Corona crisis के बीच Central government ने खोला खजाना, राज्यों को जारी की 8,873 करोड़ की पहली क़िस्त

नई दिल्ली | केंद्र सरकार ने कोविड-19 रोधी विभिन्न उपायों के वास्ते 2021-22 के लिए राज्य आपदा मोचन कोष (SDRF) से केंद्र के हिस्से की पहली किस्त के तौर पर 8,873.6 करोड़ रुपये जारी कर दिए हैं। इन उपायों में अस्पतालों (Hospitals) के निर्माण के साथ ही ऑक्सीजन उत्पादन (Oxygen Production) के लिए संयंत्र स्थापित करना भी शामिल है। केंद्रीय गृह मंत्रालय (Union Ministry of Home Affairs) ने कहा कि विशेष वितरण के तौर पर वित्त मंत्रालय के अधीन व्यय विभाग ने उसकी अनुशंसा पर सामान्य कार्यक्रम से पहले यह राशि जारी कर दी है। आधिकारिक बयान में कहा गया कि राज्यों को 8,873.6 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। सामान्य तौर पर, इस कोष की पहली किस्त वित्त आयोग की अनुशंसाओं के मुताबिक जून में जारी की जाती है। इसे भी पढ़ें – Delhi : कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बेबस हुए मरीज, एडमिट होने के लिए करना पड़ रहा है इंतजार हालांकि, सामान्य प्रक्रिया में राहत देते हुए, न सिर्फ एसडीआरएफ (SDRF) की किस्त समय से पहले जारी की गई है, बल्कि पिछले वित्त वर्ष में राज्यों को उपलब्ध कराई गई राशि के उपयोग प्रमाण-पत्र की प्रतीक्षा किए बिना ही राशि जारी कर दी गई है। बयान में… Continue reading Corona crisis के बीच Central government ने खोला खजाना, राज्यों को जारी की 8,873 करोड़ की पहली क़िस्त

Delhi : कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बेबस हुए मरीज, एडमिट होने के लिए करना पड़ रहा है इंतजार

नई दिल्ली | दिल्ली सहित पूरे देश में कोरोना वायरस (Corona virus) के भयंकर दूसरी लहर के बीच मरीजों का हाल बेहाल है क्योंकि सही समय पर सभी मरीजों (Patients) को स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने की दिशा में अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों को निरंतर संघर्ष करना पड़ रहा है। दिल्ली में कई अस्पतालों (Hospitals) के बाहर मरीजों (Patients) को अपने परिजनों के साथ इंतजार करते हुए देखा गया है। ये लोग अंदर मौजूद मेडिकल स्टाफ (Medical Staff) से लगातार संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। मरीजों की भारी तादात के चलते कई बार इन्हें अंदर जाने तक को नहीं दिया जा रहा है। इसे भी पढ़े – Right Or Wrong: समझाने के बाद भी बाहर घूम रहे थे संक्रमित, कलेक्टर ने 24 घंटे के लिए घर के बाहर लगवा दिया ताला एलएनजीपी अस्पताल के बाहर प्रतीक्षारत एक मरीज के परिजन ने बताया, मरीज को भर्ती नहीं किया जा रहा है। हमें अस्पताल (Hospitals) के सीएमओ से बात करने के लिए कहा गया है और किसी ने हमसे यह भी कहा कि मेडिकल डायरेक्टर ने मरीजों (Patients) को एडमिट कराने से मना कर दिया है। इसी तरह से किरण भाटिया को भी अस्पताल के बाहर खड़े एक ऑटो रिक्शा में अपनी… Continue reading Delhi : कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बेबस हुए मरीज, एडमिट होने के लिए करना पड़ रहा है इंतजार

Corona Epidemic में जान गंवाने वालों के प्रति Rahul gandhi ने व्यक्त की संवेदना, कहा- ‘साथ हैं तो आस है’

