संस्कार आज पटना में

दिवंगत केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के संस्थापक राम विलास पासवान का अंतिम संस्कार शनिवार को पटना में होगा।

प्रणब दा पंचतत्व में विलीन

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का आज दोपहर पूरे राजकीय सम्मान के साथ लोधी रोड श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया।

और लोड करें