नई दिल्ली | देशभर में बढ़ते कोरोना (Corona) के कारण अस्पतालों (Hospitals) में लोगों को इलाज के लिए बेड नहीं मिल रहे और ऑक्सिजन (Oxygen) की किल्लत भी देखी जा ही है। ऐसे में कई लोगों ने अपनो को खो दिया है । इस बीच पूर्व कांग्रेस (Congress) अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul gandhi) ने ऐसे लोगों को अपनी संवेदनाएं व्यक्त की है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul gandhi) ने ट्वीट कर कहा कि, इलाज की कमी के चलते अपने प्रियजन खो रहे देशवासियों को मेरी संवेदनाएँ। इस त्रासदी में आप अकेले नहीं हैं। देश के हर राज्य से प्रार्थना व सहानुभूति आपके साथ है। साथ हैं तो आस है। इसे भी पढ़ें – Corona WorldWide: इस देश के लोगों का हाल भारत से भी बुरा, एक महीने में हुई 1 लाख मौतें  दरअसल कोरोना संक्रमण (Corona infection) की एक लहर में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई है, जिसके कारण लोगों को इलाज तक नहीं मिल पा रहा है, इलाज तो दूर अस्पतालों में लोगों को बेड नहीं मिल पा रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर में कोरोना वायरस (Corona virus) के 3.86 लाख से ज्यादा नए मामले… Continue reading Corona Epidemic में जान गंवाने वालों के प्रति Rahul gandhi ने व्यक्त की संवेदना, कहा- ‘साथ हैं तो आस है’

IFFCO ने निःशुल्क ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए चौथी इकाई को मंजूरी दी

नई दिल्ली | देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बना हुआ है और कोरोना मरीजों (Corona Patients) के लिए अस्पतालों (Hospitals) में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी चल रही है ऑक्सीजन (Oxygen) की पूर्ति के लिए आज इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर को ऑपरेटिव (IFFCO) ने राष्ट्र सेवा में अस्पतालों को निःशुल्क ऑक्सीजन (Free Oxygen) उपलब्ध कराने के लिए चौथी इकाई लगाने को मंजूरी दे दी है। इफको (IFFCO) के प्रबंध निदेशक यू एस अवस्थी (U S Awasthi) ने आज ट्वीट कर कहा कि मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन की मांग को पूरा करने के लिए ओडिशा के पारादीप में चौथा ऑक्सीजन संयंत्र लगाने का आदेश दिया गया है। आपको बता दें की इससे पहले तीन ऑक्सीजन संयंत्र (Oxygen Plant) लगाने को स्वीकृति दी गई थी। इसे भी पढ़ें – Vaccination : दिल्ली के पास कोरोना वैक्सीन ख़त्म, सरकार ने वैक्सीन निर्माता कंपनियों से और वैक्सीन देने का अनुरोध किया पारादीप संयंत्र की उत्पादन क्षमता 150 घन मीटर प्रति घंटा होगी। इसमें 15 जून तक उत्पादन शुरु हो जाने की संभावना है। इससे अस्पतालों को निःशुल्क ऑक्सीजन (Free Oxygen) उपलब्ध कराया जाएगा। इसे भी पढ़ें – Corona virus : पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दी कोरोना को मात, AIIMS से मिली छुट्टी

Delhi High Court ने केंद्र से पूछा- मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र को मांग से ज्यादा ऑक्सीजन तो दिल्ली को कम क्यों?

नई दिल्ली | कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के बीच ऑक्सीजन (Oxygen) को लेकर खींचतान चल रही है अस्पतालों में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी चल रही है ऑक्सीजन (Oxygen) को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) ने केंद्र सरकार (Central Government) से आज पूछा कि मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र को मांग से ज्यादा ऑक्सीजन (Oxygen) क्यों मिल रही है जबकि दिल्ली (Delhi) का आवंटन आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) की सरकार के आग्रह के हिसाब से बढ़ाया नहीं गया है। न्यायमू्र्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति रेखा पल्ली की पीठ ने केंद्र से यह सवाल पूछा। पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) को या तो इससे उचित ठहराना होगा या अब जब स्थिति उसके सामने आई है तो इसमें ‘सुधार’ करना होगा। इसे भी पढ़ें – Corona Crisis:  ब्रिटेन ने कहा हमारे हालात ऐसे नहीं कि भारत को भेज सकें कोरोना की वैक्सीन सॉलीसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि केंद्र सरकार अदालत के सवाल पर जवाब देगी और मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र को अधिक ऑक्सीज (Oxygen) देने का कारण बताएगी। मेहता ने कहा, “ऐसे राज्य हैं जिन्हें मांग से कम आपूर्ति की गई है। हम इसकी तर्कसंगत व्याख्या करेंगे। वरिष्ठ अधिवक्ता राहुल मेहरा ने अदालत… Continue reading Delhi High Court ने केंद्र से पूछा- मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र को मांग से ज्यादा ऑक्सीजन तो दिल्ली को कम क्यों?

दिल्ली में फ्रांस से आएगा ऑक्सीजन संयंत्र

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और ऑक्सीजन की किल्लत से निपटने के लिए दिल्ल सरकार फ्रांस से ऑक्सीजन संयंत्र का आयात करेगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार थाइलैंड से 18 क्रायोजेनिक टैंकर भी आयात करने जा रही है। फ्रांस से तुरंत इस्तेमाल में लाए जाने वाले 21 ऑक्सीजन संयंत्र दिल्ली लाए जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि पिछले सप्ताह हुई ऑक्सीजन की कमी की भरपाई कर ली गई है और बीते दो दिन में हालात में काफी सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि टैंकरों की कमी के चलते दिल्ली सरकार केंद्र की ओर से तय ऑक्सीजन के कोटे की ढुलाई में मुश्किलों का सामना कर रही थी। केजरीवाल ने ऑनलाइन ब्रीफिंग के दौरान कहा कि दिल्ली सरकार एक महीने में विभिन्न अस्पतालों में 44 ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित करेगी, जिनमें से 21 संयंत्र फ्रांस के आयात किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार 30 अप्रैल तक आठ ऑक्सीजन संयंत्र लगाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से बैंकॉक से ऑक्सीजन टैंकर लाने के लिए वायु सेना के विमान उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है। बुधवार से टैंकर दिल्ली आने शुरू हो जाएंगे। केजरीवाल ने कहा- हमारी उनके… Continue reading दिल्ली में फ्रांस से आएगा ऑक्सीजन संयंत्र

कई राज्यों में अब भी ऑक्सीजन की कमी

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भले दावा किया है कि देश में ऑक्सीजन की कमी नहीं है, लेकिन हकीकत यह है कि देश के कई हिस्सों में ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मौत हो रही है। मंगलवार को मध्य प्रदेश के एक अस्पताल में तीन मरीजों की मौत हो गई तो उत्तर प्रदेश के आगरा में सोमवार से लेकर मंगलवार तक 11 मरीजों की मौत हो गई। इससे पहले एक दिन में आगरा में इतने कोरोना संक्रमितों की मौत नहीं हुई थी। कई मरीजों के परिजनों ने आरोप लगाया कि ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई है। उधर बिहार की राजधानी पटना के दो बड़े अस्पतालों- पीएमसीएच और एनएमसीएच में ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मौत का सिलसिला जारी है। ध्यान रहे कुछ दिन पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया था कि राज्य में न तो ऑक्सीजन की कमी है और न दवाइयों की और न अस्पतालों में बेड्स की कमी है। लेकिन खबर है कि सोमवार की रात से लेकर मंगलवार की सुबह तक आगरा के पारस अस्पताल में तो आठ मरीजों की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई। तीन मरीजों ने दूसरे अस्पताल में दम तोड़ा। आगरा के कई निजी… Continue reading कई राज्यों में अब भी ऑक्सीजन की कमी

70 टन Oxygen लेकर दिल्ली पहुंची ऑक्सीजन एक्सप्रेस, कई अस्पतालों में होगी सप्लाई

नई दिल्ली | देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बना हुआ है कोरोना (Corona) मरोजों के लिए ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी बनी हुई है दिल्ली के लिए करीब 70 टन जीवनदायिनी ऑक्सीजन (Oxygen) के साथ पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन (Oxygen Express Train) आज सुबह दिल्ली पहुंच गई। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस ऑक्सीजन (Oxygen) को अब दिल्ली सरकार (delhi government) के विभिन्न अस्पतालों को पहुंचाया जायेगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया, दिल्ली में मरीजों के लिए ऑक्सीजन के साथ छत्तीसगढ़ के रायगढ़ से ऑक्सीजन एक्सप्रेस (Oxygen Express) दिल्ली (Delhi) पहुंच गयी है। भारतीय रेल कोविड-19 के खिलाफ हमारी जंग में कोई कसर नहीं छोड़ेगी और देश भर में जीवनदायिनी संसाधनों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। इसे भी पढ़ें – India COVID 19 Update : कोरोना बना लोगों का काल! देश में बीते 24 घंटे में 2771 की मौत, नए मामले 3 लाख के पार इससे पहले रेलवे ने कहा था कि उसने अंगुल, कलिंगनगर, राउरकेला और रायगढ़ से दिल्ली एवं एनसीआर क्षेत्र के लिए चिकित्सकीय ऑक्सीजन पहुंचाने की योजना तैयार की है। हालांकि राष्ट्रीय राजधानी में ऐसी दूसरी ट्रेन के पहुंचने की कोई सूचना नहीं है। इसे भी पढ़ें – पूर्व पीएम Vajpayee की… Continue reading 70 टन Oxygen लेकर दिल्ली पहुंची ऑक्सीजन एक्सप्रेस, कई अस्पतालों में होगी सप्लाई

Corona Epidemic : Oxygen नहीं मिली तो पति को मुंह से सांस देती रही महिला, फिर भी नहीं बचा जा सकी जान

आगरा | कोरोना महामारी का प्रकोप सभी जगह फैला हुआ है और कोरोना Corona के मामलें लगातार बढ़ते ही जा रहे है कोरोना तेजी से सभी राज्यों में बढ़ता जा रहा है कोरोना Corona को लेकर आगरा में एक मामला सामने आया है सांस लेने में तकलीफ से जूझ रहे अपने पति को लेकर तीन-चार अस्पतालों के चक्कर काटने के बाद रेणू सिंघल एक ऑटो रिक्शा से एक सरकारी अस्पताल (Government Hospital) पहुंची और उन्होंने अपने पति को मुंह से भी सांस देने की कोशिश की लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शहर के आवास विकास सेक्टर सात की रहने वाली रेणू सिंघल अपने पति रवि सिंघल (47) को सरोजिनी नायडू मेडिकल कॉलेज (SNMC) एंड हॉस्पिटल लेकर आई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उसके पति को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी और उसे बचाने की जुगत में रेणू ने उसे अपने मुंह से भी सांस देने की कोशिश की। रेणू को एंबुलेंस भी उपलब्ध नहीं हो पाई। इसे भी पढ़ें – Covishield Price : गैरो पे करम अपनों पे सितम..भारत में बनी कोविशील्ड भारत में ही सबसे महंगी एसएनएमसी (SNMC) के डॉक्टरों ने रवि को मृत घोषित कर दिया। इससे पहले तीन-चार निजी अस्पतालों ने रेणू… Continue reading Corona Epidemic : Oxygen नहीं मिली तो पति को मुंह से सांस देती रही महिला, फिर भी नहीं बचा जा सकी जान

Haryana : पानीपत से सिरसा के लिए निकला Oxygen Tanker हुआ लापता, मामला दर्ज

चंडीगढ़ | देश में कोरोना (Corona) का कहर बढ़ता ही जा रहा है और ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी को लेकर मरीजों की मौतें की संख्या बढ़ती जा रही है अस्पतालों में ऑक्सीजन (Oxygen) को लेकर खलबली मची हुई है हरियाणा (Haryana) के पानीपत (Panipat) से तरल ऑक्सीजन (Oxygen) लेकर सिरसा (Sirsa) के लिए चला एक टैंकर गायब हो गया जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। पानीपत पुलिस (Panipat Police) ने आज कहा कि जिला औषध नियंत्रक की शिकायत पर एक मामला दर्ज किया गया है। पानीपत (Panipat) के मतलौदा थाने के प्रभारी मंजीत सिंह ने कहा कि बुधवार को पानीपत संयंत्र से तरल ऑक्सीजन (Oxygen) भरवाने के बाद टैंकर सिरसा के लिये रवाना हुआ था, लेकिन वह अपने गंतव्य तक नहीं पहुंचा। उन्होंने कहा, हम मामले की जांच कर रहे हैं। इसे भी पढ़ें – कोरोना के बढ़ते मामलो को देखते हुए बाबा नित्यानंद ने अपने देश कैलासा आने पर भारत के यात्रियों पर लगाई रोक कोरोना (Corona) वायरस संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी के कारण चिकित्सीय ऑक्सीजन (Oxygen) की मांग में भी वृद्धि हुई है। एक अन्य घटना में बुधवार को हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने आरोप लगाया था कि अस्पतालों में भर्ती… Continue reading Haryana : पानीपत से सिरसा के लिए निकला Oxygen Tanker हुआ लापता, मामला दर्ज

राजस्थान : राज्यपाल कलराज मिश्र ने उद्योगपतियों और फैक्ट्री मालिकों से श्रमिकों के प्रति मानवीय व्यवहार रखने की अपील की..

पिछले लॉकडाउन में श्रमिकों और मजदूरों की हालत और हालात दोनो ही  बहुत खराब हो गये थे। सड़कों पर मीलों चलते मजदूर और फैक्ट्रियों के बाहर भूख की हालत में रोटी तलाशते मजदूर..वो दृश्य इस देश को और देशवासियों को भूलने में बहुत समय लगेगा। और अब जबकि कोरोना की दूसरी लहर दूसरी तबाही का मंजर लिये सामने खड़ी है। ऐसे में सबको डर है कि वह जख्म वापस हरे ना हो जाए। क्योंकि कोविड का इलाज तो अस्पतालों में मौजूद डॉक्टर कर लेंगे। लेकिन इन मजदूरों और श्रमिकों के ज़ख्मों का इलाज किसी डॉक्टर के पास नहीं होगा। ऐसे में राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने इस पर चिंता जताते हुए उद्योगपतियों और फैक्ट्री मालिकों से अनुरोध किया है कि वे श्रमिकों के प्रति मानवीय व्यवहार रखें। उन्होंने कहा कि कोविड से बचाव नियमों की पालना के साथ रोजगार से जुड़ी गतिविधियां बाधित नहीं हों, श्रमिकों का पलायन नहीं हो, किसानों को किसी प्रकार की तकलीफ नहीं हो, इसका भी सभी स्तरों पर विशेष रूप से ध्यान रखा जाए। इसे भी पढ़ें Corona in MP : मजदूरों की घर वापसी से कोरोना बढ़ने का खतरा, गांवों में बनाए जा रहे Quarantine Center राज्यपाल ने कोरोना से बचाव के निर्देश दिए… Continue reading राजस्थान : राज्यपाल कलराज मिश्र ने उद्योगपतियों और फैक्ट्री मालिकों से श्रमिकों के प्रति मानवीय व्यवहार रखने की अपील की..

कोरोना अपडेट : 18 से वर्ष से अधिक लोग कोविन ऐप से करवा सकेंगे रजिस्ट्रेशन, पीएम ने कहा- कोरोना से लड़ाई में वैक्सीनेशन सबसे बड़ा हथियार

पूरे देश में कोरोना ने हाहाकार मचा रखी है। एक दिन में कोरोना के 3 लाख से अधिक मामले सामने आ रहे है। और 2 हजार लोग अपनी जान गवां रहे है। भारत में कोरोना का टीकाकरण चरम पर है। केंद्र और राज्य सरकार जनता से टीका लगवाने की अपील कर रही है। भारत में दो वैक्सीन का टीकाकरण किया जा रहा है। जो भारत में ही बनी है। 1 मई से वैक्सीनेशन के तीसरे चरण के तहत 18 साल से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है। इसके लिए गुरुवार को घोषणा की गई है कि 18 से अधिक आयु का हर शख्स अब कोरोनावैक्सीन के लिए शनिवार से कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन करवा सकेगा। इसे भी पढ़ें राजस्थान: CM Ashok Gehlot ने की ‘Free Vaccination’ की मांग, कहा- युवाओं से पैसे लेना उचित नहीं पीएम मोदी ने की घोषणा हाल ही में पीएम मोदी ने घोषणा की है कि 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन 1 मई से लगेगी। यह टीकाकरण का तीसरा चरण होगा। भारत में 16 जनवरी से कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। इसी के साथ ही भारत में चिकित्सा सेवाओं की हालत खराब है। ऑक्सीजन की किल्ल्त पूरे… Continue reading कोरोना अपडेट : 18 से वर्ष से अधिक लोग कोविन ऐप से करवा सकेंगे रजिस्ट्रेशन, पीएम ने कहा- कोरोना से लड़ाई में वैक्सीनेशन सबसे बड़ा हथियार

सावधान! तबाही ना मचा दे covid की  Triple mutation strain, यहाँ आ चुकी है भारत में..

भारत में कोरोना वायरस(corona virus) ने आतंक मचा रखा है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। जिससे एक दिन में करीब 3 लाख मामले दर्ज हो रहे है। और 2 हजार मौते हो रही है। विशेषज्ञों (expert) के अनुसार कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर से कई गुना खतरनाक है। इसी बीच एक रिपोर्ट के मुताबिक(according to a report) भारत के कुछ हिस्सों में ‘ट्रिपल म्यूटेशन स्ट्रेन(Triple mutation strain) पाया गया है। भारत के साथ ही ये ट्रिपल म्यूटेशन स्ट्रेन अमेरिका, स्विट्जरलैंड, सिंगापुर और फिनलैंड में भी पाया गया है। और देश का हेल्थ सिस्टम(health system) जर्जर होता जा रहा है। देश के अधिकांश अस्पतालों(hospital) में चिकित्सा सेवाएं बहाल(resumed) करने की जरूरत है। ऑक्सीजन(oxygen) की कमी तो देश के लगभग सभी अस्पतालों में है। वहीं बैड और दवाओं की भी लगातार कमी हो रही है। विशेषज्ञों का कहना है कि इससे पहले ये वायरस तबाही मचाये इसे रोकना होगा। देश में सभी लोगों को सतर्क(alert) रहना होगा। इसे भी पढ़ें दर्दनाक : तीन दिन से मृत पड़ी थी कोरोना पाॅजिटिव महिला! शव को खा रहे थे जानवर क्या है वायरस का म्यूटेशन म्यूटेशन (mutation) तब होता है जब वायरस अपना रूप बदलता है और जितना वो म्यूटेट (mutation)होता… Continue reading सावधान! तबाही ना मचा दे covid की Triple mutation strain, यहाँ आ चुकी है भारत में..

कोरोना अपडेट : मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली के एम्स में निकली भर्ती, सीधे इंटरव्यु से होगा सेलेक्शन

कोरोना वायरस का संक्रमण पुरे देश में बढ़ता ही जा रहा है। मरीजों की बढ़ती संख्या के सामने डॉक्टरों की संख्या कम हो रही है। ऐसे में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), नई दिल्ली में वैकेंसी निकाली गई है। दरअसल एम्स सीनियर रेजिडेंट्स, सीनियर डेमोंस्ट्रेटर के रिक्त पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों की तलाश कर रहा है। जुलाई के लिए नियमित चयन होने तक ADHOC आधार पर भारतीय  सीनियर रेजिडेंट्स, सीनियर डेमोंस्ट्रेटर  के पद पर तत्काल भर्ती की जानी है। इसके तहत कुल 33 विभागों में 180 भर्तियां की जाएंगी। अस्पतालों में दवाइयों, बैड,ऑक्सीजन की किल्ल्त देखी जा रही है। यह भर्तियां सीधे इंटरव्यु से होगी। इसे भी पढ़ें Oppo 7 मई को भारत में लॉन्च करेगा अपना E-Store, खरीदारों के लिए रोमांचक प्रस्ताव होगा आवेदन की तारीख आवेदन करने की आखिरी तारीख- 27 अप्रैल 2021 इंटरव्यू की तारीख और समय (ऑनलाइन ऑफ़लाइन)- 28 अप्रैल 2021, दोपहर 2 बजे इन विभागों में निकाली भर्ती एनेस्थिसियोलॉजी पेन चिकित्सा और क्रिटिकल केयर, एनेस्थिसियोलॉजी (IRCH), प्रशामक चिकित्सा (IRCH, NCI, JHAJJAR), कार्डिएक एनैस्थिसियोलॉजी, न्यूरो एनेस्थेसियोलॉजी, रेडियो-निदान, कार्डियोवस्कुलर रेडियोलॉजी और एंडोवस्कुलर इंटरवेंशन, न्यूरोइमेजिंग और इंटरवेंशनल न्यूरो-रेडियोलॉजी, रेडियोथेरेपी, बाल चिकित्सा सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, फोरेंसिक मेडिसिन सहित कुल 33 विभागों में भर्ती की जानी है। उम्मीदवारों को जमा… Continue reading कोरोना अपडेट : मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिल्ली के एम्स में निकली भर्ती, सीधे इंटरव्यु से होगा सेलेक्शन

किसानों की हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों से मिलेंगे अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज दिल्ली के दो अस्पतालों का दौरा करेंगे जहां किसान गणतंत्र परेड के दौरान हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है।

और लोड करें